ताज़ा खबर
 

MSK प्रसाद से MS धोनी ने कहा था- एक पैर नहीं होगा तब भी पाकिस्तान के खिलाफ खेलूंगा

प्रसाद जानते थे कि इस खेल का क्या महत्व था इसलिए वे काफी चिंतित थे कि धोनी के बिना कैसे खेल पाएंगे।

Author नई दिल्ली | August 28, 2017 12:28 PM
पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी।

भारतीय क्रिकेट टीम के नेशनल चीफ सिलेक्टर एमएसके प्रसाद ने खुलासा किया है कि महेंद्र सिंह धोनी अपने खेल के प्रति कितने समर्पित हैं। एक इवेंट में शिरकत करने पहुंचे प्रसाद ने बताया कि बांग्लादेश में एशिया कप के दौरान भारत का पाकिस्तान के साथ मैच होना था। वहीं धोनी को पीठ में चोंट थी लेकिन फिर भी उन्होंने आराम करने के बजाए फील्ड पर जाकर अपने प्रतिद्वंदवी का सामना किया। धोनी का कहना था कि अगर उनका एक पैर नहीं भी होगा तब भी वे पाकिस्तान के खिलाफ खेलेंगे। उस घटना को याद करते हुए प्रसाद ने कहा कि मैच से एक दिन पहले रात को धोनी जिम में वर्कआउट कर रहे थे। धोनी ने भारी डम्बल ऊठा लिए कि अचानक उनकी कमर में झटका आ गया और वे उस डम्बल के साथ ही नीचे गिर गए। भगवान का शुक्र है कि वह भारी डम्बल उनके ऊपर नहीं गिरा वरना उनको गंभीर चोट आ सकती थी। इस हादसे के कारण धोनी को चलने में काफी परेशानी हो रही थी और वे घसीटते हुए चल रहे थे। इसके बाद उन्होंने घंटी बजाकर मेडिकल स्टाफ को बुलाया और फिर उन्हें जिम से स्ट्रेचर पर ले जाया गया।

HOT DEALS
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹0 Cashback
  • Moto Z2 Play 64 GB Lunar Grey
    ₹ 14999 MRP ₹ 29499 -49%
    ₹2300 Cashback

प्रसाद ने कहा इस घटना के बाद मैं ढाका पहुंचा तो पत्रकार मुझसे धोनी को लेकर सवाल करने लगे लेकिन मेरे पास कोई जवाब नहीं था। मैं धोनी के पास गया और उनके रिपलेस्मेंट के लिए पूछा तो उन्होंने काह चिंता मत करिए प्रसाद भाई। इसके बाद धोनी से मैच को लेकर एक दो बात और पूछी उनपर भी उन्होंने बहुत ही शांती से कहा कि चिंता मत करिए प्रसाद भाई। अगले दिन पाकिस्तान के साथ मैच होना था जो कि सबके लिए बहुत अहम था। प्रसाद जानते थे कि इस खेल का क्या महत्व था इसलिए वे काफी चिंतित थे कि धोनी के बिना कैसे खेल पाएंगे। एक चयनकर्ता होने के नाते धोनी को मैच से पहले चोट लगना एक बहुत बड़ा मुद्दा था इसलिए मैंने धोनी की चिंता न करने वाली बात पर गौर न करके चीफ सिलेक्टर संदीप पाटिल को घटना की जानकारी दी।

उन्होंने कहा मैं रात को फिर से धोनी के कमरे में गया तो वे वहां नहीं थे। इसके बाद मैंने देखा कि धोनी स्वीमिंग पूल के पास चलने की कोशिश कर रहे थे। मैं यह सोच रहा था कि इतनी चोट के बाद भी धोनी खेलने के बारे में क्या सोच सकते हैं जबकि वे ठीक से चल भी नहीं पा रहे थे। मैच वाले दिन हम यह देखकर हैरान रह गए कि धोनी मैच के लिए अपने पैड बांधकर बिल्कुल तैयार थे। पार्थिव पटेल को हम धोनी की जगह ला रहे थे लेकिन दोपहर को पार्थिव का नाम लेने से पहले ही धोनी खेलने के लिए पूरी तरह से तैयार हो गए थे। धोनी ने मुझे अपने कमरे में बुलाया और कहा कि आप इतनी चिंता क्यों कर रहे हैं। अगर मेरा एक पैर भी नहीं होगा तो भी में पाकिस्तान के खिलाफ खेलूंगा। इसके बाद धोनी के नेतृत्व में उनकी टीम ने पाकिस्तान को करारी शिकस्त दी।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App