ताज़ा खबर
 

‘खिलाड़ियों से परफॉर्मेंस लेना आर्ट है, कप्तान को यह आना चाहिए,’ वीरेंद्र सहवाग ने दी विराट कोहली को नसीहत

वीरू ने कहा, ‘आपको अपने भारतीय गेंदबाजों पर भरोसा करना होगा। पिटाई सबकी होती है। ऐसा नहीं है कि क्रिस मॉरिस या रबाडा पिटे नहीं। अगर ज्यादा मौके दोगे, यह समझोगे कि भई मेरा उमेश यादव नई गेंद डाल सकता है या बीच में डाल सकता है। तो उसे वहीं कराओ, स्लॉग में मत कराओ।’

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: November 8, 2020 12:33 PM
Virat Kohli Virendra Sehwag IPL 2020

वीरेंद्र सहवाग ने विराट कोहली को नसीहत देते हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सफल होने का गुरुमंत्र दिया है। क्रिकबज को दिए इंटरव्यू में सहवाग ने कहा, ‘टीम का कप्तान या खिलाड़ियों को बदलने के बजाय बेहतर रणनीति अपनानी होगी। खिलाड़ियों को खिलाना, अच्छा कॉम्बिनेशन बनाना और उनसे अच्छी परफॉर्मेंस लेना भी एक आर्ट है, जो कि कप्तान को आना चाहिए।’

बता दें विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर आईपीएल 2020 में भी चोकर्स साबित हुई। विराट कोहली पिछले 8 साल से आरसीबी की कमान संभाल रहे हैं। इतने साल में रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर एक बार भी आईपीएल का खिताब नहीं जीत पाई। इस बार वह प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई तो कर गई, लेकिन एलिमिनेटर में उसे सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी। इसके बाद टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेट गौतम गंभीर और संजय मांजरेकर ने विराट कोहली की काफी आलोचना की थी। गंभीर ने कोहली से आरसीबी की कप्तानी छीननी तक की बात कही थी।

हालांकि, सहवाग इससे इत्तेफाक नहीं रखते। सहवाग ने कहा, ‘देखिए कप्तान उतना ही अच्छा होता है, जितनी उसकी टीम। यही कप्तान जब इंडियन टीम के लिए कप्तानी करता है तो नतीजे अलग होते हैं। तब विराट कोहली सीरीज जीतते हैं। वे वनडे, टी20 और टेस्ट मुकाबले जीतते हैं, लेकिन जब वे आरसीबी के लिए कप्तानी करते हैं तब शायद इनकी टीम उतना अच्छा परफॉर्म नहीं करती, तभी वे जीततने नहीं हैं।’

सहवाग ने कहा, ‘कप्तान के पास अच्छी टीम होना बहुत जरूरी है। मैं यह कहूंगा कि कप्तान को बदलने का इरादा न सोचें, ये सोचें कि हम लोग इस टीम में और बेहतर कैसे कर सकते हैं। इस टीम में और किन खिलाड़ियों को जोड़ें ताकि यह टीम बेहतर हो जाए, बेहतर परफॉर्मेंस देने लगे। हर एक टीम के पास एक सेटल बैटिंग ऑर्डर है, लेकिन बंगलौर के पास वह कभी सेटल बैटिंग ऑर्डर नहीं रहा।’

सहवाग ने कहा, ‘आरसीबी सिर्फ विराट और एबी डिविलियर्स पर ही निर्भर रहा। ऊपर-नीचे चेंज होते रहते हैं, लेकिन कोहली और एबीडी के इर्द-गिर्द ही टीम रहती है। अब देवदत्त पडिक्कल एक ओपनर आ गए हैं तो शायद उन्हें एक ओपनर और चाहिए और एक लोअर मिडिल ऑर्डर बैट्समैन और चाहिए। ये 3 और दो विराट कोहली और एबीडी हैं तो पांच बल्लेबाज बहुत हो जाएंगे आपको मैच जिताने के लिए।’

सहवाग ने कहा, ‘आपको अपने भारतीय गेंदबाजों पर भरोसा करना होगा। पिटाई सबकी होती है। ऐसा नहीं है कि क्रिस मॉरिस पिटे नहीं हैं या कगिसो रबाडा पिटे नहीं हैं। लेकिन अगर ज्यादा मौके दोगे, यह समझोगे कि भई मेरा उमेश यादव नई गेंद डाल सकता है या बीच में डाल सकता है। तो उसे वहीं कराओ, स्लॉग में मत कराओ। डेथ ओवर्स में कौन सा गेंदबाज मेरे लिए कर सकता है। हो सकता है कि आप कभी-कभी युजवेंद्र चहल को डेथ ओवर्स में फेंकने के लिए गेंद दें।’

वीरेंद्र सहवाग ने कहा, ‘मेरे ख्याल से वह बेहतर रणनीति अपनानी होगी, इसके मुकाबले कि आप यह सोचें कि कप्तान बदल दें या हम और दूसरे खिलाड़ी ले आएं। ऑक्शन में जो भी प्लेयर उपलब्ध थे, वे उन्हें अच्छे प्राइज देकर खरीदे, लेकिन उसके बाद भी उनको खिलाना, कॉम्बिनेशन बनाना और परफॉर्मेंस लेना भी एक आर्ट है, जो कि कप्तान को आनी चाहिए।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X