ताज़ा खबर
 

IPL 2020: BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने लिया अभूतपूर्व फैसला, नो बॉल के लिए होगा अलग अंपायर

इस सीजन में ऐसी कोई गलती नहीं हो, इसके लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बड़ा फैसला लिया है। इंडियन प्रीमियर लीग के अगले सीजन यानी आईपीएल 2020 के मैच के दौरान पांच अंपायर हो सकते हैं।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: December 3, 2019 10:15 PM
मुंबई इंडियंस के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने IPL 2019 में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ मैच के दौरान नो बॉल फेंकी थी, लेकिन अंपायर सुंदरम रवि उसे देख नहीं पाए थे और उन्होंने वैध बॉल करार दिया था। (फाइल फोटो)

इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के पिछले सीजन के एक मैच की आखिरी गेंद को अंपायर सुंदरम रवि ने नो बॉल नहीं दिया था। हालांकि, टीवी रीप्ले में साफ दिख रहा था कि वे लसिथ मलिंगा का पैर क्रीज से बाहर था। इसी तरह मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स के एक मैच के दौरान भी अंपायर नो बॉल को पकड़ने में चूक हो गई थी।

इन दोनों ही गलतियों का असर अंपायरों पर तो नहीं पड़ा, लेकिन बेंगलुरु और चेन्नई को जरूर खामियाजा भुगतना पड़ा था। निर्णायक मोड़ पर अंपायरों की उन गलतियों के कारण दोनों ही टीमें अपने-अपने मैच हार गईं थीं। इस सीजन में ऐसी कोई गलती नहीं हो, इसके लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बड़ा फैसला लिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के अगले सीजन यानी आईपीएल (IPL) 2020 के मैच के दौरान पांच अंपायर हो सकते हैं। इसमें एक अंपायर नो बॉल के लिए हो सकता है। मुंबई में हुई गवर्निंग काउंसिल की बैठक में नो बॉल के मुद्दे पर चर्चा हुई। बताया जा रहा है कि इस बाबत सौरव गांगुली ने अहम फैसला लिया है। फैसले के मुताबिक, मैच के दौरान एक अंपायर की भूमिका गेंदबाज के फ्रंट फुट पर नजर रखने की होगी, ताकि कोई भी नो बॉल मिस न होने पाए।

आईपीएल (IPL) की गवर्निंग काउंसिल के एक वरिष्ठ पदाधिकारी के मुताबिक, अगर सबकुछ सही रहा तो टूर्नामेंट के अगले सीजन यानी IPL 2020 से नो बॉल पर नजर रखने के लिए स्पेशलिस्ट अंपायर तैनात हो सकता है। यह अन्य चारों अंपायरों से अलग होगा। पांचवें अंपायर का काम सिर्फ फ्रंट फुट नो बॉल पर नजर रखना होगा।

आईपीएल में पांचवें अंपायर को नियुक्त करने से पहले बीसीसीआई इसका टेस्ट भी कर चुका है। रिपोर्टों की मानें तो भारत और बांग्लादेश के बीच हुए डे-नाइट टेस्ट मैच के दौरान एक अंपायर को केवल नो बॉल पर नजर रखने के लिए तैनात किया गया था। सौरव गांगुली का ये टेस्ट सफल रहा था। यही वजह है कि अब वे इसे आईपीएल में लागू करने के लिए तैयार दिख रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 RCB ने NASA से की विराट कोहली-एबी डिविलियर्स की गेंदों को ढूंढने की अजीब मांग, लोगों ने कहा- पहले IPL Trophy तो खोज लो
2 South Asian Games में मेहुली घोष ने साधा गोल्ड पर निशाना, भारतीय निशानेबाजों ने जीते सभी पदक
3 राशिद खान ने मनीष पांडे से पूछा- शादी में Invite क्यों नहीं किया?, फैंस बोले- दावत खिलाने के लिए पैसे नहीं थे
जस्‍ट नाउ
X