VIDEO: ‘ग्रेग चैपल ने नहीं किया मेरा करियर खराब, असली दोषी कोई और’ इरफान पठान का फिर छलका दर्द

इरफान पठान ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय को लेकर पिछले साल किए गए अपने ट्वीट पर भी बात की। भारत के लिए 29 टेस्ट और 120 वनडे खेल चुके पठान ने कहा कि वह मन की बात कहने से कभी पीछे नहीं हटेंगे।

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान अपनी बेबाक रखने के लिए जाने जाते हैं। लॉकडाउन के दौरान भी वह अपने बयानों के कारण चर्चा में बने रहे। हाल ही में वह रौनक कपूर के एक यूट्यूब चैनल रौनक कपूर से बातचीत के दौरान कई मुद्दों पर खुलकर बोले। इस दौरान उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि ग्रेग चैपल के कारण उनका करियर बर्बाद नहीं हुआ है, बल्कि असली दोषी दूसरे लोग हैं।

इरफान पठान ने इस दौरान जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय को लेकर पिछले साल किए गए अपने ट्वीट पर भी बात की। भारत के लिए 29 टेस्ट और 120 वनडे खेल चुके पठान ने ट्वीट किया, ‘राजनीतिक आरोप प्रत्यारोप तो चलते रहेंगे लेकिन मैं और हमारा देश जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्रों को लेकर चिंतित है।’ उस ट्वीट के बाद इरफान को काफी आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा था। पठान ने कहा कि वह मन की बात कहने से कभी पीछे नहीं हटेंगे।

इरफान ने कहा, ‘सोशल मीडिया पर आपकी इमेज बनती है, वह तभी बनेगी, जब आप रियल हो। सोशल मीडिया पर प्रभाव रखने वाले व्‍यक्ति के रूप में, जो भारत के लिए खेला और इंटरनेशनल स्‍तर पर झंडे गाड़े हैं। वह इंसान जब बात करता है, तो सोच समझकर बात करता है। भारत के लिए खेला हुआ हमेशा एकता की बात करेगा। मैं हमेशा यूनिटी की बात करता हूं।’

ग्रेग चैपल द्वारा करियर खराब करने की खबरों को लेकर उन्होंने कहा, ‘जो लोग बात करते हैं कि चैपल ने मुझे ऑलराउंडर बनाया। सचिन पाजी ने राहुल भाई को सलाह दी थी कि इरफान को नंबर 3 पर ट्राई करते हैं। इसमें वह ताकत है जो छक्के भी मार सकता है, और नया बॉल भी खेल सकता है। तब श्रीलंका सीरीज में मुझे पहली बार नंबर 3 पर ट्राई किया था, जब मुरलीधरन अपने पीक पर था।’

उन्होंने कहा, ‘जब बात आती है कि उन्होंने मेरा करियर खराब कर दिया तो नहीं ऐसी बात नहीं है। मुझे लगता है कि जो भी डायवर्ट करने वाली चीजें होती हैं। अब जाहिर सी बात है कि वह (ग्रेग चैपल) अपने मुल्क का है नहीं। वह बाहर के मुल्क का है। वह जवाब तो देगा नहीं। तो जाहिर सी बात है कि चलो यार इसको ही पंचिंग बैग बना देते हैं। इसके बारे में ही कहते रहते हैं। जो असली लोग हैं, जिन्होंने वाकई में नुकसान किया है। यार उसके बारे में मैं पर्सनली सिर्फ इतना ही कहूंगा कि हां, जितना मुझको सपोर्ट करना चाहिए था उतना नहीं किया। ऐसा एक बार नहीं कई बार हुआ।’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट