ताज़ा खबर
 

ISL 2017, FC पुणे सिटी vs मुंबई सिटी FC: पुणे ने मुंबई को 2-1 से हराया

ISL 2017 Football: मुंबई को हाल ही में अपने घर में खेलने का मौका नहीं मिलेगा क्योंकि उसे अगला मैच केरला ब्लास्टर्स के खिलाफ उसके घर कोच्चि में खेलना है।

उरुग्वे के स्ट्राइकर इमिलियानो अल्फारो के दो गोलों के दम पर हार की कगार पर खड़ी एफसी पुणे सिटी ने बुधवार को श्री शिव छत्रपति स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स स्टेडियम में खेले गए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के चौथे सीजन के मैच में शानदार वापसी करते हुए मुंबई सिटी एफसी को 2-1 से हरा दिया। अल्फारो ने 74वें मिनट में पेनाल्टी को गोल में बदलते हुए पुणे की बराबरी करा दी थी और फिर इंजुरी टाइम में विजयी गोल दागते हुए मुंबई को हार के लिए मजबूर कर दिया।

उन्होंने पहला गोल कर मुश्किल हालात में फंसी अपनी टीम को उबारा था। इसके बाद लगा था कि 15वें मिनट में गोल खाने वाली पुणे की टीम कम से कम बराबरी करते हुए मुंबई को अंक बांटने पर मजबूर कर देगी, लेकिन दिल्ली डायनामोज के खिलाफ बीते मैच में दो गोल करने वाले अल्फारो ने एक बार फिर अपना ‘क्लास’ दिखाया और डिएगो कार्लोस द्वारा दाहिने छोर से बॉक्स एरिया में दिए गए तेजतर्रार पास पर झन्नाटेदार गोल करते हुए अपनी टीम को शानदार जीत दिला दी।

पुणे की टीम इस जीत से हासिल तीन अंकों की मदद से छह अंकों के साथ 10 टीमों की तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंच गई है जबकि मुंबई की टीम छठे स्थान पर बनी हुई है। इस मैच से पहले भी वह छठे स्थान पर थी। बेंगलुरू शीर्ष पर काबिज है। दूसरी ओर, पूरे मैच में संतुलित खेल दिखाने वाले मुंबई की टीम के लिए एकमात्र गोल बलवंत ने सहनाज सिंह के पास पर 15वें मिनट में किया। मुंबई ने इसके बाद अल्फारो और मार्सेलिन्हो की खतरनाक जोड़ी को रोके रखते हुए अपनी बढ़त को दो गुनी करने की कोशिश की, लेकिन उसे भी सफलता हाथ नहीं लगी।

रोजारियो ने 74वें मिनट में टैकल करने के प्रयास में बॉक्स के अंदर गेंद के साथ पहुंचे कार्लोस को गिरा दिया था, जिस पर रेफरी ने पेनाल्टी दी और इस मौके को अल्फारो ने खाली नहीं जाने दिया। पहले गोल के बाद पुणे की टीम चढ़कर खेली जबकि मुंबई की टीम थोड़ी सुस्त नजर आई और इसी का फायदा उठाकर मेजबान टीम ने विजयी गोल दाग दिया।

मैच के शुरुआती मिनटों से ही मुंबई सिटी एफसी मेजबान टीम पर हावी थी। उसने कुछ मौके बनाए थे और गोल करने की कोशिशें की थी। हालांकि कई बार खराब फीनिशिंग और कुछ दफा पुणे की रक्षापंक्ति ने उसके प्रयासों को नाकाम कर दिया लेकिन मेजबान पर लगातार दबाव बना रही मुंबई को जल्द ही सफलता मिली। 15वें मिनट में सहनाज सिंह ने बलवंत सिंह की सहायता से गोल कर दिया। सेहनाज की गेंद को लेकर बलंवत अकेले आगे बढ़े और बाईं ओर से बुलेट की तरह शॉट गोलपोस्ट के निचले हिस्से में दाग अपनी टीम को 1-0 से आगे कर दिया।

22वें मिनट में मार्सेलिन्हो ने बॉक्स के कोने से शॉट लिया जो दूर चला गया। चार मिनट बाद मार्सेलिन्हो के एक और प्रयास को मुंबई के कप्तान लूसियन गोइयन ने रोक दिया। मार्सेलिन्हो गोलपोस्ट पर निशाना साधाने ही वाले थे कि लूसियन ने स्लाइड मारकर उन्हें रोक दिया। दूसरे हाफ में भी मेजबान टीम ने पहले हाफ की गलतियां दोहराईं और मिले हुए मौकों को अंजाम तक नहीं पहुंचा सकी। 54वें मिनट में अल्फारो आधे मौके को भुना नहीं पाए और लूसियानो उनसे मौका छीन कर ले गए। 58वें मिनट में मिली फ्री किक को मार्सेलिन्हो और अल्फारो की जोड़ी गोल में तब्दील नहीं कर पाई।

तमाम प्रयास करने के बाद पुणे ने आखिरकार बराबरी का गोल पेनाल्टी पर किया और हार को टाल दिया। यहां से मैच के बराबरी पर खत्म होने की उम्मीद लग रही थी, लेकिन जोश से भरी पुणे ने आखिर कार दूसरे हाफ के इंजुरी टाइम में कार्लोस और अल्फारो की जोड़ी के दम पर दूसरा गोल करते हुए अपने प्रशंसकों को झूमने का मौका दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App