ताज़ा खबर
 

चेन्नई को चैंपियन बनाने वाले शेन वॉटसन ने लिया संन्यास, पिछले साल खून से लथपथ होकर भी खेली थी यादगार पारी

आईपीएल में वॉटसन ने 145 मुकाबले खेले। इनमें से चेन्नई के लिए 43 मैच में 1182 रन बनाए और 6 विकेट लिए। आईपीएल में उनका ओवरऑल रन 3874 है। इस दौरान 4 शतक लगाए और 92 विकेट लिए।

IPL 2020, CSK, Shane Watson, Shane Watson retirementशेन वॉटसन 2008 में आईपीएल जीतने वाली राजस्थान की टीम में भी थे और 2018 में चैंपियन बनने वाली चेन्नई के टीम में रह चुके हैं। (सोर्स – सोशल मीडिया)

चेन्नई सुपरकिंग्स के ऑस्ट्रेलियाई ओपनर शेन वॉटसन ने क्रिकेट के सभी प्रारुपों से संन्यास लेने का फैसला किया है। उन्होंने इसकी जानकारी फ्रैंचाइजी को आईपीएल 2020 में टीम के आखिरी मैच के बाद दे दी थी। वॉटसन चेन्नई और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच हुए आखिरी मुकाबले में नहीं खेले थे। इंटरनेशनल क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले चुके वॉटसन कई देशों में फ्रैंचाइजी क्रिकेट खेल रहे थे। 39 साल के इस ऑलराउंडर का प्रदर्शन इस सीजन में खास नहीं रहा था। टीम पहली बार प्लेऑफ में भी नहीं पहुंची।

2018 में वॉटसन को चेन्नई ने अपनी टीम में शामिल किया था। उन्होंने सीएसके को चैंपियन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ शतक लगाया था। वॉटसन ने 2018 सीजन में 6 विकेट लेने के साथ-साथ 15 मैच में 555 रन भी बनाए थे। इसके बाद 2019 में उनके बल्ले से 17 मैच में 398 रन निकले थे। इस सीजन में वॉटसन के बल्ले से 11 मैच में 299 रन ही निकले। उन्होंने दो अर्धशतक लगाया। निराशाजनक प्रदर्शन के बाद उन्होंने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट को अलविदा कह दिया।

पिछले साल आईपीएल के फाइनल में मुंबई इंडियंस के खिलाफ सीएसके के लिए खेलते हुए 80 रन बनाए थे। उस दौरान उनके घुटने से लगातार खून निकल रहा था। तब वॉटसन ने 59 गेंद की पारी में 8 चौके और 4 छक्के लगाए थे। हालांकि, उनकी टीम को जीत नहीं मिली थी। मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 8 विकेट पर 149 रन बनाए थे। जवाब में चेन्नई की टीम 20 ओवर में 7 विकेट पर 148 रन ही बना पाई थी। सीएसके की टीम 1 रन से फाइनल हार गई थी।

सूत्रों के मुताबिक, ‘‘आखिरी मैच के बाद वॉटसन ने ड्रेसिंग रूम में सभी खिलाड़ियों को बताया कि वे रिटायर हो रहे हैं। फ्रेंचाइजी के लिए खेलना उनके लिए बहुत सौभाग्य की बात थी। इस दौरान वॉटसन भावुक थे।’’ सीएसके के साथ जुड़ने से पहले वॉटसन राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर के लिए खेले थे। उन्होंने 2008 में राजस्थान को चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी।

वॉटसन ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 59 टेस्ट, 190 वनडे और 58 टी20 मुकाबले खेले थे। इस दौरान टेस्ट में 3731, वनडे में 5757 और टी20 में 1462 रन बनाए। तीनों फॉर्मेट में उनके नाम शतक है। वॉटसन ने टेस्ट में 75, वनडे में 168 और टी20 में 48 विकेट अपने नाम किए थे। आईपीएल में उन्होंने 145 मुकाबले खेले। इनमें से चेन्नई के लिए 43 मैच में 1182 रन बनाए और 6 विकेट लिए। आईपीएल में उनका ओवरऑल रन 3874 है। इस दौरान 4 शतक लगाए और 92 विकेट लिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 DC vs RCB: बंगलौर को हराकर दिल्ली की टीम दूसरे नंबर पर पहुंची, हार के बावजूद 4 साल बाद प्लेऑफ में विराट कोहली की टीम
2 दिल्ली और आरसीबी की टीम प्लेऑफ में पहुंची, अजिंक्य रहाणे और कगिसो रबाडा की बदौलत कैपिटल्स ने जीत दर्ज की
3 शाहरुख खान और KKR की कहानी: SRK ने 367 करोड़ में खरीदी थी टीम, 2 बार की चैंपियन नाइट राइडर्स की ब्रांड वैल्यू जान हो जाएंगे हैरान
ये पढ़ा क्या ?
X