ताज़ा खबर
 

विश्व कप जीतने के लिए भारतीय गेंदबाज़ों को अच्छा प्रदर्शन करना होगा

अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय बल्लेबाज किसी भी लक्ष्य का पीछा कर सकते हैं लेकिन खिताब बरकरार रखने के लिये गेंदबाजों को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। विश्व कप 2011 जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य रहे हरभजन ने प्रेस ट्रस्ट से कहा,‘‘भारत के पास विराट कोहली, […]

Author February 4, 2015 3:38 PM

अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय बल्लेबाज किसी भी लक्ष्य का पीछा कर सकते हैं लेकिन खिताब बरकरार रखने के लिये गेंदबाजों को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा।

विश्व कप 2011 जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य रहे हरभजन ने प्रेस ट्रस्ट से कहा,‘‘भारत के पास विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी, रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे के रहते बेहतरीन बल्लेबाजी क्रम है लेकिन उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी को जहीर खान की तरह गेंदबाजी करनी होगी।’’

उन्होंने कहा,‘‘मुझे लगता है कि हम चार विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरेंगे और एक हरफनमौला (स्टुअर्ट बिन्नी) को उतारा जा सकता है। फील्डिंग पाबंदियों और दो नयी गेंद के कारण हमें चार में से तीन गेंदबाजों से उम्दा प्रदर्शन की जरूरत होगी।’’

हरभजन ने कहा,‘‘सभी चारों गेंदबाज एक ही दिन अच्छा प्रदर्शन करें। हमें हर मैच में चार में से तीन गेंदबाजों के अच्छे प्रदर्शन की जरूरत होगी। एक दिन में एक गेंदबाज का खराब फॉर्म चल सकता है लेकिन दो का नहीं। इससे दूसरे गेंदबाजों पर दबाव बनता है।’’

हरभजन ने कहा कि भारतीय स्पिन तिकड़ी आर अश्विन, रविंद्र जडेजा और अक्षर पटेल को ऑस्ट्रेलियाई पिचों पर कूकाबूरा गेंदों से खेलने का फायदा मिलेगा।

भारत के लिये 101 टेस्ट, 229 वनडे और 25 टी20 मैच खेल चुके हरभजन ने कहा,‘‘45 ओवर पुरानी और 25 ओवर पुरानी गेंद में फर्क होता है। ऑस्ट्रेलिया में सफेद कूकाबूरा 10-12 ओवर पुरानी होती है जब स्पिनरों को मिलती है। सीम के चलते स्पिनरों को बेहतर पकड़ मिलेगी और विकेट से मदद भी।’’

त्रिकोणीय एक दिवसीय क्रिकेट श्रृंखला में भारत के प्रदर्शन की भले ही आलोचना हुई हो लेकिन हरभजन इसे ज्यादा तवज्जो नहीं देते। उन्होंने कहा,‘‘मुझे नहीं लगता कि त्रिकोणीय श्रृंखला का प्रदर्शन कोई मानदंड होना चाहिये। भारत, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के साथ सेमीफाइनल में प्रवेश का प्रबल दावेदार है। हमें यह नहीं भूलना चाहिये कि श्रृंखला में सभी 100 प्रतिशत फिट नहीं थे। मेरा मानना है कि विश्व कप में सभी तरोताजा होकर बेहतरीन प्रदर्शन के इरादे से उतरेंगे।’’

हरभजन ने विराट की जमकर तारीफ करते हुए कहा,‘‘विराट दबाव के हालात में अच्छा प्रदर्शन करते हैं। विराट पर जितना ज्यादा दबाव होगा, वह अच्छा खेलेगा। विश्व क्रिकेट में अब ऐसे ज्यादा बल्लेबाज नहीं हैं जो लक्ष्य का पीछा करना पसंद करते हैं। विराट उनमें से एक है।’

उन्होंने यह भी कहा कि ‘फिट रोहित शर्मा’ ऑस्ट्रेलिया में भारत के लिये एक्स फैक्टर साबित हो सकता है। उन्होंने कहा,‘‘रोहित शानदार खिलाड़ी है। वह अकेले दम पर मैच जिता सकता है। मुझे यकीन है कि शिखर भी फॉर्म में लौटेगा। मैं टीम को शुभकामना देता हूं।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भ्रष्टाचार मुक्त विश्व कप का आयोजन बड़ी चुनौती: आईसीसी
2 ‘फ़ाइनल से पहले फ़ाइनल होगा भारत-पाक विश्व कप मैच’
3 विश्व कप में नहीं खेल पाने से निराश हैं युवराज सिंह
कोरोना टीकाकरण
X