ताज़ा खबर
 

IPL 2020 से इन 4 युवाओं ने ठोका टीम इंडिया के लिए दावा, MS Dhoni और विराट कोहली ने बताया था फ्यूचर स्टार

देवदत्त पडिक्कल ने सीजन में कोहली और डिविलियर्स से ज्यादा रन बनाए। कवर और एक्स्ट्रा कवर में शानदार शॉट खेलने में पडिक्कल माहिर हैं। शॉर्ट पिच गेंदों का सामना भी बखूबी करते हैं। कोहली ने उन्हें भविष्य का स्टार खिलाड़ी बताया।

IPL 2020, MS Dhoni, Virat kohli, Devdutt Padikkalदेवदत्त पडिक्कल आईपीएल में आरसीबी और ऋतुराज गायकवाड़ चेन्नई के लिए खेले थे। (सोर्स – सोशल मीडिया)

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 13वां सीजन समाप्त हो चुका है। इस सीजन में कई खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। उनमें से कुछ को भारतीय टीम में शामिल भी किया गया है। संजू सैमसन वापसी करने में सफल रहे। टी नटराजन का चयन टी20 टीम में हुआ। वहीं, कुछ खिलाड़ियों ने भविष्य के लिए उम्मीदें जगाई हैं। इनमें विराट कोहली के साथ खेल चुके देवदत्त पडिक्कल और महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के ऋतुराज गायकवाड़ मुख्य हैं। दूसरी ओर, केएल राहुल की टीम में खेल चुके रवि बिश्नोई और स्टीव स्मिथ की टीम राजस्थान रॉयल्स के कार्तिक त्यागी ने गेंदबाजी में उम्मीदें जगाई हैं।

देवदत्त पडिक्कल: कोई खिलाड़ी अपना पहला सीजन खेल रहा हो, टीम में विराट कोहली और एबी डिविलियर्स जैसे दिग्गज बल्लेबाज हो और वह टीम का टॉप रन स्कोरर बन जाए तो यह उसके लिए सबसे बड़ी उपलब्धि होगी। पडिक्कल ने सीजन में कोहली और डिविलियर्स से ज्यादा रन बनाए। कवर और एक्स्ट्रा कवर में शानदार शॉट खेलने में पडिक्कल माहिर हैं। शॉर्ट पिच गेंदों का सामना भी बखूबी करते हैं। कोहली ने उन्हें भविष्य का स्टार खिलाड़ी बताया। पडिक्कल को सीजन का इमर्जिंग प्लेयर चुना गया। 20 साल के इस खिलाड़ी ने 15 मैच में 31.53 की औसत और 124.80 की स्ट्राइक रेट से 473 रन बनाए।

ऋतुराज गायकवाड़: चेन्नई का यह बल्लेबाज जब टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए दुबई पहुंचा तो कोरोना संक्रमित हो गया है। कुछ दिनों बाद दूसरी बार पॉजिटिव पाया गया। टीम का प्रदर्शन शुरुआती मैच में अच्छा नहीं रहा। ऋतुराज को प्लेइंग इलेवन में रखा गया, लेकिन शुरुआती दो मैच में शून्य और पांच रन बनाए। एक महीने के बाद फिर से उन्हें टीम में शामिल किया गया और ओपनिंग करते हुए ऋतुराज ने लगातार तीन अर्धशतक लगा दिए। कप्तान धोनी के भरोसे को उन्हें सही साबित किया और उनसे तारीफ भी हासिल की। गायकवाड़ ने 6 मैच में 51 की औसत से 204 रन बनाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 120.71 का था।

कार्तिक त्यागी: राजस्थान रॉयल्स के इस तेज गेंदबाज के आंकड़े भले ही ज्यादा प्रभावी नहीं हो, लेकिन त्यागी ने राजस्थान की टीम में अपना स्थान पक्का किया। 20 साल के इस गेंदबाज ने पहली बार टूर्नामेंट में हिस्सा लेते हुए सबको प्रभावित किया। उनकी तेज गेंदों और लगातार एक ही लाइन पर गेंद करने की क्षमता से दिग्गज क्रिकेट खुश हुए और भविष्य का स्टार बताया। कार्तिक को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई टीम इंडिया में स्टैंडबाई गेंदबाज के तौर पर ले जाया गया है। कार्तिक ने आईपीएल में 10 मैच में 9 विकेट लिए थे और उनका इकॉनमनी रेट 9.61 का था।

रवि बिश्नोई: अंडर-19 वर्ल्ड कप में चमत्कारिक प्रदर्शन कर चर्चा में आए बिश्नोई को किंग्स इलेवन पंजाब ने टीम में शामिल किया। अनिल कुंबले की कोचिंग में रवि बिश्नोई को सभी मैच में खेलने का मौका मिला। बिश्नोई ने 14 मैच में 12 विकेट अपने नाम किए। गुगली, फ्लिपर और टॉप स्पिन से सबको प्रभावित किया। वे मोहम्मद शमी (20 विकेट) के बाद टीम के सबसे सफल गेंदबाज रहे। टीम इंडिया के पूर्व चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा, ‘बिश्नोई सीमित ओवरों में कमाल करेंगे।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
यह पढ़ा क्या?
X