ताज़ा खबर
 

चोटिल मोर्कल ने बढ़ाई अफ्रीका की मुश्किलें, 5वें वनडे में खेलना तय नहीं

हाशिम अमला ने कहा है कि सिरीज के पांचवें और अंतिम एकदिवसीय मैच में दक्षिण अफ्रीका को चोटिल तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्कल की कमी खलेगी...

Author मुंबई | October 24, 2015 7:42 PM
राजकोट में तीसरे वनडे में पैर में चोट के बावजूद मोर्कल ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 39 रन देकर चार विकेट चटकाए थे। (फाइल फोटो-रॉयटर्स)

दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी बल्लेबाज हाशिम अमला ने कहा है कि एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट श्रृंखला के पांचवें और अंतिम एकदिवसीय मैच में मेहमान टीम को चोटिल तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्कल की सेवाएं नहीं मिल पाना लगभग तय है।

अमला ने वानखेड़े स्टेडियम में संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि मोर्ने अंतिम वनडे खेलने के लिए फिट हो पाएगा। उसने नेट पर कुछ गेंदबाजी की है और हम संभवत: रविवार को अंतिम फैसला करेंगे लेकिन मुझे नहीं लता कि वह फिट हो पाएगा।’’

राजकोट में तीसरे वनडे में पैर में चोट के बावजूद मोर्कल ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 39 रन देकर चार विकेट चटकाए थे लेकिन वह चेन्नई में चौथे वनडे में नहीं खेल पाए जिसे भारत ने 35 रन से जीतकर पांच मैचों की श्रृंखला 2-2 से बराबर कर दिया।

अमला ने साथ ही स्वीकार किया कि राजकोट में हाथ में चोट लगने के कारण अंतिम दो मैचों से बाहर हुए ऑलराउंडर जीन पाल डुमिनी के चोटिल होने से टीम का संतुलन प्रभावित हुआ है। उन्होंने हालांकि कहा कि 15 खिलाड़ियों की मजबूत टीम में सिर्फ 11 खिलाड़ियों के सहारे बड़ी श्रृंखला नहीं जीती जा सकती।

अमला ने कहा, ‘‘पिछले कुछ वर्षों में उसने (डुमिनी ने) हमारे लिए अविश्वसनीय और लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है। वह अपनी स्पिन गेंदबाजी से टीम को संतुलित करता है। इससे चीजें कुछ बदली हैं लेकिन टीम इसलिए ही होती है। कोई बड़ी श्रृंखला कभी 11 खिलाड़ियों के सहारे नहीं जीती गई, आपके पास आम तौर पर 15 खिलाड़ी होते हैं जो विभिन्न मौकों पर योगदान देते हैं।’’

दक्षिण अफ्रीका ने वानखेड़े पर अब तक तीनों एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच गंवाए हैं और इस बारे में पूछने पर अमला ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है और उन्हें रविवार को रोमांचक मुकाबले की उम्मीद जताई। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे इसके बारे में नहीं पता। मुझे नहीं लगता कि यह कोई अंतर पैदा करेगा। कुछ भी हो यह काफी महत्वपूर्ण मैच है। यह काफी करीबी और रोमांचक वनडे श्रृंखला रही।’’

अमला श्रृंखला की चार पारियों में अब तक सिर्फ 66 रन बना पाए हैं और उन्होंने उम्मीद जताई कि रविवार को चीजें बदलेंगी। उन्होंने कहा, ‘‘बेशक मैं भी चाहता था कि रन बनाऊं लेकिन आप हमेशा रन नहीं बना सकते। बेशक टीम के अन्य खिलाड़ियों को रन बनाने का मौका मिला। लेकिन यह शानदार होगा अगर मैं रविवार को अंतिम मुकाबले में रन बनाऊ। आप हमेशा टीम की जीत और टीम की सफलता में योगदान देने का प्रयास करते हो और उम्मीद करता हूं कि मेरा समय आएगा।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App