ताज़ा खबर
 

ISL 2017, Kerala Blasters vs ATK: बगैर किसी गोल के समाप्त हुआ पहला मैच

ISL 2017: एटीके ने ब्लास्टर्स के खिलाफ 11 गोल किए हैं और दो बार फाइनल में उन्हें हराते हुए खिताब जीतने से महरूम रखा है।

एटीके मुकाबले में विपक्षी टीम पर भारी पड़ सकता है।

मेजबान केरला ब्लास्टर्स एफसी ने शुक्रवार को जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के चौथे सीजन के उद्घाटन मुकाबले में मौजूदा चैम्पियन एटीके को गोलरहित बराबरी पर रोक दिया। इसी मैदान पर पिछले सीजन में एटीके ने केरला को पेनल्टी शूटआउट में 4-3 से मात देते हुए दूसरी बार आईएसएल का खिताब अपने नाम किया था। हालांकि उस मैच में निर्धारित समय की समाप्ति तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं।

लीग की दो दिग्गज टीमों के बीच आक्रामक मैच की उम्मीद थी और ऐसा ही देखने को मिला। हालांकि एटीके मेजबान टीम से ज्यादा आक्रामक दिखी और उसने अधिकतर समय गेंद अपने पास रखी। दोनों टीमों ने मौके तो बनाए, लेकिन उन्हें अंजाम तक पहुंचाने में असफल रहीं। इस मैच से पहले आंकड़े एटीके के पक्ष में थे क्योंकि दो बार की विजेता के खिलाफ येलो आर्मी आठ मैचों में सिर्फ एक बार ही जीती थी। इस कारण उस पर दबाव था, लेकिन 50,000 से अधिक प्रशंसकों के बीच खेलते हुए केरला ने उम्दा शुरुआत की और एटीके को बराबरी पर रोक कर अंक बांटने को मजबूर किया।

हजारों की तादाद में केरला के प्रशंसकों की मौजूदगी में एटीके की टीम बाहरी दबाव में नहीं आई और उसने दूसरे मिनट में ही केरला के बॉक्स में धावा बोला, लेकिन मेजबान टीम की रक्षापंक्ति ने उन्हें ज्यादा आगे नहीं जाने दिया। जवाब में चौथे मिनट में केरला के डिफेंसिव मिडफील्डर मिलान ओंगनाम ने गोलपोस्ट पर निशान लगाया, लेकिन एटीके के गोलकीपर देबजीत मजूमदार ने उनकी किक को रोक लिया। 14वें मिनट में हितेश शर्मा ने एटीके के लिए एक और मौका बनाया, लेकिन 19 साल के इस मिडफील्डर की किक के बीच केरला के गोलकीपर पॉल राचबुका आ गए।

चार मिनट बाद एटीके को फ्री किक मिली, लेकिन मौजूदा विजेता उसे गोल में नहीं बदल पाई। 44वें मिनट में ब्लास्टर्स के इयान ह्यूम ने दाहिने छोर से बाइसिकिल किक मारने का प्रयास किया, लेकिन वह गेंद पर नियंत्रण खो बैठे। पहले हाफ के अतिरिक्त समय में मिलान ने गोलपोस्ट पर निशाना लगाया, लेकिन उनका शॉट काफी बाहर चला गया।

दूसरे हाफ की शुरुआत केरला ने आक्रामक तरीके से की। सीके विनीथ ने 51वें मिनट में मौका बनाया। करेज पेकुसन ने गेंद शानदार तरीके से विनीथ को पास दी जिन्होंने अपने बाएं पैर से गोलपोस्ट पर निशाना साधा, लेकिन गेंद सीधे गोलकीपर के हाथों में गई। 58वें मिनट में एटीके को कॉर्नर किक मिली जोर्डी फिग्युरेस मोंटेल ने हैडर मारते हुए गेंद को नेट में डालना चाहा, लेकिन राचबुका उनके बीच में आ गए। तकरीबन दस मिनट बाद मेजबान टीम के पेकुसन ने गेंद को अपने पास लिया और अकेले गोलपोस्ट की ओर दौड़ पड़े। वह गोल पोस्ट के करीब थे, लेकिन जोर्डी मोंटेल ने गेंद को उनसे दूर कर दिया।

मैच का सबसे करीबी मौका 71वें मिनट में आया। एटीके के जोस ब्रांको ने दाहिने पैर से गेंद को नेट में डालना चाहा, लेकिन गेंद बार से टकरा के वापस आ गई। तीन मिनट बाद पेकुसन को चोट लगी और वह स्ट्रेचर पर बाहर ले जाए गए। अंत तक दोनों टीमें गोल के लिए संघर्ष करती रहीं, लेकिन दोनों में से किसी को भी सफलता हाथ नहीं लगी और दोनों अंक बांटने पर मजबूर हो गईं।

सीजन का पहला मुकाबला समाप्त हुआ। दोनों टीमें कोई भी गोल दाग नहीं सकी है। आज के गेम में रॉबिन सिंह ने मौके जरूर बनाए मगर टीम उसे भुना नहीं सकी। 

-केरला ब्लास्टर्स ने तीसरा और अंतिम बदलाव किया। 80 मिनट तक भी कोई गोल नहीं हो सका है। खिलाड़ी इस दौरान गोल मिस करते दिखे। काउंटर पर मौके का फायदा नहीं उठ सका है। केरल – 0, एटीके 0

एटीके का शॉट गोल पोस्ट से टकराता हुआ। केरला ब्लास्टर्स का भाग्य ने जबरदस्त साथ दिया। 70 मिनट का खेल हो चुका है। केरला ब्लास्टर्स और एटीके दोनों ही टीमें खाता खोलने में कामयाब नहीं हो सकी है।

-एटीके की ओर से फिलहाल मैदान पर 7 भारतीय खिलाड़ी मौजूद हैं। हालांकि इस टूर्नामेंट के नियमों के मुताबिक हर टीम की ओर से एक बार में न्यूनतम 6 भारतीय खिलाड़ियों का मैदान पर होना अनिवार्य है। केरल – 0, एटीके 0

-ह्यूम के चेहरे पर निराशा साफ तौर पर दिखाई दे रही है। एटीके के खिलाफ विपक्षी गोलकीपर पर दबाव डालते हुए मगर खाता खोलने में नाकाम। एटीके के लिए रॉबिन सिंह को मैदान पर लाया जा रहा है। एटीके 0, केरल – 0

-केरला ब्लास्टर्स को फाउल मिला। जल्द एटीके के पक्ष में फाउल गया। दोनों टीमें अभी तक खासा खेल नहीं दिखा सकी है। ह्यूम ने अभी तक कोई करिश्मा नहीं दिखाया है। खिलाड़ी बेहद दूरे से गोल का प्रयास करते दिख रहे हैं। एटीके 0, केरल – 0

-मैच के 45वें मिनट तक भी कोई टीम गोल नहीं दाग सकी है। पहले हाफ की समाप्ति तक फैंस को निराशा हाथ लगी है। 2 मिनट का एडेड टाइम टीमों को मिला। दोनों टीमें लगातार प्रयास में लगी हुई हैं।

केरला ब्लास्टर्स पर दबाव दिखाई दे रहा है। परेरा लगातार कोशिश करते हुए। एटीके गोल से चूका। पहले हाफ तक दोनों गोलकीपर शानदार खेल दिखाते हुए। पहले 33 मिनट तक दोनों टीमें गोल नहीं कर सकी हैं।

-थॉप और देवजीत के बीच तालमेल ना होने के चलते टीम गोल नहीं दाग सकी। ह्यूम ने अभी तक टीम को काफी निराश किया है। इस दौरान ह्यून चोटिल होकर तकलीफ में दिख रहे हैं। दोनों टीमें पहले गोल की तलाश में। एटीके 0, केरल – 0 (मिनट- 22:00)

-मैनचेस्टर युनाइटेड के इतिहास से निकले दो कोचों की टीमों के बीच का यह रोमांचक मुकाबला चल रहा है, जिसमें आईएसएल की दो मजबूत टीमों के बीच चिर-परिचति प्रतिद्वंद्विता एक बार फिर जगजाहिर हो रही है। केरल – 0, एटीके 0,  मिनट- 13:30

-केरला ब्लास्टर्स के खिलाड़ी गेंद को छीनने के लिए लगातार प्रयासरत हैं। वहीं विनीत ने शानदार प्रेशर बनाकर एटीके के हाथों से गोल का चांस फिलहाल टाल दिया है। गेंद फिर से केरल के पास। केरल – 0, एटीके 0,  मिनट- 10:00

-मैच शुरू हो चुका है। दोनों टीमें पासिंग कॉम्बिनेशन बनाने की लगातार कोशिश कर रही हैं। केरला ब्लास्टर्स ने पहले दो मिनट तक मामला अपने पक्ष में कर रखा है। कोलकाता भी जल्द से जल्द पहले गोल की तलाश में है। केरल – 0, एटीके 0,  मिनट- 2:30

-मैदान पर राष्ट्रगान बजता हुआ। सभी फैंस अपनी-अपनी जगहों पर खड़े हैं। दोनों टीमों का मैच देखने के लिए भारी संख्या में दर्शक स्टेडियम में मौजूद हैं। ये दिखाता है कि इस खेल के लिए भी देश में कितना जुनून है।

-ब्लास्टर्स ने पिछले सीजन में अपने घर में लगातार छह मैच जीते थे वहीं एटीके ने लगातार चार मैच जीते थे- एटीके इकलौती ऐसी टीम है जिसने ब्लास्टर्स को कोच्चि में मात दी थी जो उनका यादगार सीजन था।

-फिलहाल ओपनिंग सेरेमनी जारी है, जिसे बॉलीवुड स्टार सलमान खान प्रस्तुत कर रहे हैं। शुक्रवार को होने वाले मैच में रेने की चुनौती खिलाड़ियों को यह एहसास दिलाने की है कि यह फुटबाल का खेल है और इस मैच में रिकार्ड जल्दी से बदलते हैं।

एटीके मैच में किस मानसिकता के साथ उतरेगा इस बारे में उन्होंने अपने पत्ते नहीं खोले हैं। शेरिंघम ने बताया कि उन्होंने केरला के खिलाफ अपनी टीम को खेलने के लिए पूरी तरह से तैयार किया है।

-मिडफील्ड एटीके के पास इयुगेंसेन ल्यांगदोह और जयेश राणे हैं जो शानदार खिलाड़ी हैं और गेंद को पास करने में माहिर हैं। शेरिंघम ने कहा, “हमने अपने डिफेंसिव खेल पर काफी काम किया है।”

-एटीके के लिए इस तरह का माहौल नहीं है। वह पहले मैच में अपने स्टार खिलाड़ी रोबी कीन के बिना उतरेगी। इस बात की चिंता मुख्य कोच टेडी शेरिंघम को नहीं है। मैनचेस्टर युनाइटेड के पूर्व स्ट्राइकर के पास गोल करने वाले कई खिलाड़ी हैं, जिनमें से एक रॉबिन सिंह हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App