IPL 2022: डेब्यू से पहले ही विवादों में लखनऊ की टीम; केएल राहुल और राशिद खान को लुभाने का आरोप लगा, BCCI कर सकता है कार्रवाई

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के नियमों के मुताबिक, जब तक टीमों की रिटेंशन करने की अवधि खत्म नहीं हो जाए, खिलाड़ी भी अन्य फ्रेंचाइजीस से बात नहीं कर सकते हैं।

KL Rahul Rashid Khan IPL 2022 Retention PBKS SRH BCCI Lucknow franchise
प्रीति जिंटा के सह-मालिकाना हक वाली पंजाब किंग्स और काव्या मारन की सनराइजर्स हैदराबाद ने लखनऊ टीम पर अपने स्टार खिलाड़ियों को लुभाने का आरोप लगाया है।

IPL 2022 Retention: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में डेब्यू से पहले ही लखनऊ की नई टीम विवादों में घिर गई है। प्रीति जिंटा के सह-मालिकाना हक वाली पंजाब किंग्स (Punjab Kings) और काव्या मारन की सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) ने उसके ऊपर अपने स्टार खिलाड़ियों क्रमशः केएल राहुल और राशिद खान को लुभाने का आरोप लगाया है।

इस संबंध में दोनों फ्रैंचाइजीस ने बीसीसीआई से लखनऊ टीम की शिकायत की है। इनसाइड स्पोर्ट्स की खबर में दावा किया गया है कि यदि ऐसे आरोप सही पाए गए तो बीसीसीआई लखनऊ टीम के खिलाफ कार्रवाई भी कर सकता है। मालूम हो, आईपीएल 2022 से पहले मौजूदा 8 फ्रैंचाइजी को रिटेन किए गए अपने-अपने खिलाड़ियों की सूची भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को 30 नवंबर तक सौंपनी है।

आईपीएल 2022 में आठ की जगह 10 टीमें हिस्सा लेंगी। दो नई टीमें लखनऊ और अहमदाबाद की होंगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि लखनऊ टीम ने केएल राहुल और राशिद खान को अपनी टीम में शामिल करने की कोशिश में गलत तरीके से प्रयास किए हैं। बीसीसीआई भी इस मामले की जांच कर रहा है।

रिपोर्ट में बीसीसीआई के एक वरिष्ठ पदाधिकारी के हवाले से कहा गया है, ‘इस बाबत हमें कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है, लेकिन हां, दो फ्रेंचाइजीस ने हमें लखनऊ टीम द्वारा गलत तरीके से खिलाड़ियों को रिटेन करने को लेकर शिकायत की है। इस मामले की हम जांच कर रहे हैं।’

पदाधिकारी ने कहा, ‘अगर आरोप सही पाए जाते हैं तो हम जरुरी कार्रवाई करेंगे। हम संतुलन को खराब करना नहीं चाहते। जब प्रतिस्पर्धा बहुत ज्यादा हो तो आप ऐसी चीजों से बच नहीं सकते, लेकिन मौजूदा टीमों के लिए यह उचित नहीं है, वह भी तब जब वे सब कुछ संतुलित करने की कोशिश कर रहे हैं।’

यह स्पष्ट है कि केएल राहुल आईपीएल 2022 मेगा नीलामी से पहले पंजाब किंग्स को छोड़ देंगे। अन्य कई रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि वह टीम के प्रदर्शन से खुश नहीं थे और इसलिए छोड़ना चाहते थे। हालांकि, अब जो बात सामने आ रही है उसके पीछे यह भी एक कारण हो सकता है।

लखनऊ की नई फ्रेंचाइजी ने केएल राहुल को एक बेहतर पेशकश देकर पंजाब किंग्स को छोड़ने के लिए राजी करने में कामयाबी हासिल की। हालांकि, खेल की दृष्टि से इसे पोचिंग कहा जाता है। राहुल के अलावा लखनऊ फ्रेंचाइजी ने राशिद खान को भी मनाने की कोशिश की है।

बीसीसीआई के नियमों के मुताबिक, जब तक टीमों की रिटेंशन करने की अवधि खत्म नहीं हो जाए, खिलाड़ी भी अन्य फ्रेंचाइजीस से बात नहीं कर सकते हैं। रिपोर्ट में फ्रेंचाइजी के एक पदाधिकारी के हवाले से कहा गया है, ‘खिलाड़ियों की पोचिंग (अलग से खिलाड़ियों से बात कर उन्हें अपनी टीम में शामिल करने का प्रयास) करना फुटबॉल हो या क्रिकेट किसी में भी सही नहीं है।’

पदाथिकारी ने कहा, ‘नई टीमें सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल करने के लिए उत्सुक होंगी, लेकिन मौजूदा टीमों के प्लेयर्स को इस तरह की पेशकश करना सही नहीं है। केएल राहुल टीम के बड़े प्लेयर हैं। उन्हें टीम छोड़ने के लिए अच्छी राशि की पेशकश देकर इस तरह जोड़-तोड़ करना और सही नहीं है।’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट