scorecardresearch

IPL 2022: आप रिंकू सिंह में हीरो ढूंढ रहे थे, ऐसे नहीं चल सकती टीम; भारतीय दिग्गजों ने बताए श्रेयस अय्यर की KKR के बाहर होने के कारण

KKR के कप्तान श्रेयस अय्यर ने इस सीजन 14 मैच में 30.85 के औसत से 401 रन बनाए। वह IPL 2022 में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों में 8वें नंबर पर हैं। इसके बावजूद उनकी टीम प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाई।

IPL 2022 KKR vs LSG Rinku Singh Pragyan Ojha Parthiv Patel Shreyas Iyer Playoff
लखनऊ सुपर जायंट्स ने आईपीएल 2022 के 66वें मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स को 2 रन से हरा दिया। (सोर्स- आईपीएल)

IPL 2022 KKR vs LSG Match Review: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 के 66वें मैच में लखनऊ सुपर जायंट्स (एलएसजी) ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) को 2 रन से हरा दिया। इस हार से केकेआर का आईपीएल 2022 के प्लेऑफ में पहुंचने का सपना टूट गया। केकेआर के कप्तान श्रेयस अय्यर ने इस सीजन 14 मैच में 30.85 के औसत और 134.56 के स्ट्राइक रेट से 401 रन बनाए। वह आईपीएल 2022 में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों में 8वें नंबर पर हैं।

हालांकि, श्रेयस अय्यर का यह प्रदर्शन उनकी टीम को प्लेऑफ में पहुंचाने के लिए नाकाफी रहा। उनकी टीम केकेआर 14 मैच में 12 अंक के साथ छठे नंबर पर रही। मैच के बाद क्रिकबज (Cricbuzz) के शो में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज प्रज्ञान ओझा और पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने शाहरुख खान के सह मालिकाना हक वाली कोलकाता नाइट राइडर्स की हार के कारण बताए।

पार्थिव पटेल ने कहा, ‘देखिए, 400 रन के सीजन को आप यह नहीं कह सकते कि खराब सीजन गया। 400 रन का सीजन एक सफल सीजन के रूप में आता है, लेकिन अहम बात यह है कि उनके आजू-बाजू किसी ने भी रन नहीं बनाए। आप वेंकटेश अय्यर के रन देख लीजिए। आपको बहुत बार बल्लेबाजी क्रम बदलना पड़ा। टीम का विकेटकीपर सेटल्ड नहीं था। उन्होंने ऑक्शन में भी ठीक-ठाक गलतियां की थीं। जिस कारण आपको इस तरह की टीम देखने को मिली।’

उन्होंने कहा, ‘यदि उनके इर्द-गिर्द वाले बढ़िया प्रदर्शन करते तो इन 400 की वैल्यू होती। यह एक ऐसा काम हो रहा था तो जो केएल राहुल का पंजाब किंग्स के साथ हो रहा था। तब वह (केएल राहुल) वहां (पंजाब किंग्स के लिए) अकेले रन बना रहे थे और कोई नहीं बना रहा था।’

केकेआर ने बहुत ज्यादा बदलाव किए के सवाल पर प्रज्ञान ओझा ने कहा, ‘बार-बार इसीलिए चर्चा हो रही है कि कोलकाता के प्लेयर्स रन ढूंढ़ते हुए दिखेंगे। रिंकू सिंह में आप हीरो ढूंढ रहे थे। आप चाह रहे थे कि वेंकटेश अय्यर कुछ कर दें। ओपनिंग की बात करें तो टीम सेटल ही नहीं हुई। इतने सारे इश्यू हैं, उसमें भी आप सोच रहे हैं कि 400 रन जो आपके कप्ताान ने बना दिए, उसके बावजूद आप कह रहे हैं कि शायद और ज्यादा…।’

प्रज्ञान ओझा ने कहा, ‘जो अच्छा कर रहा है उससे ज्यादा उम्मीदें तो होती हैं, लेकिन उसके साथ भी लोग जुड़ेंगे तभी तो कहा जाता है कि यह एक टीम गेम है। टीम गेम में हर कोई प्रेशर बांटता (साझा करता है) है। एक बंदा कितना प्रेशर बर्दाश्त कर सकता है। मुझे लगता है कि बहुत सी चीजें हैं जिन पर उन्हें (केकेआर) काम करना पड़ेगा, क्योंकि इस तरीके से तो टीम चल नहीं सकती। यदि आपको चैंपियनशिप जीतनी है तो आपको स्थायित्व और मजबूती लाना पड़ेगी, नहीं तो फिर ऐसी ही परफॉर्मेंस लगातार दिखेगी।’

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट