ताज़ा खबर
 

India Vs England: सचिन तेंदुलकर के टेस्ट रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं जो रूट – बोले इंग्लैंड के दिग्गज क्रिकेटर

श्रीलंका के खिलाफ हाल में समाप्त हुई दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 30 वर्षीय रूट ने चार पारियों में 106.50 की औसत से 426 रन बनाए। उनका उच्चतम स्कोर 228 रन रहा। इंग्लैंड ने यह सीरीज 2-0 से जीती।

Edited By ROHIT RAJ नई दिल्ली | January 26, 2021 4:31 PM
रूट इंग्लैंड की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में चौथे स्थान पर पहुंच गए हैं। (सोर्स – ट्विटर)

इंग्लैंड की टीम टेस्ट और टी20 सीरीज के लिए भारत के दौरे पर है। 5 फरवरी से दोनों टीमों के बीच टेस्ट सीरीज खेली जानी है। उससे पहले बयानों का दौर शुरू हो गया है। अपने जमाने के मशहूर सलामी बल्लेबाज ज्योफ्री बॉयकॉट को लगता है कि इंग्लैंड के कप्तान जो रूट भारत के दिग्गज सचिन तेंदुलकर का टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रन के रिकार्ड को तोड़ने की क्षमता रखते हैं।

श्रीलंका के खिलाफ हाल में समाप्त हुई दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 30 वर्षीय रूट ने चार पारियों में 106.50 की औसत से 426 रन बनाए। उनका उच्चतम स्कोर 228 रन रहा। इंग्लैंड ने यह सीरीज 2-0 से जीती। रूट इंग्लैंड की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में चौथे स्थान पर पहुंच गए हैं। वह दो दोहरे शतक लगाने वाले पहले कप्तान हैं। बॉयकॉट ने ‘द टेलीग्राफ’ में अपने कॉलम में लिखा, ‘‘डेविड गॉवर, केविन पीटरसन और मुझसे अधिक रन बनाकर इंग्लैंड की तरफ से सर्वाधिक टेस्ट रन बनाने की बात भूल जाओ। जो रूट में 200 टेस्ट मैच खेलने और यहां तक कि सचिन तेंदुलकर से अधिक रन बनाने की क्षमता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘रूट अभी 30 साल के हैं और वह अभी तक 99 टेस्ट मैचों में 8249 रन बना चुके हैं। अगर वह गंभीर रूप से चोटिल नहीं होते हैं तो फिर ऐसा कोई कारण नहीं दिखता जिससे वह तेंदुलकर के 15921 रन के टेस्ट रिकार्ड को नहीं तोड़ सकते।’’ बॉयकॉट हालांकि नहीं चाहते कि रूट की तुलना बीते जमाने के दिग्गजों से की जाए। उन्होंने कहा कि उनका आकलन उनके समकालीनों के प्रदर्शन के अनुसार ही किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘उनके समकालीन जैसे कि विराट कोहली, स्टीव स्मिथ और केन विलियमसन बेहतरीन बल्लेबाज हैं जो अधिक से अधिक रन बना सकते हैं। हमें रूट की बल्लेबाजी का आनंद लेना चाहिए और पूर्व के दिग्गजों के साथ नहीं बल्कि इन खिलाड़ियों के साथ ही उनका आकलन करना चाहिए।’’

Next Stories
1 BBL 10: क्रिस लिन ने 24 गेंद पर ठोका अर्धशतक, मार्नस लाबुशेन ने बल्ले और गेंद से किया कमाल; ब्रिस्बेन हीट टॉप-4 में पहुंचा
2 Syed Mushtaq Ali Trophy: डिफेंडिंग चैंपियन कर्नाटक टूर्नामेंट से बाहर, पंजाब सेमीफाइनल में पहुंचा
3 ‘जब पहली बार लगा अब नहीं खेलूंगा, महेंद्र सिंह धोनी ने पूरी टीम को मुझसे किया था अलग’, सचिन तेंदुलकर ने सुनाई थी आखिरी टेस्ट की कहानी
ये पढ़ा क्या?
X