ताज़ा खबर
 

IPL Controversy: जब धोनी के रहते सातवें स्थान पर रही टीम; मालिक ने छीन ली थी कप्तानी, हुआ था बवाल

अजहरुद्दीन ने पुणे सुपरजाएंट्स के मालिकों को आड़े हाथों लेते हुए कहा था, ‘‘जिस तरह से भारत के सबसे सफलतम कप्तान को राईजिंग पुणे सुपर जायंट्स ने अपनी टीम की कप्तानी से हटाया है ये बहुत ही शर्मनाक और घटिया निर्णय है।’’

IPL Controversy, MS Dhoni, ipl 2020, Rising Pune Supergiantsमहेंद्र सिंह धोनी 2016 और 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स के लिए खेले थे। (सोर्स – सोशल मीडिया)

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) का 13वां सीजन 19 सितंबर से यूएई में खेला जाएगा। टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला 10 नवंबर को होगा। अब तक हुए आईपीएल के 12 सीजन में कोई न कोई विवाद जरूर हुआ है। चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को दो साल के लिए दूसरी टीम की ओर से खेलना पड़ा था। सीएसके पर बैन लगने के कारण धोनी 2016-17 सीजन में पुणे सुपरजाएंट्स के लिए खेले थे। 2016 में माही टीम के कप्तान थे, लेकिन 2017 में उन्हें हटा दिया गया था। उनकी जगह ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ कप्तान बने थे।

2016 में जब पहली बार पुणे सुपरजायंट ने धोनी की कप्तानी में आईपीएल खेलने उतरी तो सबको लगा था कि माही का मैजिक यहां भी चलेगा। पुणे की टीम चैंपियन बन सकती है। लेकिन, धोनी की कप्तानी में पुणे बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाया था। वह अंक तालिका में सातवें स्थान पर रहा था। टीम 14 में से सिर्फ 5 मैच ही जीत पाई थी। इसके बाद अगले सीजन में धोनी को कप्तान पद से मुक्त कर दिया गया। खराब प्रदर्शन के बाद टीम ने इरफान पठान, इशांत शर्मा, मुरुगन अश्विन, केविन पीटरसन, थिसारा परेरा, आरपी सिंह, स्कॉट बोलैंड, सौरभ तिवारी, जॉर्ज बेली और एल्बी मॉर्केल जैसे बड़े खिलाड़ियों को टीम से बाहर कर दिया था। पुणे सुपरजाएंट्स फ्रैंचाइजी के मालिक के भाई हर्ष गोयनका ने एक बयान को लेकर धोनी के फैंस के निशाने पर रहे। उन्होंने कहा था कि स्मिथ धोनी से एक कदम आगे की सोचते हैं। इसके बाद माही के फैंस ने उन्हें ट्रोल कर दिया था।

क्रिकेट विशेषज्ञ और कई पूर्व कप्तानों ने उनके बयान की आलोचना की। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने पुणे सुपरजाएंट्स के मालिकों को आड़े हाथों लेते हुए कहा था, ‘‘जिस तरह से भारत के सबसे सफलतम कप्तान को राईजिंग पुणे सुपर जायंट्स ने अपनी टीम की कप्तानी से हटाया है ये बहुत ही शर्मनाक और घटिया निर्णय है। धोनी भारत के वो कप्तान है जिन्होंने अपनी लीडरशीप में भारत को टी-20 विश्वकप के साथ ही वनडे विश्वकप भी जिताया। पुणे सुपरजाएंट्स को ये भी नहीं भुलना चाहिए कि धोनी ने अपनी कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स को एक ही नहीं दो बार चैंपियन बनाया है।’’

अजहर ने कहा था, ‘‘धोनी की कप्तानी में पुणे की टीम पिछले साल अपने पहले आईपीएल में नीचे से सातवें स्थान पर रही थी इसका मतलब ये नहीं हुआ कि टीम की इस दुर्दशा का सारा ठीकरा कप्तान पर फोड़ा जाए। अगर टीम खराब खेले तो एक कप्तान कुछ नहीं कर सकते।’’ धोनी के हटाए जाने के बाद स्मिथ कप्तान बने थे। उनके नेतृत्व में पुणे की टीम 2017 में फाइनल खेली थी। उसे मुंबई के खिलाफ 1 रन से हार का सामना करना पड़ा था। इस हार के बाद भी फैंस ने हर्ष गोयनका को ट्रोल कर दिया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘सचिन के आउट होते ही देवदास देखने चले गए थे मेरे माता-पिता, बेटे की बैटिंग नहीं देखी’, कैफ ने सुनाई नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल की कहानी
2 US OPEN 2020: डोमिनिक थीम ने रचा इतिहास, यूएस ओपन जीतने वाले ऑस्ट्रिया के पहले पुरुष बने; 71 साल में पहली बार ऐसी रोमांचक जीत
3 अनुष्का शर्मा ने शेयर की बेबी बंप वाली तस्वीर, विराट कोहली बोले- एक फ्रेम में मेरी पूरी दुनिया
ये पढ़ा क्या?
X