ताज़ा खबर
 

IPL 2020: जियो टीवी यूजर नहीं उठा पाएंगे मैचों का लुत्फ, हॉटस्टार से खत्म हुआ करार

आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सरशिप राइट्स हासिल करने की रेस में शामिल होने का आज यानी 14 अगस्त 2020 आखिरी दिन है। बीसीसीआई के मुताबिक, ‘जो भी पार्टी या कंपनी इस बोली में हिस्सा लेना चाहती है वह 14 अगस्त की शाम 5 बजे तक बोर्ड को सूचित कर सकती है।

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 19 सितंबर से शुरू होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें सीजन की मुफ्त लाइव स्ट्रीमिंग का लाखों Jio TV ग्राहक आनंद नहीं ले पाएंगे। कथित तौर पर, आईपीएल 2020 के लिए टूर्नामेंट की स्ट्रीमिंग पार्टनर हॉटस्टार और जियो टीवी के बीच करार का नवीनीकरण नहीं हो पाया है। E4M की एक रिपोर्ट के अनुसार, ‘इस साल मार्च में हॉटस्टार की ओर से जियो टीवी पर लाइव आईपीएल मैचों की स्ट्रीमिंग को लेकर बातचीत की गई थी, लेकिन दोनों पार्टियां किसी समझौते पर नहीं पहुंच पाईं थीं। माना जाता है कि दोनों के बीच करार अब खत्म हो गया है।’

इसोबार इंडिया के गोपा कुमार के हवाले से E4M ने बताया, ‘क्योंकि इस साल Jio के साथ कोई करार नहीं हुआ है। हॉटस्टार के लिए दर्शकों तक पहुंच कम हो जाएगी। जबकि कोविड-19 के दौरान उसके सब्सक्राइबर्स की संख्या में अच्छा खासा इजाफा हुआ होगा और बहुत से लोग इस प्लेटफॉर्म से जुड़े होंगे। हॉटस्टार के जरिए जियो टीवी (Jio TV) पर आईपीएल (IPL) की लाइव स्ट्रीमिंग का बड़ी संख्या में लोग लुत्फ उठाते रहे हैं। हॉटस्टार अपने नान-सब्सक्राइबर्स को सिर्फ 5 मिनट तक ही मुफ्त स्ट्रीमिंग देता है, लेकिन जियो ग्राहकों के बारे में ऐसा नहीं था। वह पूरे मैच का लुत्फ उठाते थे।’

बता दें कि आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सरशिप राइट्स हासिल करने की रेस में शामिल होने का आज यानी 14 अगस्त 2020 आखिरी दिन है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मुताबिक, ‘जो भी पार्टी या कंपनी इस बोली में हिस्सा लेना चाहती है वह 14 अगस्त की शाम 5 बजे तक बोर्ड को सूचित कर सकती है। टूर्नामेंट के नए टाइटल स्पॉन्सर का ऐलान 18 अगस्त तक किया जाएगा। जिस भी कंपनी को आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सरशिप के राइट्स मिलेंगे, उसकी समय सीमा 31 दिसंबर 2020 तक ही होगी।’

आईपीएल टाइटल स्पॉन्सरशिप की दौड़ में नहीं आई रामदेव की पतंजलि, टाटा संस, ड्रीम 11, बायजू मुकाबले में

इस साल 100 करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान होने की आशंका: मालूम हो, बीसीसीआई को पिछले साल आईपीएल के स्पॉन्सर से 618 करोड़ रुपए की कमाई हुई थी। इसमें से 440 करोड़ रुपए उसे वीवो (VIVO) से मिले थे। अन्य ऑफिशियल पार्टनर्स से 188 करोड़ रुपए मिले थे। इस बार ऑफिशियल पार्टनर के तीन स्लॉट खाली हैं। कोविड-19 के कारण माना जा रहा है कि इस बार बीसीसीआई की आईपीएल के स्पॉन्सरशिप से कमाई कम होगी। बोर्ड को नए टाइटल स्पॉन्सर से 225-250 करोड़ रुपए तक मिलने की उम्मीद है। वहीं, तीन ऑफिशियल पार्टनर्स से 60-70 करोड़ रुपए मिलने की उम्मीद है। ऐसे में इस बार 500 करोड़ रुपए तक की कमाई मुश्किल दिख रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कॉमनवेल्थ गेम्स की गोल्ड मेडलिस्ट एन सिक्की रेड्डी को हुआ कोरोना, पीवी सिंधु पर भी मंडराया कोविड-19 के संक्रमण फैलने का खतरा
2 भुखमरी के कगार पर टी20 वर्ल्ड सीरीज के विजेता, प्राइज मनी छोड़ BCCI से भी नहीं मिली कोई मदद
3 रामदेव रिंग में दे चुके हैं ओलंपिक मेडलिस्ट को पटखनी, अब IPL में मुंकेश अंबानी की कंपनी को टक्कर देने की तैयारी में
IPL 2020 LIVE
X