शादी से पहले पत्नी ने दो साल तक एक्सेप्ट नहीं की थी इशांत शर्मा की फ्रेंड रिक्वेस्ट, एेसे परवान चढ़ा था इश्क

प्रतिमा और इशांत की शादी पिछले साल दिसंबर में हुई थी।

क्रिकेटर युवराज सिंह, इशांत शर्मा और उनकी पत्नी प्रतिमा सिंह।

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज इशांत शर्मा की स्विंग गेंदों पर बड़े-बड़े बल्लेबाज भी गच्चा खा जाते हैं। फिलहाल वह टीम से बाहर चल रहे हैं, लेकिन उनकी विकेट लेने की क्षमता पर किसी को शक नहीं है। लेकिन आज भी फैन्स उनकी निजी जिंदगी के बारे में ज्यादा नहीं जानते। ज्यादातर को सिर्फ यही मालूम है कि उन्होंने बास्केटबॉल खिलाड़ी प्रतिमा सिंह से शादी की है। प्रतिमा और इशांत की शादी पिछले साल दिसंबर में हुई थी। आप सोच रहे होंगे क्रिकेट और बास्केटबॉल दोनों ही बहुत अलग खेल हैं। फिर इशांत और प्रतिमा की मुलाकात कैसे हुई? इसका खुलासा इशांत ने एक शो पर किया। विक्रम सताये के शो ‘वॉट द डक’ में पहुंचे इशांत ने बताया कि हम दोनों के लिए यह पहली नजर का प्यार नहीं था। उनके दोस्त ने एक बास्केटबॉल टूर्नामेंट का आयोजन कराया था, जहां दोनों पहली बार मिले थे। इस टूर्नामेंट में चोट के कारण प्रतिमा हिस्सा नहीं ले पाई थीं, लिहाजा उन्हें स्कोर अपडेट करने का काम दिया गया था। इशांत इस टूर्नामेंट में चीफ गेस्ट थे। इसी दौरान उन्होंने पहली बार प्रतिमा को देखा था। इशांत को उस वक्त यह नहीं पता था कि वह खुद एक बास्केटबॉल प्लेयर हैं। उन्होंने मजाक में अपने दोस्त से कहा कि यहां की स्कोरर काफी खूबसूरत हैं, वैसी नहीं जैसी क्रिकेट ग्राउंड पर होती हैं। क्रिकेट में अकसर वरिष्ठ सदस्य ही लोकल टूर्नामेंट्स में स्कोरर की भूमिका निभाते हैं।

इसके बाद इशांत के दोस्त ने उन्हें प्रतिमा की चोट और उनके बास्केटबॉल खिलाड़ी होने के बारे में बताया। इशांत ने उनसे बात करने की कोशिश की, लेकिन इसमें काफी वक्त लगा। 28 साल के इशांत ने बताया कि प्रतिमा ने दो साल इंतजार कराने के बाद उनकी फ्रेंड रिक्वेस्ट फेसबुक पर एक्सेप्ट की थी। दोनों जिस चीज पर अकसर बहस करते थे वह थी कि क्रिकेट और बास्केटबॉल में से कौन सा खेल ज्यादा मुश्किल है। एक तरफ जहां इशांत कहते थे कि क्रिकेट ज्यादा मुश्किल है, क्योंकि इसमें खासकर तेज गेंदबाजों को ज्यादा शारीरिक श्रम करना पड़ता है।

इशांत ने शो में बताया, “मैंने कहा कि बॉस्केटबॉल में आपको भागना है जंप करना है और बास्केट मारनी है। तो उन्होंने कहा तो बॉलिंग में क्या है, भागना है टेढ़ा होना और बॉल फेंकनी है। मैंने कहा कि बॉलिंग बायोमैकेनिकल सबसे कठिन चीज होती है, जो आपके शरीर के लिए बनी ही नहीं है। आप भागते हो, रुकते हो, पैर पर लोड आता है और शरीर को मोड़ते हो और फिर और बॉल फेंकते हो। तो आप सोचिए कि इसमें कितनी चीजें आपके शरीर के हिसाब से हैं जो होती हैं। हमारा शरीर भागने के लिए बना है। हम भागेंगे, जंप करेंगे और बास्केट मारेंगे। इस पर मेरी पत्नी ने कहा कि मारकर देखो। मैं उसके साथ एकबार खेलने के लिए गया था। उसने मुझे भागते- भागते कोहनी मारी। अपने हाथ में लगे कोहनी के निशान को दिखाते हुए ईशांत ने कहा, उसने जानबूझकर नहीं मारी थी। मैंने कहा कि ये फाउल है तो उसने कहा कि हम तो ऐसे ही खेलते हैं।”

देखें वीडियो :

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट