ताज़ा खबर
 

…जब टूटे जबड़े के साथ मैदान पर उतरे अनिल कुंबले, दर्द से कराहते चेहरे पर पट्टी बांधकर की बोलिंग

कुंबले का वो शानदार प्रदर्शन कैसे कोई भूल सकता है जब उन्होंने दर्द को अनदेखा करते हुए चेहरे पर पट्टी बांधकर वेस्टइंडीज के खिलाफ गेंदबाजी की थी।

Author नई दिल्ली | October 17, 2017 9:27 AM
पूर्व भारतीय क्रिकेटर अनिल कुंबले (फोटो सोर्स- यूट्यूब)

इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और पूर्व खिलाड़ी अनिल कुंबले का आज जन्मदिन है। 17 अक्टूबर 1970 के दिन जन्मे कुंबले ने अपने 18 साल के करियर में कई बार भारतीय क्रिकेट के सामने ऐसे उदाहरण रखे, जिनसे हर नया क्रिकेटर प्रेरणा ले सकता है। कुंबले को क्रिकेट से कितना प्यार था और वह क्रिकेट के प्रति कितने ईमानदार थे यह उस वक्त पता चल गया था जब उन्होंने टूटे जबड़े के साथ खेला था। कुंबले का वो शानदार प्रदर्शन कैसे कोई भूल सकता है जब उन्होंने दर्द को अनदेखा करते हुए चेहरे पर पट्टी बांधकर वेस्टइंडीज के खिलाफ गेंदबाजी की थी।

साल 2002 में भारत और वेस्टइंडीज के बीच एंटिगुआ में टेस्ट मैच खेला जा रहा था। मैच के दौरान मर्वन ढिल्लन की बाउंसर सीधे कुंबले के चेहरे पर आकर लगी और उनके जबड़े से खून बहने लगा। उन्हें मैदान से बाहर ले जाया गया, लेकिन पट्टी बंधवाकर कुंबले वापिस मैदान में आ गए और गेंदबाजी करने लगे। जबड़े के दर्द को अनदेखा करके उन्होंने आराम ना करने का फैसला लेते हुए देश के लिए खेलना ज्यादा महत्वपूर्ण समझा और जबरदस्त प्रदर्शन दिया। कुंबले ने कुल 14 ओवर गेंदबाजी की और इस दौरान उन्होंने ब्रायन लारा का भी विकेट लिया। मैच के बाद जांच में पता चला कि कुंबले के जबड़े में फ्रैक्चर था।

HOT DEALS
  • Micromax Vdeo 2 4G
    ₹ 4650 MRP ₹ 5499 -15%
    ₹465 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹2000 Cashback

आज कुंबले का जन्मदिन है। पूर्व भारतीय क्रिकेटर और पूर्व कप्तान का जन्म 17 अक्टूबर 1970 के दिन कर्नाटक के बेंगलुरु में हुआ था। उन्होंने 1990 से लेकर 2008 तक लगातार 18 साल तक क्रिकेट खेला। कुंबले ने अपने करियर का पहला एक दिवसीय मैच 25 अप्रैल 1990 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था और आखिरी एक दिवसीय मैच 19 मार्च 2007 में बरमूडा के खिलाफ खेला था। टेस्ट क्रिकेट में कुंबले ने 9 अगस्त 1990 में पहला मैच इंग्लैंड के खिलाफ खेला था और आखिरी टेस्ट मैच 29 अक्टूबर 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ था। भारत की ओर से 500 विकेट लेने वाले वह पहले खिलाड़ी हैं। कुंबले ने टेस्ट क्रिकेट में कुल 619 विकेट लिए और वह तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी हैं।

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले ने क्रिकेट में 19 की उम्र में कर्नाटक का प्रतिनिधित्व करते हुए डेब्यू किया था। कुंबले ने 1990 से ही भारत के लिए खेलते हुए 132 टेस्ट मैच खेले और 271 एक दिवसीय मैच खेले। कुंबले को 2005 में पद्मश्री अवॉर्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है। लगातार 18 साल तक खेलने के बाद कुंबले ने नवंबर 2008 में संन्यास का ऐलान किया। 2012 में कुंबले को इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल की क्रिकेट कमिटी का चेयरमैन नियुक्त किया गया। कुंबले को 24 जून 2016 में एक साल के लिए भारतीय टीम का कोच बनाया गया, लेकिन उन्होंने एक साल का समय पूरा होने से पहले ही इस्तीफा दे दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App