ताज़ा खबर
 

IPL 2020: पहली बार सुपर ओवर में फेल हुए जसप्रीत बुमराह, 99 पर आउट होकर भी विराट कोहली के क्लब में शामिल हुए ईशान किशन

बुमराह ने पहली बार सुपर ओवर आईपीएल में 2017 में राजकोट के मैदान पर गुजरात लॉयंस के खिलाफ फेंका था। तब गुजरात को सुपर ओवर में 6 रन ही बना दिए थे और उसकी जीत के मंसूबों पर पानी फेर दिया था।

Author नई दिल्ली | Updated: September 29, 2020 11:26 AM
Jasprit Bumrah Ishan Kishan IPl 2020

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 के 10वें मैच में रोमांच अपने चरम पर रहा। मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीता और गेंदबाजी का फैसला किया। उनका यह फैसला तब गलत साबित हुआ, जब देवदत्त पडिक्कल और एरोन फिंच ने 9 ओवर में ही 81 रन ठोक दिए। हालांकि, विराट कोहली असफल रहे, लेकिन एबी डिविलियर्स और शिवम दुबे की तूफानी पारियों के दम पर रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर 20 ओवर में 3 विकेट पर 201 रन बनाने में सफल रहा।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई इंडियंस की शुरुआत बहुत खराब रही। उसके शुरुआती 4 विकेट 11.2 ओवर में महज 78 रन पर गिर गए थे। जब ऐसा लग रहा था कि मैच एकतरफा हो गया है, तभी ईशान किशन और कीरोन पोलार्ड ने लंगर डालकर खेलना शुरू किया। दोनों ने 51 गेंद में 119 रन की साझेदारी की। आखिरी गेंद पर मुंबई को जीत के लिए 5 रन की जरूरत थी, लेकिन पोलार्ड चौका ही लगा पाए और मैच टाई हो गया। मैच का नतीजा निकले इसके लिए सुपर ओवर का इस्तेमाल किया गया। सुपर ओवर में पहले मुंबई ने बल्लेबाजी की। रोहित ने कीरोन पोलार्ड और हार्दिक पंड्या पर भरोसा जताया और उन्हें खेलने भेजा। विराट कोहली ने नवदीप सैनी को गेंद थमाई।

नवदीप ने विराट के भरोसे को कायम रखा और सुपर ओवर में सिर्फ 7 रन दिए, जबकि पोलार्ड का विकेट भी झटका। पोलार्ड के आउट होने पर कप्तान रोहित खुद क्रीज पर आए, लेकिन उन्हें एक भी गेंद खेलने को नहीं मिली। अब बंगलौर को जीत हासिल करने के लिए 6 गेंद में 8 रन बनाने थे। विराट कोहली और एबी डिविलियर्स ने बल्लेबाजी का जिम्मा संभाला। रोहित ने डेथ ओवरों के मास्टर जसप्रीत बुमराह को गेंद थमाई।

बुमराह के सामने कठिन चुनौती थी, लेकिन वह इससे पहले 6 रन के लक्ष्य का भी बचाव कर चुके थे, इसलिए रोहित ने उन पर ही दांव खेला। डिविलियर्स ने पहली गेंद का सामना किया, लेकिन बुमराह ने इतनी सटीक गेंद फेंकी कि वह एक रन ही बना पाए। दूसरी गेंद पर कोहली भी एक रन ही भाग पाए। तीसरी गेंद को डिविलियर्स ने मारने की कोशिश की, लेकिन मिस कर गए। विकेट के पीछे क्विटंन डीकॉक ने कॉट बिहाइंड की अपील की और अंपायर ने आउट दे दिया।

डिविलियर्स को खुद के आउट होने का भरोसा नहीं था। उन्होंने तत्काल डीआरएस का इस्तेमाल किया। डीआरएस में मैदानी अंपायर का फैसला गलत निकला। इसके बाद चौथी गेंद को फाइन लेग के ऊपर से खेलकर शानदार शॉट लगाया। एकबारगी ऐसा लगा कि छक्का हो गया, लेकिन टीवी रिप्ले में यह चौका निकला। अब बंगलौर को जीत के लिए 2 गेंद में 2 रन बनाने थे। सामने डिविलियर्स थे।

