अर्शदीप सिंह के संघर्ष की कहानी; IPL के लिए कबाड़ी की दुकान से टायर लेकर की थी प्रैक्टिस, अब हैं किंग्स इलेवन पंजाब के ‘संकटमोचक’

अर्शदीप ने बताया, ‘‘इस फॉर्मेट में आप डर नहीं सकते हैं। यह बल्लेबाजों के लिए मुफीद है। ऐसे में आपको रन रोकने और उन्हें प्रेशर में लाने के बारे में सोचना चाहिए। मैंने स्लो और यॉर्कर गेंदों पर काम किया है। मुझे शमी भाई (मोहम्मद शमी) ने ऐसा करने के लिए कहा है। उन्होंने खुद पर विश्वास रखने के लिए कहा।’’

IPL 2020, Arshdeep Singh, Kings xi punjab, ipl
अर्शदीप ने अब तक सीजन में 6 मैच में 9 विकेट अपने नाम कर लिए हैं। (सोर्स – आईपीएल)

आईपीएल के 43वें मैच में किंग्स इलेवन पंजाब ने सनराइजर्स हैदराबाद को 12 रन से हरा दिया। इस मैच में हैदराबाद को 3 ओवर में जीत के लिए 20 रन बनाने थे। ऐसा माना जा रहा था कि हैदराबाद की टीम मैच आसानी से जीत जाएगी। विजय शंकर और जेसन होल्डर क्रीज पर थे। कप्तान केएल राहुल ने 18वें ओवर के लिए 21 साल के अर्शदीप सिंह को बुलाया। उन्होंने विजय शंकर को आउट कर दिया और सिर्फ 3 रन दिए। यहां से मैच पलट गया। अगले ओवर में क्रिस जॉर्डन ने 3 रन देकर दो विकेट लिए। आखिरी ओवर में हैदराबाद को 14 रन चाहिए थे। अर्शदीप ने 1 रन दिए और 2 विकेट अपने नाम किए। पंजाब मैच जीत गया।

पंजाब ने 2019 में हुए ऑक्शन में अर्शदीप को 20 लाख रुपए में खरीदा था। पहले सीजन में उन्होंने 3 मैच में 3 विकेट लिए थे। इस बार शुरुआती मैच में अर्शदीप को खेलने का मौका नहीं मिला। पंजाब ने लगातार मैच हारने के बाद प्रयोग के तौर पर अर्शदीप को टीम में लिया। यह प्रयोग सफल रहा। अर्शदीप ने अब तक सीजन में 6 मैच में 9 विकेट अपने नाम कर लिए हैं। अर्शदीप को पंजाब की गेंदबाजी का ‘संकटमोचक’ कहा जा रहा है। ऐसा इसलिए कि उन्होंने अब तक 19 ओवर किए हैं। इनमें 16 ओवर या तो पावरप्ले या आखिरी ओवरों (डेथ ओवर) में किए हैं। दोनों मौकों पर गेंदबाजों पर जबरदस्त दबाव होता है।

2015 में अर्शदीप चंडीगढ़ के सेक्टर 36 में कोच जसवंत राय से मिले थे। राय को उनकी विविधता और क्षमता पसंद आई, लेकिन एक समस्या भी दिखाई दी। जसवंत राय ने कहा, ‘‘मैं उसकी ऊंचाई और गेंदबाजी की कला से प्रभावित हुआ था। शुरू में वह छह अलग तरह की गेंद करना चाहता था। मैंने उससे कहा कि सबसे पहले एक लाइन पर गेंदबाजी करो। हमने उसे दो-तीन घंटे तक कई दिन गुड लेंग्थ पर गेंदबाजी कराया। उसने कर्नल सीके नायडू ट्रॉफी में पंजाब अंडर-23 टीम के लिए 6 मैच में 27 विकेट ले लिए। इससे उसे पहचान मिली।’’

अर्शदीप पिछले साल नवंबर में अंडर-19 चैलेंजर ट्रॉफी से पहले चोटिल हो गए। जसवंत राय ने बताया, ‘‘चोट से उसकी तेजी में कमी आई। जुलाई में हमने फिर से ट्रेनिंग शुरू की। रन-अप पर ज्यादा ध्यान दिया। उसके हाथों के घुमाव को लेकर हमने काम किया। अगली ट्रेनिंग आईपीएल के लिए फिट होने के लेकर थी। इसके लिए उसने मुझसे कहा कि कार की टायर का इंतजाम कीजिए। इसके 15 दिन बाद उसने ट्रक का टायर मांगा। मैंने कबाड़ी की दुकान से ट्रक का टायर लाकर दिया। अब उसकी रनिंग नए टायर की तरह हो गई है।’’

अर्शदीप ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हुए मुकाबले में घातक गेंदबाजी की थी। कप्तान राहुल ने उनकी तारीफ में कहा था कि छह गेंदों पर लगातार यॉर्कर करना तारीफ के काबिल है। The Indian Express से बातचीत में अर्शदीप ने बताया, ‘‘इस फॉर्मेट में आप डर नहीं सकते हैं। यह बल्लेबाजों के लिए मुफीद है। ऐसे में आपको रन रोकने और उन्हें प्रेशर में लाने के बारे में सोचना चाहिए। मैंने स्लो और यॉर्कर गेंदों पर काम किया है। मुझे शमी भाई (मोहम्मद शमी) ने ऐसा करने के लिए कहा है। उन्होंने खुद पर विश्वास रखने के लिए कहा।’’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट