ताज़ा खबर
 

IPL 2018: गौतम गंभीर ने किया खुलासा, किस वजह से छोड़ी दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की कप्‍तानी

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम में कप्तान के तौर पर लौटे गौतम गंभीर ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

Author नई दिल्ली | Published on: April 25, 2018 6:26 PM
गौतम गंभीर।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम में कप्तान के तौर पर लौटे गौतम गंभीर ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। गंभीर ने टीम को लगातार मिली हार के बाद इस्तीफा दिया और कहा कि वह कप्तानी का दबाव नहीं झेल पा रहे हैं। उनके स्थान पर युवा बल्लेबाज श्रेयर अय्यर टीम के कप्तान होंगे। गंभीर ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, “अभी अंकतालिका में टीम जहां पर है, एक कप्तान के तौर पर मैं उसकी पूरी जिम्मेदारी लेता हूं। टीम के प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए मैंने कप्तानी छोड़ने का फैसला लिया है। मेरी जगह श्रेयस अय्यर टीम के कप्तान होंगे। फ्रेंचाइजी को भी लगता है कि वह इस पद के लिए सही शख्स हैं। हमें अभी भी लगता है कि हम स्थिति को बदल सकते हैं। हमे अभी भी आठ में से सात मैच जीतने हैं, जो मुमकिन है। हममें इसकी काबिलियत है।”

गंभीर ने कहा, “यह पूरी तरह से मेरा फैसला है। मैंने कल डेयरडेविल्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हेमंत दुआ से बात की थी और इस बात की जानकारी दी थी। मुझे लगता है कि यह फैसला लेने का यह सही समय है क्योंकि अभी भी हम टूर्नामेंट में बचे हुए हैं।”गंभीर ने कहा, “कई बार आप चीजों को बदलने के लिए ज्यादा उतावले हो जाते हैं। ऐसे में कई बार चीजें फिर आपके हिसाब से नहीं होती हैं। जब आप चीजों को बदलना चाहते तो काफी मुश्किल हो जाती है। मैं शायद अपने ऊपर आई जिम्मेदारी का दबाव नहीं झेल पाया। कई बार जब आप इस दबाव को नहीं झेल पाते हैं और इससे आपका और टीम का प्रदर्शन खराब होता है तो आपको इसकी जिम्मेदारी लेनी होती है।”

दिल्ली के कोच और आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग और फ्रेंचाइजी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हेमंत दुआ ने गंभीर का समर्थन किया है।

पोंटिग ने कहा, “मैं गंभीर की बात का पूरा समर्थन करता हूं। इस तरह का फैसला लेना हर किसी के लिए मुश्किल होता है। प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है और ऐसे में उन्हें लगता है कि टीम के पास अगर कोई है जो उसे आगे ले जा सकता है तो यह अच्छी बात है। मैं टीम को आगे रखने के लिए गंभीर को धन्यवाद देता हूं। मैं पूरी तरह से अय्यर का कप्तान के तौर पर समर्थन करता हूं। वो शानदार युवा खिलाड़ी हैं। मैं खेल में उनका अच्छा भविष्य देखता हूं।”

हेमंत ने कहा, “यह फैसला गंभीर का है और हम इसका पूरा समर्थन करते हैं। वह टीम को जीत दिलाने के लिए बेहद जुनूनी हैं। मैं फ्रेंचाइजी की तरफ से कह सकता हूं कि भारत में इस तरह के उदाहरण देखने को कम मिलते हैं। यह बड़ा फैसला है। यह बाकी खिलाड़ियों के लिए संदेश है कि उन्होंने अपने से पहले टीम को रखा। गंभीर टीम के साथ रहेंगे और अय्यर का समर्थन करेंगे। पोटिंग और गंभीर के रहते हुए अय्यर में निखार आएगा।”

टीम के नए कप्तान अय्यर ने कहा, “मैं टीम प्रबंधन, प्रशिक्षकों और गंभीर भाई का मुझे पर भरोसा जताने के लिए धन्यवाद देता हूं। मेरे लिए दिल्ली की कप्तानी करना गर्व की बात है। मैं मानता हूं कि टीम में इस टूर्नामेंट को जीतने के लिए काफी प्रतिभा है। हममें से कई लोग मानते हैं कि हम अभी भी काफी कुछ कर सकते हैं। इस समय मेरे दिमाग में कुछ भी नकारात्मक ख्याल नहीं आ रहे हैं।”

गौतम दो बार कोलकाता नाइट राइडर्स को आईपीएल का खिताब दिला कर दिल्ली की टीम में लौटे थे, लेकिन वह कोलकाता की सफलता को दिल्ली में जारी नहीं रख सके। दिल्ली की एक के बाद एक हार का झटका उनके लिए काफी भारी पड़ा और उन्होंने कप्तानी छोड़ने का फैसला किया। दिल्ली ने गंभीर की कप्तानी में छह मैच खेले जिसमें से पांच में उसे हार मिली।

Next Stories
1 CSK vs RCB: यहां देखें सीएसके बनाम आरसीबी मुकाबले का स्कोर
2 IPL 2018: इस विदेशी खिलाड़ी को टीम से बाहर कर सकती है मुंबई इंडियंस
ये पढ़ा क्या?
X