ताज़ा खबर
 

रियो पैरालंपिक: इवेंट के लिए पुकारा जाता रहा नाम, वॉर्मअप करने में व्यस्त रहे सुंदर, टूट गया मेडल का सपना

सुंदर मैदान पर 1 मिनट 20 सेंकेंड की देरी से पहुंचे, जिसके बाद उन्हें मुकाबले में भाग नहीं लेने दिया गया। वहीं, सुंदर के जीजा शेर सिंह खटाना ने उनके खिलाफ साजिश किए जाने का आरोप लगाया।
Author रियो डि जेनेरियो | September 15, 2016 13:48 pm
भारतीय पैरालंपियन सुरेन्द्र सिंह गुर्जर जिन्हें मैदान पर लेट से पहुंचने के कारण रियो पैरालंपिक के भाला फेंक स्पर्धा से डिस्क्वालिफाइ कर दिया गया।

रियो में चल रहे पैरालंपिक में जहां एक तरफ भारतीय एथलीट देवेंद्र झांझरिया भाला फेंक स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने का जश्न मना रहे थे वहीं, एक अन्य भारतीय एथलीट सुंदर सिंह गुर्जर निराश होकर उन्हें देख रहे थे। गुर्जर को भी भाला फेंक स्पर्धा में भाग लेना था लेकिन निर्धारित समय पर मैदान में नहीं पहुंच पाने के कारण उन्हें प्रतियोगिता में भाग लेने से रोक दिया गया। सुंदर सिंह गुर्जर के एक मिनट 20 सेकंड देर से पहुंचने के कारण उन्हें डिसक्वालिफाई कर दिया गश। पैरालंपिक कमेटी ऑफ इंडिया (पीसीआई) ने मामले की जांच कराए जाने की बात कही है।

इस बारे में पीसीआई के कोषाध्यक्ष धीरज उपाध्याय ने बताया कि सुंदर सिंह मुकाबले से पहले सभी खिलाड़ियों के साथ वॉर्मअप कर रहे थे। शायद वॉर्मअप पर ध्यान ज्यादा रहने के कारण वे अपना नाम नहीं सुन पाए और मैदान पर 1 मिनट 20 सेंकेंड की देरी से पहुंचे, जिसके बाद उन्हें मुकाबले में भाग नहीं लेने दिया गया। वहीं, सुंदर के जीजा शेर सिंह खटाना ने आरोप लगाया है कि सुंदर के खिलाफ साजिश रची गई है। उन्होंने अपने बयान में कहा कि सुंदर जब वॉर्मअप के बाद कॉलरूम में लौट रहे थे, तब उन्हें किसी ने माला पहनाई। उसकी महक से वे कुछ पल के लिए होश खो बैठे और उन्हें देर हो गई। इससे पहले 2 अगस्त, 2016 को शेर सिंह खटाना ने आरोप लगाया था कि झाझरिया सुंदर को डोप टेस्ट में फंसाने के लिए साजिश रच रहे हैं। उन्हें जूस या खाने में प्रतिबंधित पदार्थ दिया जा सकता है।

वहीं, दूसरी ओर सुंदर के भाई ने दावा किया कि अंग्रेजी नहीं समझ पाने की वजह से ऐसा हुआ। ऑर्गनाइजर्स ने उन ज्यादातर खिलाड़ियों को ट्रांसलेटर मुहैया कराए थे जो अंग्रेजी नहीं समझते लेकिन सुंदर के पास कोई ट्रांसलेटर नहीं था। भाला फेंक स्पर्धा के एफ46 इवेंट में देवेंद्र झाझरिया के साथ रिंकू हुड्डा (पांचवां स्थान) और सुंदर सिंह गुर्जर भारत की तरफ से हिस्सा ले रहे थे। सुंदर इन तीनों में मेडल के सबसे तगड़े दावेदार थे। उन्होंने इसी साल मार्च में पैरा-नेशनल में 68.42 मीटर भाला फेंका था। इसके अलावा, इसी साल दुबई में आईपीसी एथलेटिक्स ग्रांप्री में गोल्ड जीता था। पैरालंपिक कमेटी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने इस मामले में जांच के बाद दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात कही है। वहीं, खेल मंत्री विजय गोयल ने कहा कि इसको लेकर खेल मंत्रालय ने रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट आने के बाद जरूरी कार्रवाई की जाएगी।

Read Also: फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में छठी बार रविंद्र जड़ेजा ने किया यह कारनामा, इंडिया ब्‍लू को दिलाई जीत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule