scorecardresearch

केएल राहुल ने तोड़ा विराट कोहली और वीरेंद्र सहवाग का रिकॉर्ड, एमएस धोनी की बराबरी भी की; लेकिन अजिंक्य रहाणे से रह गए पीछे

1992 के बाद से अब तक टीम इंडिया का जोहानिसबर्ग में यह छठा टेस्ट मैच है। खास यह है कि सभी में टीम इंडिया की कमान अलग-अलग कप्तान (मोहम्मद अजहरुद्दीन, सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, एमएस धोनी, विराट कोहली और केएल राहुल) के पास रही है।

KL Rahul 34th Test Indian Captain
केएल राहुल के लिए व्यक्तिगत रूप से साल 2022 की शुरुआत शानदार रही। (सोर्स- ट्विटर/बीसीसीआई/आईसीसी)

केएल राहुल के लिए व्यक्तिगत रूप से साल 2022 की शुरुआत शानदार रही। उन्हें 3 जनवरी को भारत टेस्ट क्रिकेट टीम की कमान सौंपी गई। वह भारत के 34वें टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान हैं। विराट कोहली बैकबोन के ऊपरी हिस्से में खिंचाव के चलते साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में नहीं खेल पाए। केएल राहुल ने टेस्ट टीम की कमान संभालने के साथ ही कई रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिए।

केएल राहुल साल 1990 में मोहम्मद अजहरुद्दीन के बाद पहले भारतीय कप्तान हैं, जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सीमित ओवर फॉर्मेट में टीम की कमान संभालने से पहले टेस्ट क्रिकेट की कमान संभाली है। केएल राहुल ने टेस्ट टीम की कमान संभालने के साथ वीरेंद्र सहवाग, विराट कोहली और जीएस रामचंद का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया। वहीं, महेंद्र सिंह धोनी की बराबरी भी की। हालांकि, वह अजिंक्य रहाणे का रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए।

दरअसल, केएल राहुल सबसे कम प्रथम श्रेणी मैचों में कप्तानी करने के बाद टेस्ट क्रिकेट में भारत की कप्तानी करने के मामले में महेंद्र सिंह धोनी के साथ संयुक्त रूप से दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं। इस मामले में अजिंक्य रहाणे पहले नंबर पर हैं। रहाणे ने बिना एक भी प्रथम श्रेणी मैच में कप्तानी किए बिना टेस्ट टीम की कमान संभाली थी।

केएल राहुल भारतीय टेस्ट टीम की कमान संभालने वाले कर्नाटक के चौथे क्रिकेटर हैं। उनसे पहले 1980 में गुंडप्पा विश्वनाथ, 2003-2007 तक राहुल द्रविड़ और अनिल कुंबले ने 2007-2008 तक टेस्ट टीम की कमान संभाली थी।

साल 2005 के बाद यह दूसरी बार है, जब आखिरी 4 टेस्ट मैच में 3 खिलाड़ियों ने टीम इंडिया की कमान संभाली है। सितंबर 2005 में सौरव गांगुली ने हरारे में जिम्बाब्वे के खिलाफ टेस्ट टीम की कमान संभाली थी। दिसंबर 2005 में श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के पहले दो टेस्ट में राहुल द्रविड़ के पास टीम की कमान संभाली थी। सीरीज का तीसरा टेस्ट अहमदाबाद में खेला गया था। उसमें वीरेंद्र सहवाग ने टीम की अगुआई की थी।

एक फैक्ट यह भी है कि अजिंक्य रहाणे, एमएस धोनी, राहुल द्रविड़ और सुनील गावस्कर उन खिलाड़ियों में शामिल हैं, जिन्होंने SENA (साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया) देशों में बतौर कप्तान पहला टेस्ट खेलते हुए टीम को जीत दिलाई थी। ऐसे में यह देखना रोचक होगा कि क्या केएल राहुल यह कीर्तिमान बना पाएंगे या नहीं?

साल 1992 के बाद से अब तक टीम इंडिया का जोहानिसबर्ग में यह छठा टेस्ट मैच है। खास यह है कि सभी मुकाबलों में टीम इंडिया की कमान अलग-अलग खिलाड़ी (मोहम्मद अजहरुद्दीन, सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, एमएस धोनी, विराट कोहली और केएल राहुल) के पास रही है। इनमें से कोई भी मैच टीम इंडिया हारी नहीं है।

दक्षिण अफ्रीका के लिहाज से बात करें तो साल 1900 के बाद से गेंदों के मामले में ऑलिवियेर 50 विकेट लेने वाले दूसरे सबसे तेज गेंदबाज बन गए हैं।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट