ताज़ा खबर
 

वियना में हुए आतंकी हमले में बाल-बाल बचा भारतीय दिग्गज टेनिस प्लेयर, कोच की तत्परता से टला संकट

भारतीय टेनिस प्लेयर के मुताबिक, जहां आतंकी हमला हुआ वहां सोमवार रात कुछ ज्यादा ही भीड़ थी, क्योंकि ऑस्ट्रियाई सरकार ने कोरोनावायरस महामारी पर नियंत्रण के लिए एक और लॉकडाउन का ऐलान किया था, जो सोमवार की आधी रात से लागू होने वाला था।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: November 5, 2020 11:56 AM
Terror Attack Central Vienna Austriaऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में 3 नवंबर को 6 जगहों पर आतंकी हमले हुए थे। इनमें कई लोगों की मौत हो गई थी।

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में 3 अक्टूबर की रात आतंकी हमले में 4 लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस ने एक हमलावर को मार भी गिराया। भारत के स्टार टेनिस खिलाड़ी शशिकुमार मुकुंद भी इस हमले की चपेट में आ सकते थे, लेकिन उनके कोच की तत्परता ने उन्हें घटनास्थल पर पहुंचने से रोक दिया और वह हमले का आशंकित शिकार होने से बच गए। हालांकि, सायरन बजाती पुलिस की गाड़ियां और सड़कों पर दौड़ रही एम्बुलेंस का मंजर उनके जेहन में अब भी बसा हुआ है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, भारत के चौथे नंबर के एकल टेनिस खिलाड़ी और 294 वर्ल्ड रैंकिंग वाले शशिकुमार मुकुंद सोमवार रात वियना स्थित अपने अपार्टमेंट में डिनर की तैयारी कर रहे थे, तभी पुलिस की एक बटालियन और कई सारी एम्बुलेंस उनके घर से बमुश्किल 2 किलोमीटर दूर स्थित सिटी सेंटर की भागी जा रही थीं। शशिकुमार पहले तो कुछ समझ नहीं पाए। कुछ ही मिनट बात उनके मोबाइल फोन की घंटी बजी। दूसरे ओर उनके कोच मार्टिन स्पोटल (Martin Spoettl) थे। मार्टिन ने शशिकुमार से कहा, देखो सभी दरवाजे और खिड़कियां बंद कर लो और घर पर ही रहो। जब तक मैं नहीं कहूं, तब तक तुम घर से बाहर नहीं निकलना।

शशिकुमार ने बताया, सिटी सेंटर बहुत कॉमन प्लेस है। कोई भी व्यक्ति वहां आसानी से आ-जा सकता है। वह काफी भीड़भाड़ वाला इलाका है। वहां सभी बड़े-बड़े ब्रांड्स की दुकानें, कैफे, रेस्टोरेंट और भी वह सब कुछ है जो किसी को भी चाहिए। सामान्यतया मैं भी वहां हर सप्ताहांत जाता हूं। सोमवार रात मैं भी वहां जाने की सोच रहा था, लेकिन मुझे थोड़ा आलस महसूस हुआ और तभी यह आतंकी हमला हो गया।

शशिकुमार ने बताया, उस इलाके में सोमवार रात कुछ ज्यादा ही भीड़ थी, क्योंकि ऑस्ट्रियाई सरकार ने कोरोनावायरस महामारी पर नियंत्रण के लिए एक और लॉकडाउन का ऐलान किया था, जो सोमवार की आधी रात से लागू होने वाला था। पिछले 2 महीने में यूरोप के 5 शहरों में आतंकी हमले हो चुके हैं। इससे पहले जर्मनी के ड्रेसडेन और फ्रांस के पेरिस, कॉनफ्लैंस-सैंटे-होनोरने और नीस में भी आतंकी हमले हुए थे।

शशिकुमार ने बताया, यहां पहले ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है। वियना को चिल्ड-आउट हब के रूप में जाना जाता है, जो यूरोप में एक बहुत ही शांत जगह है। जब ऐसा कुछ होता है, तो लोग स्पष्ट रूप से बहुत हिल जाते हैं। इस पर भी जब खबर मिलती है कि एक आतंकवादी (संदिग्ध) अब भी पकड़ा नहीं गया है। वह शहर में कहीं घूम रहा है। जाहिर ऐसे में निश्चित रूप से डर का माहौल है। आतंकी हमले से एक दिन पहले ही वियना में टेनिस का बहुत बड़ा टूर्नामेंट एटीपी 500 वियना ओपन खत्म हुआ था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिलेर दिल्ली और मजबूत मुंबई में कांटे के मुकाबले की संभावना, रोहित शर्मा की वापसी से बढ़ा इंडियंस का मनोबल
2 सुनील गावस्कर ने दी रोहित शर्मा का दोबारा फिटनेस टेस्ट लेने की सलाह, कहा- इसमें कुछ भी गलत नहीं
3 VIDEO: पृथ्वी शॉ टूर के दौरान गणपति बप्पा संग रखते हैं पिता की तस्वीर, बैट पकड़कर हैं सोते
यह पढ़ा क्या?
X