जिसका शीर्षक्रम खेलेगा बेहतर वही मारेगा मैदान

आस्ट्रेलिया को हराकर देश लौटी भारतीय टीम के हौसले बुलंद हैं। प्रमुख खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में भी उम्दा प्रदर्शन के बाद टीम की दुनियाभर में तारीफ हो रही है। इस बीच इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली टैस्ट शृंखला से पहले आस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज इयान चैपल का मानना है कि जिस भी टीम का शीर्षक्रम बेहतर होगा वही खिताब का हकदार होगा। जानते हैं दोनों टीमों के शीर्षक्रम का पांच साल में कैसा प्रदर्शन रहा है।

cricket
( बाएं से) रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, शुभमन गिल, डॉम सिबले, जैक क्राउली, रोरी बर्न्स।

एशियाई परिस्थितियों में भारत का शीर्षक्रम बेहद कारगर और खतरनाक रहा है। घरेलू पिच भारतीय टीम को दुनिया की सबसे दमदार टीमों में से एक मानी जाती है। कप्तान विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और शिखर धवन जैसे बल्लेबाजों की मौजूदगी इसके शीर्षक्रम को बेहद मजबूत बनाती है। पांच साल में एशिया में भारत ने कुल 27 टैस्ट मैच खेले हैं। इनमें भारत के शीर्ष तीन बल्लेबाजों ने 57.58 के औसत से करीब सात हजार रन बनाए हैं। इसमें 24 शतक शामिल हैं।

भारत के पास चेतेश्वर पुजारा जैसे धाकड़ बल्लेबाज भी हैं जिन्हें हर परिस्थिति में खेलने का अनुभव है। पुजारा ने 2016 से अब तक एशिया में 26 टैस्ट मैचों में सात शतक बनाए हैं। वहीं मुरली विजय के नाम छह, शिखर धवन और मयंक अग्रवाल व रोहित शर्मा के नाम तीन शतक हैं। वहीं निरंतरता के मामले में भी भारत, इंग्लैंड से आगे है। भारत ने इंग्लैड से लगभग दोगुने मैच खेलने के बाद भी शीर्षक्रम में सिफ 11 बल्लेबाजों को आजमाया वहीं इंग्लैंड ने 12 बल्लेबाजों को मौका दिया है।

मेहमान का क्या है हाल

इंग्लैंड का शीर्षक्रम एशियाई पिच पर कुछ खास नहीं कर पाया है। भारत, बांग्लादेश, पाकिस्तान, यूएई और श्रीलंका की परिस्थितियों में उसके बल्लेबाजों को जूझना पड़ा है। एक जनवरी 2016 से इंग्लैंड ने एशिया में कुल 12 टैस्ट खेले हैं। इन मैचों में इंग्लैंड के शीर्षक्रम के तीन खिलाड़ी 72 पारियों में पांच शतक की मदद से कुल 2243 रन बनाए हैं।

इस दौरान उनका औसत महज 32.50 का रहा है। इस दौरान दो शतक लगाने वाले कीटन जेनिंग्स टीम का हिस्सा नहीं हैं। एलेस्टेयर कुक और जॉनी बेयरस्टो ने एक-एक शतक लगाए हैं। कुक भी संन्यास ले चुके हैं। वहीं बेयरस्टो पहले दो टैस्ट में नहीं खेलेंगे।

सिबले-क्राउली-बर्न्स बनाम रोहित-शुभमन-पुजारा

इंग्लैंड के श्रीलंका दौरे के आधार पर देखें तो डॉम सिबले, जैक क्राउली और रोरी बर्न्स पहले टैस्ट के लिए इंग्लैंड के टॉप-3 बल्लेबाज हो सकते हैं। वहीं, रोहित शर्मा, शुभमन गिल और चेतेश्वर पुजारा भारत के शीर्षक्रम की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं। सिबले, क्राउली और बर्न्स इससे पहले कभी भारत में टैस्ट मैच नहीं खेले हैं। इस लिहाज से अगर इंग्लैंड का थिंक टैंक मोइन अली, जोस बटलर या बेन स्टोक्स में से किसी एक को टॉप आॅर्डर में भेजे तो हैरानी नहीं होगी।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट