ताज़ा खबर
 

India vs New Zealand: गुलाबी गेंद से टेस्ट पर चर्चा हुई मगर बात नहीं बनी

न्यूजीलैंड के कोच माइक हेसन ने आज खुलासा किया कि भारत के खिलाफ गुलाबी गेंद से प्रस्तावित ‘दिन-रात्रि’ टेस्ट पर ‘चर्चा’ हुई थी लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि आखिर क्योंकि बात नहीं बनी।

Author नई दिल्ली | September 13, 2016 4:01 PM

न्यूजीलैंड के कोच माइक हेसन ने आज खुलासा किया कि भारत के खिलाफ गुलाबी गेंद से प्रस्तावित ‘दिन-रात्रि’ टेस्ट पर ‘चर्चा’ हुई थी लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि आखिर क्योंकि बात नहीं बनी। हेसन ने कहा, ‘‘देखिये, मुझे लगता है कि इसमें कोई शक नहीं कि गुलाबी गेंद से टेस्ट पर चर्चा की गई। हम पहले ही एक मैच खेल चुके हैं इसलिए एक और मैच खेलकर खुशी होती जबकि कुछ कारणों से यह उचित नहीं लगा। निश्चित तौर पर यह हमारी ओर से नहीं था।’

बीसीसीआई अब भी प्रयोगात्मक दौर से गुजरा रहा है और पहली दिन-रात्रि दलीप ट्राफी का कल समापन होगा। प्रस्तावित दो स्तरीय टेस्ट प्रारूप की योजना रद्द होने के बाद क्रिकेट जगत में बहस चल रही है कि क्या द्विपक्षीय श्रृंखला अपनी व्यवहारिकता खो रही है।

हेसन ने हालांकि कहा कि अपने भलाई के लिए प्रासंगिकता ढूंढे जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले कुछ समय से हम इसी प्रणाली में काम कर रहे हैं। प्रत्येक श्रृंखला नयी चुनौती होती है। हम प्रत्येक श्रृंखला को गंभीरता से लेते हैं। एक क्रिकेटर के रूप में आपको इस तरह की चुनौती का सामना करना पड़ता है।

प्रत्येक खिलाड़ी ऐसे प्रारूप में खेलना चाहता है जो प्रासंगिक हो। जिस भी श्रृंखला में आप खेलें उसका मतलब होना चाहिए।’ हेसन साथ ही कप्तान केन विलियमसन के साथ कामकाजी रिश्तों को लेकर भी खुश हैं जिनके बारे में उनका मानना है कि उन्होंने काफी अच्छे तरीके से करिश्माई ब्रैंडन मैकुलम की जगह ली है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App