ताज़ा खबर
 

IPL 2018: अब बल्लेबाजों के लिए काल हैं जसप्रीत बुमराह, पहले तीन सालों में लिए थे केवल 11 विकेट

बुमराह की इस सफलता के पीछे न्यूजीलैंड की दो अहम शख्सियतें हैं। पूर्व खिलाड़ी और कोच जॉन राइट और शेन बॉन्ड के कारण उनकी गेंदबाजी में धार आई। मुंबई इंडियंस के गेंदबाजों ने इन्हीं से यॉर्कर, स्लो बॉल और बाउंसर्स के गुर सीखे।

मुंबई इंडियस के जसप्रीत बुमराह अपनी यॉर्कर के लिए जाने जाते हैं। (फोटोः फेसबुक)

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के सीजन-11 का बिगुल बज चुका है। सात अप्रैल से टूर्नामेंट का आगाज होगा। वानखेड़े स्टेडियम में पहला मुकाबला होगा चेन्नई और मुंबई के बीच। इस मैच में जसप्रीत बुमराह भी खेलेंगे। वह मुंबई इंडियंस के तेज गेंदबाज हैं। उनका फॉर्म बताता है कि वह बल्लेबाजों के लिए किसी काल से कम नहीं है। कातिलाना यॉर्कर-बाउंसर्स से वह पलक झपकते खिलाड़ियों को पवेलियन पहुंचा देते हैं। मगर बुमराह के साथ पहले ऐसा नहीं था। शुरुआत के दो सीजन्स में वह सिर्फ 11 विकेट झटक पाए थे। कम विकेटों के पीछे का कारण अधिक मौके न मिलना था। क्रिकेट जानकारों के मुताबिक, बुमराह ने जब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नामी खिलाड़ियों के विकेट झटके, तब वह लोगों की नजरों में आए।

आज बुमराह मुंबई टीम में गेंदबाजी खेमे का असल हथियार माने जाते हैं, जबकि भारतीय क्रिकेट टीम के सीमित ओवर्स में वह सबसे बेहतरीन गेंदबाज बने हैं। आईपीएल के शुरुआती तीन सीजन्स में उन्होंने 17 मैच खेले। वह तब सिर्फ 11 विकेट ही ले सके थे। लेकिन वक्त के साथ बुमराह को मौके मिले, जिन्हें उन्होंने भुनाया। खुद के प्रदर्शन में शानदार परिवर्तन किया। अब वह मुंबई इंडियंस टीम के डेथ ओवर (16-20 ओवर्स) स्पेशलिस्ट के तौर पर जाने जाते हैं।

बुमराह की इस सफलता के पीछे न्यूजीलैंड की दो अहम शख्सियतें हैं। पूर्व खिलाड़ी और कोच जॉन राइट और शेन बॉन्ड के कारण उनकी गेंदबाजी में धार आई। मुंबई इंडियंस के गेंदबाजों ने इन्हीं से यॉर्कर, स्लो बॉल और बाउंसर्स के गुर सीखे। वहीं, श्रीलंकाई खिलाड़ी और मुंबई टीम में साथी रहे लसिथ मलिंगा से टो क्रशर की बारीकियां जानीं। भारतीय खिलाड़ी ने आईपीएल 2016-17 में 24 की औसत के साथ 35 विकेट लिए थे, जिसमें आधे विकेट डेथ ओवर (16-20) में लिए गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App