ताज़ा खबर
 

तीन घंटे तक शाहरुख से पूछताछ की ईडी ने

शाहरुख खान से विदेशी मुद्रा कानून के उल्लंघन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ के साथ ही आइपीएल टी-20 टूर्नामेंट में कथित वित्तीय अनियमितताओं..

Author मुंबई | November 13, 2015 1:35 AM
शाहरुख खान (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान से विदेशी मुद्रा कानून के उल्लंघन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ के साथ ही आइपीएल टी-20 टूर्नामेंट में कथित वित्तीय अनियमितताओं के एक प्रमुख मामले में जांच जल्दी पूरी हो सकती है। खान से नाइट राइडर्स स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड (केआरएसपीएल) के शेयरों को मॉरिशस की एक कंपनी को बेचने को लेकर कथित अनियमितता के विशेष आरोप में पूछताछ की गई। केआरएसपीएल की फ्रेंचाइजी का स्वामित्व उनकी कंपनी रेड चिली एंटरटेनमेंट के पास है। सूत्रों ने बताया कि उनसे की गई पूछताछ के बाद एजंसी, दिसंबर या अगले साल के शुरू तक कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) और संबंधित संस्थाओं की जांच में फेमा के तहत अंतिम कारण बताओ नोटिस जारी कर सकती है।

उन्होंने बताया कि हाल की पूछताछ तब हुई जब अभिनेता 10 नवंबर की शाम बेलगार्ड इस्टेट स्थित एजंसी के दफ्तर पहुंचे और विदेशी मुद्रा प्रबंधक अधिनियम (फेमा) के प्रावधानों के तहत जांच कर रहे जांचकर्ताओं के साथ तीन घंटे बिताए। खान से इस बारे में टिप्पणी के लिए संपर्क नहीं हो सका।

यह मामला 2008-2009 का है। इस मामले में, शाहरुख, उनकी मित्र जूही चावला और उनके पति जय मेहता के स्वामित्व वाली केआरएसपीएल के शेयर मॉरिशस स्थित एक कंपनी को बेच दिए गए। मॉरिशस की कंपनी स्वयं मेहता की है।

केंद्रीय एजंसी उन आरोपों की जांच कर रही हैं जिनमें कहा गया है कि मेहता के मालिकाना हक वाली सी आइस्लैंड इनवेस्टमेंट को बेचे गए शेयरों का मूल्य खान की कंपनी ने कथित तौर पर आठ से नौ गुना कम कर दिया था। ईडी इस मामले में पहले 2011 में भी अभिनेता की जांच कर चुकी है जो कोलकाता नाइट राइर्ड्स के व्यापारिक समझौते के अलावा थी। कोलकाता नाइट राइर्ड्स आइपीएल की टीम है जिसके सह मालिक खान हैं।

* केआरएसपीएल के शेयरों को मॉरिशस की एक कंपनी से बेचने को लेकर अनियमितता के विशेष आरोप में की गई पूछताछ।

* फेमा के तहत अंतिम कारण बताओ नोटिस जारी कर सकता है प्रवर्तन निदेशालय।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App