ताज़ा खबर
 

सैफ कप में भारत के सामने मालदीव की चुनौती

ग्रुप चरण में दो आसान जीत के बावजूद भारत को गुरुवार को दक्षिण एशिया फुटबाल महासंघ (सैफ) कप फुटबाल टूर्नामेंट के पहले सेमीफाइनल में मालदीव के रू प में कड़ी चुनौती का सामना करना होगा.

Author तिरुअनंतपुरम | December 31, 2015 12:15 AM
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर किया गया है।

ग्रुप चरण में दो आसान जीत के बावजूद भारत को गुरुवार को दक्षिण एशिया फुटबाल महासंघ (सैफ) कप फुटबाल टूर्नामेंट के पहले सेमीफाइनल में मालदीव के रू प में कड़ी चुनौती का सामना करना होगा। ग्रुप ए में श्रीलंका और नेपाल को हराकर शीर्ष पर रहा भारत को अब तक पसीना नहीं बहाना पड़ा है लेकिन स्टीफन कोंसटेनटाइन की टीम मालदीव को हल्के में लेने की गलती नहीं कर सकती। मालदीव दक्षिण एशियाई की बेहतर टीमों में से एक है और उसने 2008 में यह टूर्नामेंट जीतने के अलावा 1997, 2003 और 2009 में टीम उप विजेता भी रही।

दूसरी तरफ फीफा रैंकिंग में भी मालदीव 160वें स्थान के साथ भारतसे बेहतर है। पिछली चैंपियन अफगानिस्तान 150वें स्थान के साथ टूर्नामेंट में हिस्सा ले रही सबसे बेहतर रैंकिंग वाली टीम है। मेजबान टीम को हालांकि मनोवैज्ञानिक फायदा है क्योंकि उसने इस टूर्नामेंट में अब तक खेले गए सभी नाकआउट मैचों में मालदीव को हराया है। इसके अलावा भारत मौजूदा टूर्नामेंट में अब तक अजेय है जबकि मालदीव को अफगानिस्तान के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी थी। छह बार के चैंपियन भारत का टूर्नामेंट में दबदबा देखने को मिला है और उसने अब तक छह गोल किए हैं और सिर्फ एक गोल खाया है।

भारतीय टीम सेमीफाइनल में स्ट्राइकर रोबिन सिंह के बिना उतरेगी जो चोट के कारण बाकी टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं लेकिन गुरुवार को देखना होगा कि टीम को उनकी कमी खलती है या नहीं। रविवार को नेपाल के खिलाफ 18 साल के चांग्ते लालियानजुआला ने रोबिन की भरपाई करते हुए दो गोल दागे थे। मिजोरम के लालियानजुआला इस दौरान अपने दूसरे ही अंतरराष्ट्रीय मैच में भारत की ओर से गोल करने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बने थे। अब यह देखना होगा कि कोंसटेनटाइन उन्हें शुरुआती एकादश में जगह देते हैं या नहीं।

कप्तान सुनील छेत्री भी अच्छी लय में हैं और एक गोल करने के अलावा उन्होंने कम से कम तीन गोल करने में मदद की है। इंडियन सुपर लीग में शानदार प्रदर्शन करने वाले जेजे लालपेखलुआ को भी शुरुआती एकादश में छेत्री के साथ जगह मिल सकती है। संदेश झिंगन और अनास एथाडोदिका के चोटिल होने के कारण भारत अपने दो सर्वश्रेष्ठ डिफेंडरों के बिना उतरेगा।

मालदीव के खिलाफ कल होने वाली सेमीफाइनल में चूक मेजबान भारत को भारी पड़ सकती है लेकिन मुख्य कोच स्टीफन कोंसटेनटाइन को भरोसा है कि उनके खिलाफ मैच के विजेता बनकर उभरेंगे। कोंसटेनटाइन ने कहा कि हमें मालदीव के खिलाफ कड़े मुकाबले की उम्मीद है क्योंकि उनकी टीम अच्छी है। उनकी टीम अच्छी तरह संयोजित है और साथ ही वे आक्रमण में भी मजबूत हैं।

टीम के बारे में कोंसटेनटाइन ने कहा कि टीम के सभी 19 खिलाड़ी शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। रोबिन सिंह की चोट से हालांकि हमारी तैयारी पर असर पड़ा है जो हमारे लिए बड़ा झटका है लेकिन हमें आगे बढ़ना होगा। लेकिन यह अन्य खिलाड़ियों को उसकी भरपाई करने का मौका देगा। ब्रिटेन के कोच कोंसटेनटाइन ने कहा कि सैफ कप युवाओं को अपने स्तर के विरोधियों के खिलाफ खेलने का मौका देता है जिससे उन्हें प्रतिस्पर्धी माहौल में आगे बढ़ने में मदद मिलती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App