ताज़ा खबर
 

टेस्ट हारने के बाद कप्तान विराट कोहली ने साथियों संग की पार्टी, बवाल मचने पर बताया था यह कारण

उस मैच में विराट कोहली और शिखर धवन ने शतक ठोका। भारत ने पहली पारी में 375 रन बनाए। श्रीलंका के टी कौशल ने 134 रन देकर 5 विकेट लिए। श्रीलंका ने दूसरी पारी में 367 रन बनाए। भारत को जीत के लिए 176 रन का लक्ष्य मिला था, लेकिन वह उसे हासिल नहीं कर पाया था।

virat kohli rohit sharma and Team Indiaविराट कोहली ने उस टेस्ट मैच की पहली पारी में शतक ठोका था।

विराट कोहली की गिनती एग्रेसिव (आक्रामक) कप्तानों में की जाती है। कहा जाता है कि वह मैदान पर की गई गलतियों पर साथी खिलाड़ियों को भी सुना देते हैं। ऐसे में क्या टेस्ट मैच हारने के बाद वह साथी खिलाड़ियों के साथ पार्टी कर सकते हैं। यदि आप जवाब का उत्तर न सोच रहे हैं तो आप गलत हैं। 2015 में श्रीलंका के खिलाफ मैच हारने के बाद विराट कोहली ने साथी खिलाड़ियों के साथ पार्टी की थी। हालांकि, जब इसे लेकर बवाल मचा तो कोहली ने उस समय तो कोई कारण नहीं बताया था। उन्होंने अगले टेस्ट मैच के बाद इसका जवाब दिया था।

य़ह पूरा मामला 2015 में भारत के श्रीलंका टूर के दौरान का है। उस दौरे में टीम इंडिया को श्रीलंका से 3 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी थी। पहला टेस्ट गाले में 12 से 15 अगस्त तक खेला गया। चौथे दिन ही टीम इंडिया इस मैच को 63 रनों से हार गई। श्रीलंका ने टॉस जीता और बल्लेबाजी का फैसला किया। उसकी पारी 183 रन पर सिमट गई। रविचंद्रन अश्विन ने 6 विकेट लिए।

विराट कोहली और शिखर धवन ने शतक ठोका और भारत ने पहली पारी में 375 रन बनाए। श्रीलंका के थारिनुडु कौशल ने 134 रन देकर 5 विकेट लिए। श्रीलंका ने दूसरी पारी में 367 रन बनाए। भारत को जीत के लिए 176 रन का लक्ष्य मिला, लेकिन रंगना हेराथ ने 48 रन देकर 7 विकेट झटक लिए और टीम इंडिया 112 रन पर ही सिमट गई।

इस मैच के बाद ही विराट कोहली ने पार्टी की थी, जिसमें टीम के बाकी सभी खिलाड़ी भी शामिल थे। इसे लेकर बवाल मचा, लेकिन विराट कोहली ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच 20 से 24 अगस्त के बीच कोलंबो ओवल में खेला गया। दूसरे टेस्ट मैच को टीम इंडिया ने 278 रन के बड़े अंतर से जीत लिया।

मैच के बाद एक इंटरव्यू में विराट ने पार्टी को लेकर कहा था कि दरअसल, हमने अपनी गलतियां ढूंढ़ने के लिए एक गेट टुगेदर किया था। हम सभी ने एक दूसरे से बात की। इस पर विचार किया कि आखिरी हमारी हार क्यों हुई। हमने अपनी गलतियों को पहचाना। फील्डिंग को लेकर जो समस्या थी, उसे भी चॉकआउट किया और अगले मैच में उन्हें रिपीट नहीं करने की कसम खाई। अगले मैच में हमने उस पर अमल भी किया और नतीजा सबके सामने था। तीसरा टेस्ट मैच ड्रा रहा था और सीरीज 1-1 से बराबर पर छूटी थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शान मसूद के बाद गेंदबाजों ने दिखाया जलवा, दूसरे टेस्ट में पाकिस्तान ड्राइविंग सीट पर
2 टूर डि पोलैंड: फिनिश लाइन से पहले भीषण हादसा; चैंपियन साइक्लिस्ट कोमा में, टक्कर मारने वाले खिलाड़ी पर लगा जुर्माना
3 IPL 2020: टीमें यूएई में 6 दिन के क्वारंटीन के लिए राजी, लेकिन टीम बस में सफर नहीं करेगा परिवार; खिलाड़ी ने मांगी गोल्फ खेलने की मंजूरी
ये पढ़ा क्या?
X