ताज़ा खबर
 

‘लॉकडाउन में पिता ने छत पर ही लगा दिया था नेट, लक्ष्मण के कहने पर सनराइजर्स ने खरीदा,’ जम्मू-कश्मीर के अब्दुल समद की कहानी

28 अक्टूबर को 19 साल के होने वाले समद लॉकडाउन से पहले अपने मेंटर इरफान पठान से शॉर्ट ट्रेनिंग सेशन के लिए वड़ोदरा में थे। हालांकि, मार्च में लॉकडाउन लगने के कारण उन्हें अपना दौरा छोटा करना पड़ा और वह जम्मू-कश्मीर लौट आए।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: October 2, 2020 4:13 PM
Abdul Samad IPL 2020 SRHअब्दुल समद ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मैच खेलकर आईपीएल में अपना डेब्यू किया।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 में सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ जीत हासिल कर अपना खाता खोला। इस मैच में जीत के हीरो बने राशिद खान। उन्होंने आईपीएल में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 14 रन देकर 3 विकेट लिए। हालांकि, हैदराबाद का एक और खिलाड़ी भी था, जिसकी काफी चर्चा हुई। यह कोई और नहीं जम्मू-कश्मीर के रहने वाले अब्दुल समद थे। समद को हालांकि, 7 गेंदें ही खेलने की मिलीं, लेकिन उन्होंने इतने में ही अपनी छाप छोड़ दी।

दिल्ली के खिलाफ मैच में पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए समद ने 7 गेंद एक चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 12 रन बनाए। मैच के बाद सोशल मीडिया पर 18 साल के इस बिग हिटर यानी अब्दुल समद की बल्लेबाजी को लेकर खूब चर्चा हुई। वह पहली बार तब चर्चा में आए थे जब उन्होंने 2019-20 के रणजी ट्रॉफी सीजन में जम्मू-कश्मीर के लिए 17 पारियों में 113 के स्ट्राइक रेट से 592 रन बनाए थे। यही नहीं, वह टूर्नामेंट में जम्मू-कश्मीर के लिए सबसे ज्यादा 36 छक्के लगाने वाले बल्लेबाज भी बने थए। समद विस्फोटक बल्लेबाजी करने के साथ-साथ लेग स्पिन गेंदबाजी भी करते हैं।

अब्दुल समद के आईपीएल नीलामी में खरीदे जाने की कहानी भी बड़ी रोचक है। पिछले साल नवंबर में भारत के पूर्व क्रिकेटर और सनराइजर्स हैदराबाद के मेंटर वीवीएस लक्ष्मण ने जम्मू-कश्मीर के कोच मिलाप मेवाड़ा को फोन कर प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ियों के बारे में पूछा था। इस पर मिलाप ने समद का नाम सुझाया था। बता दें कि देवड़ा और लक्ष्मण पुराने मित्र हैं। इसके बाद दिसंबर 2019 में नीलामी में सनराइजर्स हैदराबाद ने समद को 20 लाख के बेस प्राइस पर खरीदा। यहीं से आईपीएल 2020 में समद का सफर शुरू हुआ।

28 अक्टूबर को 19 साल के होने वाले समद लॉकडाउन से पहले अपने मेंटर इरफान पठान से शॉर्ट ट्रेनिंग सेशन के लिए वड़ोदरा में थे। हालांकि, मार्च में लॉकडाउन लगने के कारण उन्हें अपना दौरा छोटा करना पड़ा और वह जम्मू-कश्मीर लौट आए। समद ने एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में बताया था, मैंने सोचा था कि घर पर कुछ स्ट्रेचिंग और थोड़ा अभ्यास करूंगा। लेकिन बल्लेबाजी अभ्यास को लेकर समस्या थी। इस पर मेरे पिता ने घर की छत पर ही नेट लगा दिया। उसके बाद मैंने छत पर ही बल्लेबाजी का अभ्यास किया।

समद ने बताया कि लॉकडाउन के कारण उनका मार्गदर्शन करने वाला कोई नहीं था। ऐसे में उन्होंने अपनी प्रैक्टिस के वीडियो इरफान पठान को भेजने शुरू किए। इरफान पठान उनके वीडियो देखते और फिर जो गलतियां होतीं वह उन्हें बताते। समद के मुताबिक, इरफान पठान के इस तरह से कोचिंग देने में उनका प्रदर्शन सुधारने में काफी मदद मिली।

समद आईपीएल में हिस्सा लेने वाले परवेज रसूल और रसिक सलाम के बाद जम्मू-कश्मीर के तीसरे क्रिकेटर हैं। हालांकि, मंजूर डार भी आईपीएल नीलामी में बिक चुके हैं, लेकिन उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 CSK vs SRH: मैच में चार रिकॉर्ड बना सकते हैं महेंद्र सिंह धोनी; कोहली, रोहित और रैना के क्लब में होने का मौका
2 ‘मुरली विजय टेस्ट में कमबैक के लिए IPL में प्रैक्टिस नहीं करें’, CSK के ओपनर पर वीरेंद्र सहवाग का तंज
3 7 ग्रिप वाले बल्ले से खेलते हैं कीरोन पोलार्ड; 150+ की औसत से बनाते हैं रन, लगा चुके हैं 1300 से ज्यादा बाउंड्रीज
यह पढ़ा क्या?
X