ताज़ा खबर
 

India vs Srilanka Day 3: मुश्किल में श्रीलंका, 51 ऑवर्स में बनाए 220 रन

श्रीलंका क्रिकेट टीम ने गाले स्टेडियम में भारत के खिलाफ जारी टेस्ट मैच के तीसरे दिन अपनी दूसरी पारी में 5 रन पर तीसरा विकेट गंवा दिया। दम्मिका प्रसाद 3 रन बनाकर वरुण एरॉन की गेंद पर रहाणे को कैच थमा बैठे।

Author August 14, 2015 3:35 PM
india vs srilanka Day 3: शानदार प्रदर्शन कर रही कोहली की टीम, 10 रन पर 3 आउट

श्रीलंका क्रिकेट टीम ने गाले इंटरनेशनल स्टेडियम में भारत के साथ जारी पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन तीन मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट में श्रीलंका ने टीम इंडिया के खिलाफ दूसरी पारी में तीसरे दिन 51 ओवर्स में 6 विकेट के नुकसान पर 220 रन बना लिए हैं।

दिनेश चांडीमल (78) और मुबारक क्रीज पर हैं। श्रीलंका का अंतिम थिरिमाने (44) के रूप में गिरा। उन्हें अश्विन ने रहाणे के हाथों कैच कराया। संगकारा को 40 रन के निजी स्कोर पर आर अश्विन ने रहाणे के हाथों कैच कराया। दूसरे दिन का खेल : श्रीलंका 5/2 रन> गौरतलब है कि इससे पहले श्रीलंका ने टीम इंडिया के खिलाफ दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक दूसरी पारी में 4 ओवर में 2 विकेट के नुकसान पर 5 रन बनाए थे। कुमार संगकारा और धमिका प्रसाद नॉट आउट लौटे थे।

 

तीसरे दिन सबसे पहला विकेट दम्मिका प्रसाद के रूप में गया। प्रसाद 3 रन बनाकर वरुण एरॉन की गेंद पर रहाणे को कैच थमा बैठे। कुमार संगकारा 40 रन बनाकर अश्विन की गेंद पर रहाणे को कैच थमा बैठे। संगकारा और मैथ्यूज के बीच 87 रनों की साझेदारी हुई।

इससे पहले शिखर धवन और कप्तान विराट कोहली की शतकीय पारियों से पहली पारी में 192 रन की मजबूत बढ़त हासिल करने के बाद भारत ने गुरुवार को श्रीलंका को दूसरी पारी के शुरू में ही दो करारे झटके देकर पहले टेस्ट क्रिकेट मैच पर मजबूत शिकंजा कस दिया।

भारत की पहली पारी दूसरे दिन का खेल समाप्त होने से कुछ देर पहले 375 रन पर समाप्त हुई लेकिन इसके बाद उसने पहली पारी में 183 रन पर सिमटने वाले श्रीलंका के चार ओवर के अंदर दो विकेट निकाल दिये। श्रीलंका ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी दूसरी पारी में दो विकेट पर पांच रन बनाए हैं और इस तरह से पारी की हार से बचने के लिए उसे अब भी 187 रन की दरकार है।

धवन ने 134 रन बनाए जो उनके करियर का चौथा टेस्ट शतक है। उन्होंने अपनी पारी में 271 गेंद खेली तथा 13 चौके लगाए। कप्तान कोहली ने 103 रन की पारी खेली, जिसमें 11 चौके शामिल हैं। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 227 रन की साझेदारी की। विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा ने 60 रन बनाए जो उनके करियर का पहला अर्धशतक है।

श्रीलंका की तरफ से ऑफ स्पिनर तारिंदु कौशल ने 134 रन देकर पांच जबकि मध्यम गति के गेंदबाज नुवान प्रदीप ने 98 रन के देकर तीन विकेट लिए।

भारतीय स्पिनरों ने इसके बाद श्रीलंकाई खेमे में खलबली मचायी। कोहली ने पहली पारी में छह विकेट लेने वाले ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन से गेंदबाजी का आगाज करवाया और उन्होंने पहले ओवर में ही तेजी से टर्न लेती गेंद पर दिमुथ करूणारत्ने को बोल्ड कर दिया।

लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने दूसरे छोर से गेंद संभाली और अपनी गुगली पर दूसरे सलामी बल्लेबाज कौशल सिल्वा की गिल्लियां बिखेरी। श्रीलंका का दारोमदार अब अपनी आखिरी टेस्ट सीरीज खेल रहे कुमार संगकारा पर टिका है जो एक रन पर खेल रहे हैं। उनके साथ दूसरे छोर पर खड़े नाइटवॉचमैन धम्मिका प्रसाद ने तीन रन बनाए हैं।

धवन और कोहली ने सुबह दो विकेट पर 128 रन से भारतीय पारी आगे बढ़ाई और पहले सत्र में श्रीलंकाई गेंदबाजों को विकेट के लिए तरसाये रखा। लगातार दूसरे दिन बारिश की भविष्यवाणी गलत साबित होने का इन दोनों को पूरा फायदा उठाया। यह अलग बात है कि कल के पहले सत्र की तुलना में पिच का मिजाज आज सुबह पूरी तरह से बदला हुआ था। वह बल्लेबाजों के लिए अनुकूल बन गयी थी।

धवन ने अपने साथी की तुलना में अधिक तेजी से रन बनाए। वह जब 79 रन पर थे तब कौशल की गेंद पर पगबाधा की विश्वसनीय अपील से बचे। उस समय ऐसा लग रहा था कि गेंद मिडिल स्टंप से लग रही थी लेकिन अंपायर ब्रूस ओक्सेनफोर्ड ने उंगली नहीं उठायी। धवन ने पारी के 53वें ओवर में कौशल पर दो चौके जड़े जिससे भारत ने श्रीलंकाई स्कोर को पीछे छोड़ा।

बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने 178 गेंदों पर अपना लगातार दूसरा शतक पूरा किया। उन्होंने जून में बांग्लादेश के खिलाफ फतुल्लाह टेस्ट में भी 173 रन की पारी खेली थी। यह उनका भारतीय उपमहाद्वीप में तीसरा टेस्ट शतक है। धवन ने इस तरह से भारत (187), न्यूजीलैंड (115) और बांग्लादेश (173) के बाद श्रीलंका में भी अपने पहले टेस्ट मैच में शतक जड़ा।

भारत ने लंच के बाद दो विकेट पर 227 रन से पारी आगे बढ़ाई लेकिन दूसरे सत्र में उसने 77 रन के अंदर कोहली, अजिंक्य रहाणे (शून्य), धवन और अश्विन (सात) के विकेट गंवाए। वह कौशल थे जिन्होंने कोहली और रहाणे के विकेट लेकर अपनी टीम को वापसी दिलाने की कोशिश की। इसके बाद प्रदीप ने धवन और अश्विन को पवेलियन भेजा।

लंच के तुरंत बाद हेराथ की फुललेंथ गेंद कोहली के पैड पर टकरायी थी लेकिन अंपायर निजेल लांग ने पगबाधा की अपील को ठुकरा दिया। कोहली ने पहले प्रदीप और बाद में कौशल की गेंद पर एक्स्ट्रा कवर पर चौका जड़कर अपना 11वां टेस्ट शतक किया। लेकिन उसके तुरंत बाद कौशल की फुल लेंथ गेंद को स्वीप करने के प्रयास में वह चूक गए और पगबाधा होकर पवेलियन लौटे। यह भी दिलचस्प है कि कोहली अपने टेस्ट करियर में तीसरी बार 103 रन पर पगबाधा आउट हुए।

कौशल ने ऑफ स्टंप की लाइन पर गेंदबाजी करना जारी रखा और इसका उन्हें जल्द ही रहाणे के विकेट के रूप में एक और इनाम मिला। रहाणे फ्लाइट लेती गेंद को रक्षात्मक रूप से खेलने के लिए आगे बढ़े लेकिन गेंद टर्न लेकर उन्हें पगबाधा आउट कर गयी।

साहा ने सतर्क शुरुआत की लेकिन उन्होंने कुछ ढीली गेंदों का फायदा उठाकर उन्हें बाउंड्री तक पहुंचाया। श्रीलंका ने आखिर में 86वें ओवर में नई गेंद ली जिसका उसे तुरंत ही फायदा मिला। धवन ने प्रदीप की गेंद अपने विकेटों में खेली। इस गेंदबाज ने अपने अगले ओवर में अश्विन को भी अच्छी लेंथ गेंद पर आउट किया जो बल्ले और पैड के बीच से निकलकर ऑफ स्टंप में समायी।

कौशल ने तीसरे सत्र के शुरू में हरभजन सिंह (14) का लेग स्टंप और अमित मिश्रा (10) का मिडिल स्टंप थर्राया। साहा ने हालांकि एक छोर संभाले रखा। उन्होंने प्रदीप की गेंद पर डीप मिडविकेट पर चौका जड़कर अपना पहला अर्धशतक पूरा किया।

इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने प्रदीप पर लांग ऑफ पर छक्का जड़ा लेकिन इसी गेंदबाज पर हुक करने के प्रयास में उन्हें विकेट के पीछे कैच आउट दे दिया गया जबकि रीप्ले से साफ हो गया था कि गेंद हेलमेट से लगकर दिनेश चांदीमल के पास पहुंची थी। कौशल ने वरुण एरॉन (चार) को आउट करके अपना पांचवां विकेट लिया जिससे भारतीय पारी का अंत किया। इशांत शर्मा 39 गेंदों पर तीन रन बनाकर नाबाद रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App