Indian All Rounder Hardik Pandya is Lucky to be in the Team for this reason says Former All Rounder Roger Binny - पूर्व ऑलराउंडर ने कहा- सिर्फ इस वजह से टीम में अपनी जगह बचाने में कामयाब हैं हार्दिक पंड्या - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पूर्व ऑलराउंडर ने कहा- सिर्फ इस वजह से टीम में अपनी जगह बचाने में कामयाब हैं हार्दिक पंड्या

बिन्नी के अनुसार, "लोगों को पंड्या की तुलना कपिल देव से करना बंद कर देना चाहिए। कपिल पाजी ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अच्छे खासे रन बनाए थे, जबकि पंड्या ने टेस्ट फॉर्मेट से पहले फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अभी तक कोई खास कमाल नहीं दिखाया है।"

हार्दिक पांड्या। (फाइल फोटो)

हार्दिक पंड्या भारतीय क्रिकेट टीम के प्लेइंग-11 में अपनी जगह बनाने में इसलिए कामयाब होते हैं, क्योंकि वह विपक्षी टीम के विकेट चटकाने की कला में पारंगत हैं। पंड्या बेहद किस्मत वाले हैं, जो उनको लोग हरफनमौला खिलाड़ी के रूप में देखते हैं। ये बातें हम नहीं बल्कि भारत के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी रॉजर बिन्नी ने कही हैं। बकौल बिन्नी, “पंड्या की किस्मत अच्छी है, जिसकी वजह से लोग उन्हें हरफनमौला खिलाड़ी समझते हैं। वह बल्लेबाजी में अपना योगदान नहीं दे पाते हैं, मगर उन्हें गेंद के साथ खेलना अच्छे से आता है। यही वजह है कि वह टीम में अपनी जगह बनाने में कामयाब रहते हैं।” बिन्नी के अनुसार, “लोगों को पंड्या की तुलना कपिल देव से करना बंद कर देना चाहिए। कपिल पाजी ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अच्छे खासे रन बनाए थे, जबकि पंड्या ने टेस्ट फॉर्मेट से पहले फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अभी तक कोई खास कमाल नहीं दिखाया है।”

उन्होंने आगे कहा, “बल्लेबाज के रूप में वह कपिल देव से बिल्कुल अलग हैं। कपिल ने भारत की ओर से टेस्ट खेलने से पहले ही फर्स्ट क्लास क्रिकेट में शानदार पारियां खेली थीं। रॉजर बिन्नी साल 1983 में विश्व विजेता बनी भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा थे। उनका बेटा स्टुअर्ट बिन्नी भी भारतीय खेमे से खेल चुका है।

पूर्व क्रिकेटर के मुताबिक, “पंड्या ने टी-20 में अच्छा प्रदर्शन किया है। अपने प्रदर्शन के आधार पर उन्होंने टेस्ट में भी अच्छा खेल खेला है, मगर बिन्नी को लगता है कि टेस्ट फॉर्मेट बेहद अलग होता है।” रॉजर का यह भी मानना है कि पंड्या को दोबारा घरेलू क्रिकेट में खेलना चाहिए और बड़ौदा की ओर से रन जमाने चाहिए। ऐसा कर वह न केवल टेस्ट क्रिकेट में अपना प्रदर्शन सुधारेंगे बल्कि खुद के लिए टेस्ट स्कवॉड में उचित जगह भी पाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App