ताज़ा खबर
 

बायो-बबल के कारण पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके थे मंदीप सिंह, खास पारी खेलकर उनकी इच्छा की पूरी

28 साल के मंदीप का घर जालंधर में है। वे दो महीने पहले यूएई में पंजाब के कैंप में शामिल हुए थे। उनके पिता के लीवर में इंफेक्शन था। उन्होंने मोहाली के अस्पताल में अंतिम सांस ली। मंदीप के पिता हरदेव सिंह पूर्व एथलेटिक्स कोच और जिला खेल अधिकारी थे।

IPL 2020, KXIP, Mandeep Singh, Mandeep Singh fatherमंदीप सिंह की पारी की बदौलत किंग्स इलेवन पंजाब ने कोलकाता नाइट राइडर्स को हरा दिया। (सोर्स – आईपीएल)

किंग्स इलेवन पंजाब के बल्लेबाज मंदीप सिंह ने कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ आईपीएल 2020 के 46वें मुकाबले में अर्धशतकीय पारी खेलकर टीम को मैच में जीत दिलाई। मंदीप ने 56 गेंद पर नाबाद 66 रनों की पारी खेली। पंजाब ने कोलकाता को 8 विकेट से हराया। इस जीत के साथ ही टीम अंक तालिका में पांचवें से चौथे स्थान पर पहुंच गई। मंदीप के लिए पिछले कुछ दिन बहुत मुश्किल रहे हैं।

दरअसल, शुक्रवार (23 अक्टूबर) की रात को उनके पिता का निधन हो गया था। इसके बाद भी वे सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच में खेलने उतरे थे। तब वे बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे थे। वे 17 रन बनाकर पवेलियन लौट गए थे, लेकिन कोलकाता के खिलाफ उन्होंने पिता की एक इच्छा को पूरा कर दिया। उनके पिता चाहते थे कि मंदीप हर पारी में नाबाद लौटे। इस बार वे 66 रन बनाकर नाबाद लौटे। मंदीप कोरोनावायरस के लागू बायो-बबल नियम के कारण पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके थे। वे वर्चुअल तरीके से ऑनलाइन इसमें शामिल हुए थे।

मंदीप ने मैच के बाद कहा, ‘‘यह वाकई बहुत खास था। मेरे पिता मुझे अक्सर ही कहते हैं कि हर मैच में नाबाद रहा करो, तो वाकई यह खास है। वो मुझे यह बता हमेशा ही कहा करते थे, चाहे आप 100 रन बनाइए या फिर 200 आपको आउट नहीं होना चाहिए। मेरी राहुल से मैच शुरू होने के पहले बात हो रही थी। पिछले मुकाबले में मैं तेजी से रन बनाने की कोशिश कर रहा था लेकिन ऐसा करने में सहज नहीं हो पा रहा था। मैंने राहुल से कहा था अगर मैं अपना स्वभाविक खेल खेलूंगा तो मैच को जिताऊंगा और मुझे इस बात का यकीन था। ’’

28 साल के मंदीप का घर जालंधर में है। वे दो महीने पहले यूएई में पंजाब के कैंप में शामिल हुए थे। उनके पिता के लीवर में इंफेक्शन था। उन्होंने मोहाली के अस्पताल में अंतिम सांस ली। मंदीप के पिता हरदेव सिंह पूर्व एथलेटिक्स कोच और जिला खेल अधिकारी थे। मंदीप ने अपनी अर्धशतकीय पारी को पिता को समर्पित किया। उन्होंने इस दौरान आठ चौके और दो छक्के लगाए। क्रिस गेल के साथ शतकीय साझेदारी भी की।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोलकाता नाइटराइडर्स टॉप-4 से बाहर, किंग्स इलेवन पंजाब की एंट्री; जानिए ऑरेंज और पर्पल कैप की रेस में कौन है आगे
2 बीसीसीआई ने जारी किया IPL 2020 के प्लेऑफ का शेड्यूल, अबुधाबी में होंगे दो मैच
3 India Tour of Australia: रोहित शर्मा IPL 2020 के शेष मुकाबलों में नहीं खेलेंगे? ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए नहीं चुने जाने पर उठे सवाल
ये पढ़ा क्या?
X