scorecardresearch

IPL 2022: राजस्थान के खिलाफ लखनऊ की हार से रोमांचक हुई प्लेऑफ की रेस, जानें- अब कैसा है प्वाइंट्स टेबल का गणित

IPL 2022 Playoff Scenarios: गुजरात टाइटंस के 20 अंक हैं और वह टेबल टॉपर रहेगी। वहीं लखनऊ और राजस्थान के पास टॉप-2 में जगह बनाने का मौका है।

ट्रेंट बोल्ट और आयुष बडोनी। (फोटो- एएनआई)

लखनऊ सुपर जायंट्स (LSG) के खिलाफ राजस्थान रॉयल्स (RR) ने 24 रनों से जीत दर्ज की और इससे उसका प्लेऑफ में क्वालीफाई करना लगभग तय है। केवल पांच टीमें अब 16 या अधिक अंक प्राप्त कर सकती हैं। दिल्ली कैपिटल्स (DC) और पंजाब किंग्स (PBKS) का सोमवार को मैच है। ऐसे में इन दोनों में से केवल एक ही वहां तक पहुंच पाएगा। प्लेऑफ में पहले ही क्वालीफाई कर चुकी गुजरात टाइटंस की टीम (GT) ने रविवार को चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) को हराया। इसके साथ ही उसने शीर्ष दो में अपना स्थान पक्का कर लिया। लखनऊ और राजस्थान के बीच मैच के बाद तय हो गया टीम टॉप पर रहेगी। मुंबई इंडियंस (MI) और चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) पहले ही प्लेऑफ की रेस से बाहर हो चुके हैं।

राजस्थान रॉयल्स- संजू सैमसन की कप्तानी वाली राजस्थान की टीम का सिर्फ एक मैच बाकी है। चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ उसका मैच है। फिल 13 मैचों में उसके 16 अंक हैं और नेट रन रेट 0.304। टीम का प्लेऑफ में जगह लगभग पक्का है। चेन्नई को हराकर वह अब टॉप-2 में जगह बनाना चाहेगी।

लखनऊ सुपरजायंट्स- केएल राहुल की कप्तानी वाली टीम को अपना आखिरी मैच कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ खेलना है। टीम के 13 मैचों में 16 अंक हैं और नेट रनरेट 0.262 है। राजस्थान की तरह लखनऊ के पास भी टॉप-2 में जगह बनाने का मौका है। इसके लिए उसे अपना नेट रनरेट सही करना होगा।

IPL 2022 का प्वाइंट्स टेबल देखने के लिए क्लिक करें

दिल्ली कैपिटल्स-ऋषभ पंत की अगुवाई वाली टीम के दो मैच बाकी हैं। टीम के 12 मैचों में 12 अंक हैं और नेट रनरेट 0.210 है। टीम अगर एक मैच जीतती है और एक हार जाती है तो भी उसके पास 14 अंक होंगे। ऐसे में पंजाब और बैंगलोर अगर 16 अंक तक नहीं पहुंचते हैं और अगर कोलकाता और हैदराबा अपना आखिरी मैच नहीं जीत पाते हैं और रन रेट के मामले में दिल्ली से आगे नहीं निकल पाते हैं, तो वह क्वालीफाई कर जाएंगी।

पंजाब किंग्स- मंयक अग्रवाल की अगुवाई वाली पंजाब के 12 मैचों में 12 अंक और रनरेट 0.023 है। टीम के दो मैच बाकी है। अगर दोनों जीत जाती है तो क्वालीफाई कर जाएगी। अगर दो में से एक हार जाती है तो उसे उम्मीद करनी होगी कि दिल्ली और बैंगलोर भी अपना आखिरी मैच हार जाएं। इसके बाद नेट रनरेट पर बात आ जाएगी।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर- फाफ डुप्लेसिस की कप्तानी वाली टीम के 13 मैचों में 14 अंक हैं और रनरेट -0.323। टीम को अपना आखिरी मैच गुजरात टाइटंस से खेलना है। टीम को जीत के साथ-साथ अपने रनरेट सुधारने पर भी ध्यान देना होगा। अगर पंजाब या दिल्ली के भी 16 अंक रह जाते हैं, तो केवल जीत से बैंगलोर की बात नहीं बनेगी।

सनराइजर्स हैदराबाद- केन विलियमसन की अगुवाई वाली टीम के 12 मैचों में 10 अक हैं और रनरेट 0.270 है। सनराइजर्स को अपने आखिरी दो मैच बड़े अंतर से जीतने होंगे और फिर उम्मीद करनी होगी कि कोई अन्य टीम 16 अंकों तक नहीं पहुंचेगी। यदि दिल्ली दोनों मैच हार जाती है और 12 अंकों पर रहती है और अगर कोलकाता अपना आखिरी मैच भी हार जाती है, तो टीम के पास स्पष्ट रूप से एक बेहतर मौका होगा।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट