ताज़ा खबर
 

Ind vs SL 3rd Test: टीम इंडिया के पास इतिहास रचने का मौका, विराट बना सकते हैं डबल रिकॉर्ड

भारत ने पिछली सीरीज 2014-15 में अॉस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी की सरजमीं पर गंवाई थी।

Author नई दिल्ली | December 1, 2017 15:07 pm
नागपुर टेस्ट में विकेट झटकने के बाद जश्न मनाती टीम इंडिया।

विजयी रथ पर सवार विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम कल (2 दिसंबर) से दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट में लगातार नौवीं सीरीज जीतकर इतिहास रचने के इरादे से उतरेगी। कोहली की अगुआई में पिछली आठ सीरीज में जीत दर्ज की है और अगर टीम तीसरा टेस्ट ड्रॉ भी करा लेती है तो लगातार नौ टेस्ट सीरीज जीतने के अॉस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेगी। भारत ने पिछली सीरीज 2014-15 में अॉस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी की सरजमीं पर गंवाई थी। टीम इंडिया को तब चार मैचों की सीरीज में 2-0 से शिकस्त का सामना करना पड़ा था। इसके बाद से भारत ने नौ सीरीज खेलीं और लगातार आठ सीरीज जीतकर इतिहास रचने की दहलीज पर खड़ा है। टीम इंडिया ने इस दौरान स्वदेश में पांच, श्रीलंका में दो और वेस्टइंडीज में एक सीरीज जीती।

विराट एंड कंपनी के स्वदेश में दबदबे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 2012-13 में इंग्लैंड के खिलाफ चार मैचों की सीरीज 2-1 से गंवाने के बाद से वह अपनी मेजबानी में लगातार सात सीरीज जीत चुका है। टीम इंडिया ने इस दौरान 23 मैचों में से 19 में जीत दर्ज की जबकि इकलौता मैच उसने अॉस्ट्रेलिया के खिलाफ गंवाया है। दक्षिण अफ्रीका के मुश्किल दौरे से पहले यह भारत के लिए अंतिम टेस्ट मैच होगा

कोटला पर है शानदार रिकॉर्ड: भारत पिछले 30 साल से कोटला पर अजेय है। यहां पिछले 11 मैचों में से 10 में टीम इंडिया ने जीत दर्ज की है और एक मैच बराबरी पर छूटा। इस मैदान पर भारत ने कुल 33 टेस्ट खेले हैं और उनमें से उसे 13 में जीत और छह में हार मिली जबकि 14 मैच ड्रॉ रहे। भारत ने यहां पिछला मैच नवंबर 1987 में वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच विकेट से गंवाया था। श्रीलंका ने इस मैदान पर सिर्फ एक मैच खेला है और उसमें भारत के हाथों उसे दिसंबर 2005 में 188 रन से हार झेलनी पड़ी थी।

कोहली-रहाणे छू सकते हैं ये मुकाम: कोलकाता में पहली पारी में तेज गेंदबाजी के अनुकूल हालात को छोड़कर भारतीय बल्लेबाजों ने अब तक प्रभावी प्रदर्शन किया है। कोहली ने दो मैचों की तीन पारियों में एक दोहरे शतक सहित दो शतकों की मदद से 317 रन बनाए हैं और एक बार फिर सभी की नजरें उन पर टिकी होंगी। कोहली अगर 25 रन और बना लेते हैं तो टेस्ट क्रिकेट में 5000 रन पूरे करने वाले 11वें भारतीय बल्लेबाज बन जाएंगे। उन्होंने अब तक 62 मैचों में 51.82 के औसत से 4975 रन बनाए हैं। रहाणे को अगर मौका मिलता है तो वह कोटला पर अपने पिछले प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे। उन्होंने इस मैदान पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दिसंबर 2015 में हुए पिछले मैच की दोनों पारियों में शतक जड़े थे। रहाणे इसके अलावा 3000 टेस्ट रन की उपलब्धि भी हासिल कर सकते हैं जिसके लिए उन्हें 185 रन की दरकार है।

दादा की बराबरी कर सकते हैं विराट:  विराट कोहली के पास इस मैच में जीत के साथ भारत के दूसरे सबसे सफल कप्तान के रूप में सौरव गांगुली की बराबरी करने का मौका होगा। गांगुली की अगुआई में भारत ने 49 मैचों में 21 जीत दर्ज की जबकि कोहली की अगुआई में भारत अब तक 31 मैचों में 20 जीत दर्ज कर चुका है। कप्तान के रूप में इन दोनों से अधिक जीत सिर्फ धोनी (60 मैचों में 27 जीत) के नाम दर्ज हैं।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App