बुमराह ने गेंद फेंकी, उन्होंने एक रन लेकर स्कोर बराबर कर दिया। अगली गेंद पर कोहली को एक रन बनाना था, जो उन्होंने स्क्वायर लेग पर खेलकर पूरा कर लिया। इसके साथ ही बंगलौर ने आईपीएल 2020 में अपनी दूसरी जीत हासिल की और जसप्रीत बुमराह पहली बार सुपर ओवर में फेल हुए। इससे पहले बुमराह चाहे आईपीएल में हो या टीम इंडिया की ओर से खेलते हुए कभी असफल नहीं हुए थे।

बुमराह ने पहली बार सुपर ओवर आईपीएल में 2017 में राजकोट के मैदान पर गुजरात लॉयंस के खिलाफ फेंका था। तब गुजरात को सुपर ओवर में 6 रन ही बना दिए थे और उसकी जीत के मंसूबों पर पानी फेर दिया था। पिछले साल आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ भी बुमराह ने सुपर ओवर में 8 रन देकर 2 विकेट झटक लिए थे। इसके अलावा टीम इंडिया की ओर से खेलते हुए उन्होंने इस साल हैमिल्टन और वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ सुपर ओवर में अपनी धाक जमाई थी।

हैमिल्टन में बुमराह के एक ओवर में न्यूजीलैंड ने 17 रन बनाए थे, जबकि वेलिंगटन में एक विकेट पर 13 रन। इसके बावजूद दोनों मैचों में टीम इंडिया जीती थी। यह पहला मौका है, जब बुमराह अपनी टीम को सुपर ओवर में जीत नहीं दिलवा पाए। इस मैच में ईशान किशन का जिक्र नहीं हो तो बात अधूरी समझी जाएगी। ईशान किशन भले ही शतक से चूक गए हों, लेकिन विराट कोहली के क्लब में जगह जरूर बना ली।

ईशान आईपीएल में 99 रन पर आउट होने वाले तीसरे बल्लेबाज हैं। उनसे पहले 2013 में विराट कोहली दिल्ली के खिलाफ मैच में 99 रन पर आउट हो गए थे। पिछले साल पृथ्वी शॉ को कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ मैच में 99 रन पर पवेलियन लौटना पड़ा था। सीमित ओवर फॉर्मेट में यदि ईशान किशन की परफॉर्मेंस पर नजर डालें तो उन्होंने इससे पहले जो पारी खेली थी, उसमें 84 गेंद में नाबाद 71 रन बनाए थे। यह पारी उन्होंने इंडिया ए की ओर से खेलते हुए न्यूजीलैंड ए के खिलाफ खेली थी।

ईशान अनकैप्ड प्लेयर हैं। आईपीएल में अनकैप्ड प्लेयर के हाइएस्ट स्कोर के मामले में वह तीसरे नंबर पर पहुंच गए हैं। पहले नंबर पर पॉल वाल्थी हैं। उन्होंने 2011 में चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ नाबाद 120 रन बनाए थे। दूसरे नंबर पर मनीष पांडे हैं। मनीष ने 2009 में डेक्कन सेंचुरियन के खिलाफ खेलते हुए नाबाद 114 रन की पारी खेली थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली ने किया एक बदलाव, हैदराबाद को मिला केन विलियमसन का साथ;यहां जानिए दोनों की प्लेइंग इलेवन
2 RCB vs MI: लॉकडाउन के बाद आउट ऑफ फॉर्म हुए विराट कोहली, 13 साल में पहली बार IPL में किया इतना खराब प्रदर्शन
3 ट्विटर पर पत्रकार से भिड़ गए आकाश चोपड़ा, मां-बहन की ‘गाली’ को लेकर कहा- सोच बदलो तभी उत्कृष्ट भारत बनेगा
ये पढ़ा क्या?
X