scorecardresearch

IPL 2022: मध्य प्रदेश के लिए पहले भी ‘हनुमान’ बन चुके हैं रजत पाटीदार, विजय हजारे ट्रॉफी में की थी शमी और अशोक डिंडा की कुटाई

यह भी खास है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 में आरसीबी के लिए 4 मैच खेलने वाले रजत पाटीदार आईपीएल 2022 मेगा ऑक्शन में अनसोल्ड (नहीं बिकना) रह गए थे।

IPL 2022 | Eliminator | LSG vs RCB | Royal Challengers Bangalore | Lucknow Super Giants | Rajat Patidar | Social Media | Trending | Twitter
आईपीएल 2022 के एलिमिनेटर मुकाबले में आरसीबी के रजत पाटीदार ने 54 गेंद में 112 रन की नाबाद पारी खेली। (सोर्स- आईपीएल)

रजत पाटीदार के शानदार शतक की मदद से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) ने 25 मई की रात इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 के एलिमिनेटर में लखनऊ सुपर जायंट्स को हरा दिया। रजत पाटीदार आईपीएल के प्लेऑफ मुकाबलों में शतक लगाने वाले पहले अनकैप्ड प्लेयर हैं। रजत पाटीदार जब क्रीज पर आए थे, तब आरसीबी की हालत पतली थी। उसने महज 4 रन के स्कोर पर फाफ डुप्लेसिस का विकेट गंवा दिया था।

इसके बाद रजत पाटीदार ने एक छोर संभाले रखते हुए न सिर्फ शतकीय पारी खेली, बल्कि आरसीबी को 20 ओवर में 4 विकेट पर 207 रन तक पहुंचाने में भी अहम भूमिका निभाई। रजत पाटीदार ने 100 मिनट की बल्लेबाजी में 54 गेंदें खेलीं और 12 चौके और 7 छक्के की मदद से नाबाद 112 रन बनाए। वैसे यह पहली बार नहीं है, जब रजत पाटीदार टीम के लिए संकटमोचक बने। वह पहले भी अपनी टीमों के लिए ‘हनुमान’ की भूमिका निभा चुके हैं।

मध्य प्रदेश टीम के उनके साथी और तेज गेंदबाज ईश्वर पांडे ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ‘रजत हमारे टीम का संकट-मोचक है। उन्होंने पहले भी इस तरह की पारियां खेली हैं, लेकिन कभी टीवी पर लोगों ने नहीं देखा। लोगों को उनके बारे में पहले पता नहीं था। अब जब उसने बुधवार की रात फिर ऐसी पारी खेली तो निश्चित रूप से वह आरसीबी का हनुमान बन गया है।’

ईश्वर पांडे याद करते हुए कहते हैं कि कैसे रजत पाटीदार ने विजय हजारे ट्रॉफी के अपने पहले सीजन में बंगाल के खिलाफ मैच में मोहम्मद शमी और अशोक डिंडा का सामना किया था। उस दिन ड्रेसिंग रूम में, उनकी टीम के साथी उनकी टाइमिंग से हैरान थे, ठीक वैसे ही जैसे बुधवार को कोलकाता में देखने वाले लोग। ईश्वर ने बताया, ‘जिस तरह से वह शमी और डिंडा को मार रहे थे, उस दिन हमने उसकी एक अलग क्लास देखी। उसके पास वह अतिरिक्त समय है। तब हमें पता था कि यह लड़का एक दिन जरूर कुछ करेगा।’

ईश्वर पांडे ने कहा, ‘जब उन्होंने रणजी ट्रॉफी (2018-19) के मैच में तमिलनाडु के खिलाफ 196 रन बनाए, तब वह ऐसे खेले रहे थे, जैसे उनके पास बहुत बड़ी संख्या में प्रथम श्रेणी मुकाबलों का खेलने का अनुभव हो, लेकिन सच तो यह था कि उस समय तक उनके पास बहुत अधिक अनुभव नहीं था। इसके बावजूद उनके पास वह क्लास थी जिसे अब कई लोग देख रहे हैं।’

बता दें कि रजत पाटीदार घरेलू सर्किट 2015 से मध्य प्रदेश के लिए खेल रहे हैं। वह अतीत में कई बार अपनी टीम को संकटकालीन परिस्थितियों से उबार चुके हैं। यह भी खास है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 में आरसीबी के लिए 4 मैच खेलने वाले रजत पाटीदार इस साल नीलामी में अनसोल्ड रह गए थे।

आईपीएल 2022 मेगा ऑक्शन के एक महीने बाद मार्च में, पाटीदार के पास आरसीबी के मुख्य कोच संजय बांगड़ का फोन आया। उन्हें बताया गया कि आरसीबी उन्हें एक रिप्लेसमेंट (प्रतिस्थापन) खिलाड़ी के तौर पर रखना चाहती है। इस तरह रजत पाटीदार की चोटिल लवनिथ सिसोदिया के स्थान पर फिर से आरसीबी में वापसी हुई। बुधवार यानी 25 मई 2022 को वह शतक लगाने के बाद सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहे थे।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट