ताज़ा खबर
 

IPL 2020: एक मैच में दो सुपर ओवर; युवराज ने की वर्ल्ड कप फाइनल से तुलना, आनंद महिंद्रा बोले- ऐसी स्क्रिप्ट पर राइटर को निकाल दिया जाता

मैच में मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 6 विकेट पर 176 रन बनाए थे। पंजाब की टीम भी 20 ओवर में 6 विकेट पर 176 रन ही बना सकी। पंजाब को आखिरी ओवर में जीत के लिए 9 रन बनाने थे, लेकिन क्रिस जॉर्डन अंतिम गेंद पर रनआउट हो गए और मैच सुपर ओवर में पहुंच गया।

IPL 2020, MI vs KXIP, super over, Yuvraj Singh, Anand Mahindraपंजाब और मुंबई के बीच हुए मुकाबले में पहला सुपह टाई होने के बाद दूसरा सुपर हुआ। (सोर्स – सोशल मीडिया)

आईपीएल इतिहास में रविवार (18 अक्टूबर) को पहली बार दो सुपर ओवर मुकाबले हुए। रोमांचक मैच में किंग्स इलेवन पंजाब ने मुंबई इंडियंस को हरा दिया। पहले सुपर ओवर में दोनों टीमों ने 5-5 रन बनाए। दूसरे सुपर ओवर में मुंबई ने पंजाब को 12 रन का लक्ष्य दिया। इसे क्रिस गेल और मयंक अग्रवाल ने आसानी से हासिल कर लिया। मुकाबले के बाद कई पूर्व क्रिकेटर, विशेषज्ञ और फैंस ने दोनों टीमों की तारीफ की। दो बार वर्ल्ड कप जीत चुके युवराज सिंह ने इस मैच की तुलना पिछले साल हुए वर्ल्ड कप फाइनल से की।


युवराज सिंह ने ट्वीट कर कहा, ‘‘वर्ल्ड कप 2019 एक बेहतर मैच था या मुंबई और पंजाब के बीच हुआ मुकाबला। आईपीएल में आज अविश्वसनीय दृश्य देखने को मिले। दोनों टीमों ने बेहतरीन प्रयास किया। मुंबई इंडियंस के लिए जसप्रीत बुमराह और पंजाब के लिए केएल राहुल गेम चेंजर साबित हुए। वर्ल्ड बॉस क्रिस गेल और मयंक अग्रवाल ने शानदार अंत किया।’’ मैच में मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 6 विकेट पर 176 रन बनाए थे। पंजाब की टीम भी 20 ओवर में 6 विकेट पर 176 रन ही बना सकी। पंजाब को आखिरी ओवर में जीत के लिए 9 रन बनाने थे, लेकिन क्रिस जॉर्डन अंतिम गेंद पर रनआउट हो गए और मैच सुपर ओवर में पहुंच गया।


बिजनेसमैन आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर कहा, ‘‘अगर किसी भी स्क्रिप्ट राइटर के पास इस मैच की तरह दिखने वाली स्पोर्ट्स मूवी की स्क्रिप्ट लिखने का माद्दा होता, तो उसे ऐसी कहानी लिखने के लिए निकाल दिया जाता, जो विश्वसनीयता के नजदीक भी नहीं थी। लेकिन जीवन को अपनी कहानियों के लिए किसी को जवाब नहीं देना है।’’ दूसरी ओर, पंजाब के कप्तान केएल राहुल ने कहा कि मोहम्मद शमी सुपर ओवर में छह यॉर्कर फेंकना चाहते थे।
राहुल ने कहा, ‘‘आप कभी सुपर ओवर के लिए तैयारी नहीं कर सकते। कोई टीम ऐसा नहीं कर सकती। इसलिए आपको गेंदबाज पर भरोसा करना होता है। आप गेंदबाज पर भरोसा करते हो और उम्मीद करते हो कि वह अपनी सहज प्रवृत्ति के अनुसार गेंदबाजी करेगा। वह (मोहम्मद शमी) छह यॉर्कर फेंकना चाहते थे। उन्होंने शानदार काम किया और प्रत्येक मैच के साथ बेहतर हो रहे हैं। यह महत्वपूर्ण है कि सीनियर खिलाड़ी टीम को मैच जिताएं।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 IPL: डेविड वॉर्नर ने इतिहास रचा, 5000 रन बनाने वाले पहले विदेशी बने; विराट कोहली का तोड़ा रिकॉर्ड
2 आईपीएल इतिहास में 6 साल बाद सुपर ओवर हुआ टाई, दूसरे सुपर ओवर में पंजाब ने मुंबई को हराया
3 ‘खराब, बेहद खराब पसंद महेंद्र सिंह धोनी,’ चेन्नई की हार के बाद बोले स्टार फर्राटा धावक योहान ब्लेक
आज का राशिफल
X