ताज़ा खबर
 

भारत दौरे पर आने से नर्वस हैं दक्षिण अफ्रीकी टीम?

पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ग्रेम स्मिथ ने कहा है कि वह आगामी भारत दौरे को लेकर काफी चिंतित हैं और उन्हें पूरा भरोसा है कि दक्षिण अफ्रीकी टीम के लिए टेस्ट सीरीज बेहद चुनौतीपूर्ण साबित होगी।

जोहानिसबर्ग | September 13, 2015 12:00 PM

पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ग्रेम स्मिथ ने कहा है कि वह आगामी भारत दौरे को लेकर काफी चिंतित हैं और उन्हें पूरा भरोसा है कि दक्षिण अफ्रीकी टीम के लिए टेस्ट सीरीज बेहद चुनौतीपूर्ण साबित होगी।

दक्षिण अफ्रीका पहली बार अपने सबसे लंबे 72 दिनों तक चलने वाले भारत दौरे पर आ रहा है जिसमें चार टेस्टों की सीरीज खेली जाएगी। इसका पहला मैच मोहाली में पांच नवंबर से शुरू होगा।

स्मिथ ने एक इन्टर्व्यू में कहा कि मुझे थोड़ी चिंता हो रही है। भारत दौरे के बाद हमें इंग्लैंड दौरा भी करना है। मुझे लगता है कि यह दक्षिण अफ्रीकी टीम के लिए एक कठिन और खुद को साबित करने का दौर होगा।

स्मिथ ने कहा कि चार टेस्ट मैच बिल्कुल आसान नहीं होंगे। खासतौर पर जब हम भारत की जमीन पर ये सीरीज खेल रहे हैं जिसमें काफी ज्यादा यात्रा करनी पड़ेगी और साथ ही वहां की परिस्थतियां भी काफी अलग होंगी। मैं तो बस दुआ कर रहा हूं कि सब कुछ अच्छी तरह से हो जाए।

उन्होंने कहा कि यदि हमने अपना भारत दौरा अच्छा निकाला तो हम इंग्लैंड के खिलाफ भी अच्छा कर पाएंगे। स्मिथ के नेतृत्व में दक्षिण अफ्रीका ने वर्ष 2008 और 2009 में भारत के खिलाफ दो टेस्ट सीरीज ड्रॉ खेली थीं। पूर्व क्रिकेटर ने साथ ही कहा कि वर्ष 2006 के बाद से दक्षिण अफ्रीकी टीम ने विदेश में टेस्ट सीरीज नहीं हारी है और इसलिए उन्हें इस बार भी कड़ी मेहनत कर ट्रॉफी हासिल करनी होगी।

पूर्व दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर ने कहा कि हमने वर्ष 2006 के बाद से विदेशी जमीन पर टेस्ट सीरीज हारी नहीं है और यह बेहतरीन रिकॉर्ड है जिसपर मुझे गर्व है। उम्मीद है कि हमारी टीम इसे बरकरार रखेंगे। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच इस सीरीज में तीन ट्वेंटी 20, पांच वनडे और चार टेस्टों की सीरीज खेली जाएगी।

स्मिथ ने इस अहम दौरे से पहले अपने खिलाड़ियों को काफी सुझाव दिये और उन्होंने खासतौर पर क्विंटन डी कॉक को बेहतर प्रदर्शन कर खुद को साबित करने की सलाह दी।

कॉक को बांग्लादेश दौरे में उनके खराब प्रदर्शन के बाद राष्ट्रीय टीम से बाहर कर दक्षिण अफ्रीका-ए टीम के साथ भारत दौरे पर भेजा था। कॉक ने भी चयनकर्ताओं को प्रभावित करने का मौका नहीं छोड़ा और भारत-ए के खिलाफ तीन पारियों में शतक जड़े। इसी प्रदर्शन की बदौलत काक को वनडे और ट्वेंटी 20 दोनों प्रारूपों में टीम का हिस्सा बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि यह आपके व्यक्तित्व पर निर्भर करता है। यदि आपका लंबा करियर है तो आपको अच्छा खेलना होगा तथा साथ ही विफलताओं से उबरना भी सीखना होगा।

Next Stories
1 विश्व चैम्पियनशिप के दौरान फ्रीस्टायल में कांस्य पदक से चूके बजरंग
2 अमेरिकी ओपन: सेरेना का कैलेंडर स्लैम का सपना तोड़ा रोबर्टा ने
3 लिएंडर पेसः अपना लक्ष्य हासिल करने की हिम्मत रखता हूं
ये पढ़ा क्या?
X