ताज़ा खबर
 

खूबसूरत लड़की पर आ गया इस भारतीय क्रिकेटर का दिल, चलती ट्रेन में ही कर दिया था प्रपोज

ट्रेन एक बेहद खूबसूरत जगह से गुजरने लगी। आस-पास का वातावरण ऐसा कि मन आनंदित हो जाए। बस फिर क्या था। इस क्रिकेटर को लगा कि इससे अच्छा मौका शायद ही कभी मिले।

प्रतीकात्मक चित्र।

भारत के सबसे शानदार ऑलराउंडर और सर्वकालीन महान क्रिकेटर कपिल देव की 1983 विश्व कप सेमीफाइनल में जिम्बाब्वे के खिलाफ 175 नाबाद रनों की पारी को शायद ही कोई भुला सके। उन्हीं की कप्तानी में भारत ने क्रिकेट वर्ल्ड कप जीता था। कपिल की लव स्टोरी भी काफी रोचक है। दरअसल हुआ यूं कि ट्रेन में सफर कर रही एक लड़की कपिल को मन ही मन भा गई। कपिल ये ठान चुके थे कि उन्हें ही अपना हमसफर बना कर रहेंगे। बस तलाश थी, तो एक अदद मौके की और मौका मिला भी।

ट्रेन एक बेहद खूबसूरत जगह से गुजरने लगी। आस-पास का वातावरण ऐसा कि मन आनंदित हो जाए। बस फिर क्या था। कपिल को लगा कि इससे अच्छा मौका शायद ही कभी मिले। कपिल ने मौके पर चौका मारते हुए उस लड़की से कहा- “क्या तुम इस जगह की तस्वीर लेना चाहोगी जो हम अपने बच्चों को दिखा सकें।” लड़की पहले तो शरमाई लेकिन फिर “हां कर दिया और साल 1980 में कपिल इस रोमी नाम की इस लड़की से विवाह के बंधन में बंध गए।

अंधविश्वास ने कर दी थी मुश्किल खड़ी: जब कपिल करियर की शुरुआत में क्रिकेट खेलते थे, तो लेफ्ट पैड को पहले पहनते और राइट फुट को पहले ग्राउंड पर रखते। इसके उनका मान्यता थी कि जिंदगी में सीधे काम करो। कपिल इसी तरह के अंधविश्वास के चलते एक बार काफी मुसीबत में भी फंस गए। खिलाड़ी अक्सर कुछ हद तक डरे रहते हैं। ऐसा ही कुछ कपिल के साथ भी था, जिसके चलते वह अपने गले में भगवान शिव की एक पतली चेन पहनते थे। एक मैच में कपिल ने शॉट खेला और चेन बल्ले से टच कर गई, जिससे आवाज आई। इसी के साथ गेंदबाज ने कॉट बिहाइंड की अपील कर डाली। कपिल की किस्मत थी कि अंपायर ने ये सब देख लिया और आउट नहीं दिया। कपिल ने इस फैसले से राहत की सांस ली मगर उसी शाम गले से चेन और हाथ से कड़ा उतार निश्चय कर लिया कि अब खुद पर ही विश्वास करेंगे।

शानदार रहा रिकॉर्ड: 6 जनवरी 1959 को चंडीगढ़ में जन्मे कपिल देव ऑलराउंडर खिलाड़ी थे। उन्होंने 131 टेस्ट की 184 पारियों में 27 अर्धशतक और 8 शतक की मदद से 5248 रन बनाए थे। वहीं 225 वनडे मैचों की 198 पारियों में 3783 रन। इस दौरान उन्होंने 14 अर्धशतक और 1 शतक भी ठोका। कपिल का एकदिवसीय मैचों में सर्वोच्च स्कोर 175 (नाबाद) रहा। कपिल ने 356 मैचों में कुल 687 विकेट अपने नाम किए थे। कपिल ने 1979-80 सीजन में 13 टेस्‍ट में 63 विकेट लिए थे, जिस रिकॉर्ड को रविचंद्रन अश्विन ने 37 साल बाद तोड़ा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App