ताज़ा खबर
 

भारत बनाम पाकिस्‍तान: हॉकी टीम ने काली पट्टी बांध कर विरोध किया और मैच भी जीता मगर क्रिकेट में मिली हार

भारतीय क्रिकेट टीम ने पिछले चार साल में ऐसी बल्‍लेबाजी नहीं की थी। 14 ओवर से पहले ही भारत के 5 बल्‍लेबाज पवेलियन लौट चुके थे।

भारत और पाकिस्तान के बीच अगर क्रिकेट मैच हो रहा हो तो हमारे देश के क्रिकेट-प्रेमियों की राष्ट्रीय-भावनाएं अपने चरम पर होती हैं।

भारत और पाकिस्‍तान, दो पड़ोसी मुल्‍क जो खेलों में कहीं भी आमने-सामने हों तो देशवासियों की भावनाएं उफान पर होती हैं। 18 जून को भारत और पाकिस्‍तान, दो खेलों में एक दूसरे के सामने था और दोनों ही बड़े टूर्नामेंट हैं। आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 का फाइनल और वर्ल्‍ड हॉकी लीग सेमीफाइनल में दोनों देश भिड़ रहे थे। क्रिकेट मैच को लेकर जैसा माहौल बना, भारतीय टीम अपेक्षा के अनुसार वैसा खेल नहीं दिखा पाई है। पाकिस्‍तान ने भारत को 180 रन के भारी अंतर से हराकर चैम्पियंस ट्रॉफी पर कब्‍जा किया। दूसरी तरफ, हॉकी में, जिसके बारे में बहुतों को मैच की जानकारी भी नहीं होगी, में भारत ने पाकिस्‍तान को 7-1 के बड़े अंतर से हरा दिया। हॉकी के पास शायद बड़ा बाजार नहीं, इसलिए भारतीय टीम की जीत क्रिकेट मैच में दबकर रह गई। हालांकि ट्विटर पर कई लोगों ने क्रिकेट छोड़कर हॉकी देखने की अपील जरूर की।

हरमनप्रीत सिंह, तलविंदर सिंह और आकाशदीप सिंह के दो-दो गोलों की मदद से भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने रविवार को वर्ल्ड लीग सेमीफाइनल्स के अपने तीसरे पूल मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 7-1 से मात दी। हरमनप्रीत ने (13वें और 33वें), तलविंदर (21वें और 24वें) तथा आकाशदीप (47वें और 59वें) मिनट में गोल किए। प्रदीप मोर ने भी 49वें मिनट में गोल किया। भारत की लगातार तीसरी जीत है और उसका सामना 20 जून को नीदरलैंड्स से होगा। दूसरी ओर, पाकिस्तान की लगातार तीसरी हार है।

चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारतीय टीम ने बेहद खराब खेल दिखाया। पहले गेंदबाजों ने जमकर रन लुटाए और सलामी बल्लेबाज फखर जमान (114) के पहले अंतर्राष्ट्रीय शतक और मध्य क्रम के बल्लेबाजों के योगदान के चलते पाकिस्तान ने 339 रनों का लक्ष्य रखा। यह पाकिस्तान का भारत के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए अब तक का सबसे बड़ा स्कोर है। साथ ही यह चैम्पियंस ट्रॉफी में आईसीसी के पूर्ण सदस्यता वाले देश के खिलाफ बनाया गया सर्वोच्च स्कोर भी है। जवाब में भारत का शीर्षक्रम बिखर गया। टीम ने टॉप ऑर्डर के 6 बल्‍लेबाज 100 रनों के भीतर ही गंवा दिए हैं। भारतीय क्रिकेट टीम ने पिछले चार साल में ऐसी बल्‍लेबाजी नहीं की थी। 14 ओवर से पहले ही भारत के 5 बल्‍लेबाज पवेलियन लौट चुके थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App