ताज़ा खबर
 

ऋषभ पंत हैं बहुत बड़े भुलक्कड़, सौरव गांगुली की अधूरी रह गई थी इच्छा; दादा ने सुनाई थी कहानी

ऋषभ पंत ने महज 19 साल की उम्र में ही अपना टी20 इंटरनेशलन डेब्यू कर लिया था। उन्होंने 19 साल की उम्र में ही फर्स्ट क्लास क्रिकेट में तिहरा शतक भी लगा दिया था। इतनी कम उम्र में इतनी बड़ी उपलब्धियां हासिल करने किसी भी खिलाड़ी के लिए गौरव की बात है।

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: March 31, 2021 1:38 PM
दिल्ली कैपिटल्स ने आईपीएल 2021 के लिए श्रेयस अय्यर की जगह ऋषभ पंत को टीम का कप्तान बनाया है। (सोर्स – इंस्टाग्राम दिल्ली कैपिटल्स)

भारतीय क्रिकेट टीम के धाकड़ बल्लेबाज और इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) 2021 में दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के कप्तान ऋषभ पंत बहुत बड़े भुलक्कड़ हैं। वह कई मौकों पर यह बात खुद स्वीकार चुके हैं। एक बार ईएसपीएनक्रिकइंफो के साथ बातचीत में उन्होंने इसकी झलक भी दिखाई थी। यही नहीं, सौरव गांगुली ने एक बार एक इंटरव्यू में बताया था कि उनकी इच्छा ईडन गॉर्डंस में पंत को बल्लेबाजी करते हुए देखने की थी, लेकिन बाएं हाथ के इस बल्लेबाज के कारण उनकी इच्छा पूरी नहीं हो पाई थी।

ऋषभ पंत ने महज 19 साल की उम्र में ही अपना टी20 इंटरनेशलन डेब्यू कर लिया था। उन्होंने 19 साल की उम्र में ही फर्स्ट क्लास क्रिकेट में तिहरा शतक भी लगा दिया था। इतनी कम उम्र में इतनी बड़ी उपलब्धियां हासिल करने किसी भी खिलाड़ी के लिए गौरव की बात है। ऐसे में शायद ही कोई क्रिकेटर यह भूल जाए कि उसे डेब्यू कैप किसने पहनाई थी, लेकिन ऋषभ पंत के बारे में यह सच है। ईएसपीएनक्रिकइंफो के शो ‘ऑन द रोड’ में यह सवाल उनसे पूछा गया था, लेकिन वह इसका उत्तर नहीं दे पाए थे। ऋषभ पंत साल 2016 में खेले गए आईसीसी अंडर-19 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ियों में दूसरे नंबर पर रहे थे।

ऋषभ पंत ने एक फरवरी 2017 को बेंगलुरु में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए मैच से टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था। उस मैच में वह 3 गेंद में पांच रन ही बना पाए थे और क्षेत्ररक्षण करते हुए एक कैच पकड़ा था। ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्टर मेलिंडा फारेल ने पंत से पूछा था, ‘जब आपने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था, तो आपको किसने ब्लू कैप (भारतीय क्रिकेट टीम की आधिकारिक टोपी) सौंपी थी।’ यह सवाल सुनकर पंत सोच में पड़ गए। उन्होंने ना में सिर हिलाया। इसके बाद रिपोर्टर ने उनसे कहा, ‘कोई बात नहीं। होता है, होता है। आप अपना सबसे यादगार पल भूल गए। वैसे आपको बता दूं कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विकेटकीपर सबा करीम ने आपको पहली बार इंडियन टीम की कैप सौंपी थी।’

वहीं, सौरव गांगुली ने एक इंटरव्यू में कहा था, ‘ऋषभ पंत 2017 में ईडन गार्डंस में रणजी ट्रॉफी का मैच खेल रहे थे। मुझे पंत की बल्लेबाजी देखनी थी। मैं तब अपने कमरे में काम कर रहा था। इसलिए मैंने जल्दी-जल्दी अपना काम खत्म किया और पंत की बल्लेबाजी देखने के लिए सीधा ग्राउंड पर जाने लगा। रास्ते में एक सिक्योरिटी गाॉर्ड मिला। मैंने उससे बोला कि मैं नीचे ग्राउंड जा रहा हूं, ऋषभ खेल रहा है, उसे बल्लेबाजी करते हुए देखना है, मुझे चाय पिला दोगे। उसने कहा- हां, क्यों नहीं सर।’

गांगुली ने आगे बताया, ‘मैं ऊपर से नीचे उतरा तो मुझे क्रीज पर ऋषभ पंत दिखा नहीं। मैंने दूसरे लोगों से पूछा कि ऋषभ कहां है? मुझे बताया गया कि वह तो 36 रन बनाकर आउट भी हो गया। मैंने स्कोरबोर्ड में देखा तो सिर्फ 3 ओवर हुए थे। रणजी ट्रॉफी मैच, 4 दिन का मुकाबला, सीमिंग पिच, ईडन गार्डंस थोड़ा सा सीमिंग विकेट है और ऋषभ पंत ने जाकर नई गेंद पर 2-3 छक्के लगाए 36 रन बनाए और मेरे ऊपर से नीचे आते तक पवेलियन भी लौट गए।’ गांगुली ने कहा कि पंत के तेज खेलने के कारण उसे बल्लेबाजी करते हुए देखने की इच्छा अधूरी रह गई थी।

Next Stories
1 IPL: मैन ऑफ द मैच अवार्ड जीतने के मामले में फिसड्डी हैं भारतीय, विराट कोहली-ऋषभ पंत टॉप-5 में भी नहीं
2 IPL 2021: दिल्ली कैपिटल्स ने ऋषभ पंत को बनाया कप्तान, 18 गेंद में ठोक चुके हैं फिफ्टी
3 IPL 2021: एमएस धोनी ने दिया नया ‘गुरु मंत्र,’ ऋषभ पंत बोले- अपने अनुभव खुद बनाएंगे; देखें Video
ये  पढ़ा क्या?
X