IPL 2022: कप्तानी नहीं मिलने के कारण दिल्ली कैपिटल्स छोड़ रहे श्रेयस अय्यर, शुभमन गिल और इयोन मॉर्गन भी नीलामी में उतरेंगे: रिपोर्ट

दो नई फ्रेंचाइजी लखनऊ और अहमदाबाद को एक से 25 दिसंबर तक 3 खिलाड़ियों को चुनने का मौका मिलेगा। जनवरी 2022 में नीलामी होगी। मौजूदा आठ टीम अधिकतम 4 खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती हैं। इनमें तीन से अधिक भारतीय और दो से अधिक विदेशी नहीं हो सकते।

IPL Retention Deadline IPL 2022 Shreyas Iyer Delhi Capitals Shubman Gill Eoin Morgan Suryakumar ishan Kishan Moeen ali Faf du Plessis Siraj Harshal Patel
रिपोर्ट के मुताबिक, मुंबई इंडियंस सूर्यकुमार यादव और अनुभवी कीरोन पोलार्ड को भी टीम रिटेन करना चाहेगी, जबकि हार्दिक पंड्या को नीलामी में दोबारा खरीदने का प्रयास कर सकती है। (सोर्स- ट्विटर/इंडियन प्रीमियर लीग)

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की मौजूदा आठ फ्रेंचाइजी के लिए खिलाड़ियों को रिटेन (अपने साथ बरकरार रखने) करने की समय सीमा मंगलवार यानी 20 नवंबर 2021 को खत्म होगी। ऐसे में कुछ टीम अपने मुख्य खिलाड़ियों को बरकरार रख सकती हैं, जबकि कुछ नीलामी में उतरने वाले खिलाड़ियों से अपनी टीम का कोर बनाने का प्रयास करेंगी।

समय सीमा खत्म होने से पहले पीटीआई की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि श्रेयस अय्यर कप्तानी वापस नहीं मिलने के कारण दिल्ली कैपिटल्स का साथ छोड़ रहे हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि शाहरुख खान के सह मालिकाना हक वाली फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान इयोन मॉर्गन और स्टार ओपनर शुभमन गिल भी रिटेन नहीं किए जाएंगे। उन्हें नीलामी में उतरना पड़ेगा।

अगले साल होनी वाली बड़ी नीलामी से पहले अंतिम लम्हों में अधिकतर टीम अपनी पसंद के खिलाड़ियों को अपने साथ जोड़े रखने के प्रयास कर रही हैं। मौजूदा आठ टीम के रिटेन होने वाले खिलाड़ियों को अंतिम रूप देने के बाद दो नई फ्रेंचाइजी लखनऊ और अहमदाबाद को एक से 25 दिसंबर के बीच तीन खिलाड़ियों को चुनने का मौका मिलेगा। इसके बाद जनवरी 2022 में नीलामी होगी। मौजूदा आठ टीम अधिकतम चार खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती हैं। इनमें तीन से अधिक भारतीय और दो से अधिक विदेशी खिलाड़ी नहीं हो सकते।

दिल्ली कैपिटल्स: फ्रेंचाइजी के कप्तान ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, अक्षर पटेल और दक्षिण अफ्रीका के एनरिच नॉर्खिया को अपने साथ बरकरार रखना लगभग तय है। टीम को हालांकि आर अश्विन और कगिसो रबाडा जैसे लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को छोड़ना होगा। उन्हें टीम नीलामी में खरीदने का प्रयास कर सकती है। कंधे में चोट के बाद वापसी करते हुए दिल्ली की कप्तानी वापस नहीं मिलने के कारण स्टार खिलाड़ी श्रेयस अय्यर टीम को छोड़कर जा रहे हैं।

मुंबई इंडियंस: पांच बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस कप्तान रोहित शर्मा और तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ जसप्रीत बुमराह के आसपास टीम तैयार करेगी। सूर्यकुमार यादव और अनुभवी कीरोन पोलार्ड को भी टीम रिटेन करना चाहेगी। टीम के सामने हालांकि, सूर्यकुमार यादव और इशान किशन में से एक को चुनने की चुनौती हो सकती है। गेंदबाजी नहीं कर पाने के कारण हार्दिक पंड्या पहले जैसे आलराउंडर नहीं हैं, लेकिन टीम उन्हें नीलामी में दोबारा खरीदने का प्रयास कर सकती है।

चेन्नई सुपरकिंग्स: चार बार की चैंपियन सुपरकिंग्स की टीम अपने चार खिलाड़ी लगभग तय कर चुकी है। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और रविंद्र जडेजा का रिटेन होना तय है, जबकि पिछले सीजन में टीम की खिताबी जीत में अहम भूमिका निभाने वाले ऋतुराज गायकवाड़ को टीम बरकार रख सकती है। विदेशी खिलाड़ियों में आलराउंडर मोईन अली और लंबे समय से टीम के साथ जुड़े फाफ डुप्लेसिस में से एक को चुनने का मुश्किल फैसला टीम को करना होगा।

पंजाब किंग्स: कप्तान केएल राहुल का नीलामी में उतरना लगभग तय है। ऐसे में फ्रेंचाइजी नई शुरुआत करने की कोशिश करेगी। हालांकि, टीम अर्शदीप और रवि बिश्नोई जैसे खिलाड़ियों को रिटेन करने की कोशिश करेगी। रवि और अर्शदीप ने अब तक कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला है। टीम को अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले खिलाड़ियों में मयंक अग्रवाल, मोहम्मद शमी और निकोलस पूरन के बीच से किसी एक को चुनना होगा।

कोलकाता नाइटराइडर्स: टीम के वरुण चक्रवर्ती, आंद्रे रसेल, वेंकटेश अय्यर और सुनील नरेन को बरकरार रखने की संभावना है। इसका मतलब है कि इंग्लैंड की विश्व कप जीतने वाली टीम के कप्तान इयोन मॉर्गन और शुभमन गिल को नीलामी में उतरना होगा। मॉर्गन की अगुआई में नाइटराइडर्स ने आईपीएल 2021 के यूएई चरण में शानदार वापसी की और फाइनल खेला था। उनकी नेतृत्वक्षमता को देखते हुए उन्हें रिलीज करने का फैसला आसान नहीं होगा।

राजस्थान रॉयल्स: संजू सैमसन को कप्तान बनाने के बाद भी टीम की किस्मत नहीं बदली, लेकिन टीम के उन्हें और इंग्लैंड के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर को बरकरार रखने की संभावना है। बेन स्टोक्स को बरकरार रखने को लेकर टीम दुविधा में होगी। वह चोट और मानसिक स्वास्थ्य समस्या के कारण पिछले सीजन के अधिकतर मैचों में नहीं खेले। फिटनेस को लेकर जूझने वाले जोफ्रा आर्चर भी ऐसे ही खिलाड़ी हैं, जिन्हें लेकर टीम दुविधा में होगी। अब तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेलने वाले यशस्वी जायसवाल भी रिटेन होने की दौड़ में हैं।

रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर: कप्तानी छोड़ने वाले विराट कोहली और युजवेंद्र चहल को रिटेन किया जाएगा, जबकि ग्लेन मैक्सवेल ने भी पिछले सत्र में अच्छे प्रदर्शन से टीम का भरोसा जीता है। यादगार आईपीएल के बाद भारत की ओर से सफल पदार्पण करने वाले हर्षल पटेल और मोहम्मद सिराज के बीच रिटेन होने के लिए संघर्ष होगा। सलामी बल्लेबाज देवदत्त पडिक्कल को छोड़ने का फैसला भी आसान नहीं होने वाला।

सनराइजर्स हैदराबाद: पिछले सत्र में पूर्व कप्तान डेविड वार्नर के साथ मतभेद के चलते गलत कारणों से खबरों में रहे सनराइजर्स का केन विलियमसन और राशिद खान को रिटेन करना लगभग तय है। टीम को देखना होगा कि वे अपना तेज गेंदबाजी आक्रमण भुनेश्वर कुमार और टी नटराजन को लेकर बनाएंगे या नई शुरुआत करेंगे।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।