ताज़ा खबर
 

VIDEO:प्रचंड फॉर्म में दिखे धोनी, मारा 111 मीटर लंबा छक्का

IPL 2019: CSK के कप्तान एमएस धोनी रविवार को अपने पुराने फॉर्म में दिखाई दिए। धोनी ने CSK को लगभग हारे हुए मैच में जीत की कगार पर पहुंचा ही दिया था। अंतिम ओवर की लास्ट बॉल पर CSK के हाथों से जीत फिसल गई।

धोनी ने अंतिम ओवर में 3 छक्के और 1 चौका मारा। (फोटोः पीटीआई)

CSK v/s RCB IPL 2019: आईपीएस में CSK और RCB के बीच खेला गया मैच लाजवाब था। अंतिम ओवर तक खिंचे रोमांच में सबसे खास था तो वो धोनी की पुरानी प्रचंड फॉर्म। माही काफी लंबे समय बाद अपने पुराने रंग में दिखाई दिए। अंतिम ओवर में जीत के लिए CSK को 26 रन की दरकार थी। सामने थे तेज गेंदबाज उमेश यादव।

धोनी ने उमेश की पहली ही गेंद पर स्कवायर लेग बाउंड्री पर चौका लगाकर RCB की धड़कनें बढ़ा दीं। मैच के दूसरे गेंद पर धोनी ने जो किया वो दर्शकों को हैरान कर देने वाला था। उमेश यादव की शॉर्ट ऑफ लेंथ गेंद को धोनी ने मिडविकेट के ऊपर से 6 रन के लिए मार दिया। धोनी का यह छक्का 111 मीटर लंबा था।

इसके बाद भी धोनी ने अगली तीन गेंदों पर दो छक्कों की मदद से 14 रन बटोरे लेकिन वह उमेश की अंतिम धीमी गेंद को समझने में नाकाम रहे। इस गेंद पर एक रन चुराने के चक्कर में नॉन स्ट्राइकिंग एंड से रन लेने के दौड़े शार्दुल ठाकुर विकेट कीपर पार्थिव पटेल के डायरेक्ट थ्रो पर रन आउट हो गए। इस तरह चेन्नई मैच को 1 रन से हार गई।

मैच में महेंद्र सिंह धोनी ने अपने टी-20 कैरियर का सबसे सर्वाधिक स्कोर 84 रन (48 गेंद) बनाया। भारत के लिए खेल गए 98 टी-20 मैचों में धोनी का सर्वाधिक स्कोर 56 रन था। वहीं यह धोनी का आईपीएल का भी सर्वाधिक स्कोर है। धोनी का पिछला बेस्ट स्कोर 79 रन था। यह उन्होंने पिछले साल ही किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ बनाया था। अंतिम ओवर में जीत के लिए जरूरी 26 रनों में धोनी ने 3 छक्के व 1 चौका मारा।

हार के बाद 37 वर्षीय धोनी ने कहा, ‘मुझे लगता है यह अच्छा गेम था। हमने उन्हें सामान्य से कम स्कोर पर रोककर बहुत बढ़िया काम किया था लेकिन हमें शीर्ष क्रम में अच्छी बल्लेबाजी की जरूरत थी। एक बार जब आप विरोधी टीम के अटैक को जान जाते हैं, तो आपको अपने प्लान पर टिका रहना होता है और यदि आप कई विकेट गंवा देते हैं तो आप पर दबाव आ जाता है। जिस तरह गेंदबाजों ने शुरुआत की इसके बाद मिडिल ऑर्डर इसके बाद उबर नहीं पाता।’

धोनी ने कहा, ‘हमें यह सावधानी से देखना होगा कि किन एरिया में रिस्क लेना है। अंतिम में यह काफी मुश्किल था। बाउंड्री की जरूरत थी, हां हम एक रन से हार गए लेकिन उसी समय हमें यह देखना था यदि कुछ गेंदे खाली चली जाती हैं और क्या हम कुछ अतिरिक्त बाउंड्री हासिल कर सकते हैं या नहीं.’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App