‘बहुत कन्फ्यूजन में खेल रहे हैं ऋषभ पंत,’ पाकिस्तानी दिग्गज ने भारतीय विकेटकीपर में गिनाईं ये खामियां

कुछ क्रिकेट विशेषज्ञों का कहना है कि भारत को छठवें नंबर पर एक स्पेशलिस्ट बल्लेबाज को उतारना चाहिए। लीड्स टेस्ट हारने के बाद विराट कोहली ने भी कहा था कि बल्लेबाजी में गहराई नहीं होने के कारण टीम इंडिया मुकाबले में पिछड़ी।

Rishabh Pant Salman Butt India vs England
भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर ऋषभ पंत इंग्लैंड टूर पर अपनी खराब फॉर्म के चलते फिर चर्चा में हैं। (सोर्स- ट्विटर/इंस्टाग्राम- ऋषभ पंत-सलमान बट)

भारत और इंग्लैंड के बीच मौजूदा टेस्ट सीरीज में ऋषभ पंत अपनी बल्लेबाजी से जूझते नजर आ रहे हैं। उनके खराब प्रदर्शन से टीम इंडिया को काफी नुकसान हुआ है। विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ पिछली 5 पारियों में सिर्फ 87 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका औसत 17.40 रहा है। उन्होंने एक भी अर्धशतक नहीं लगाया है। उनका इस सीरीज में अब तक सर्वोच्च स्कोर 37 रन है।

हेडिंग्ले टेस्ट मैच में उनकी खराब बल्लेबाजी टीम इंडिया की हार का एक बड़ा कारण बनी। पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर सलमान बट ने ऋषभ पंत की मौजूदा बल्लेबाजी तकनीक पर सवाल उठाया है। इसके साथ ही सलमान ने ऋषभ पंत को सीम कंडीशन में बैंटिंग करने का तरीका बताया है।

सलमान बट ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘ऋषभ पंत के पास इंग्लैंड के हालात में खेलने की सही तकनीक नहीं है। वह लगभग हर गेंद से क्रीज से बाहर निकलने की कोशिश करते रहते हैं। इस तरह की तकनीक से वह टेस्ट क्रिकेट में सफल बल्लेबाज नहीं बन पाएंगे।’

सलमान बट ने कहा, ‘ऋषभ पंत के पास वह तकनीक नहीं है, जिससे वह इंग्लिश कंडीशंस में कामयाब हो सकें। वह ऐसे ही गेंदबाजों को आगे बढ़कर नहीं खेल सकते। इस तरह वह सिर्फ कुछ ही देर तक टिक सकते हैं या हो सकता है इक्का-दुक्का कोई बड़ी पारी खेल लें, लेकिन इस तरह खेल कर ऋषभ पंत एक बड़े टेस्ट बल्लेबाज नहीं बन सकते। उन्हें अपनी डिफेंसिव टेक्नीक को सुधारना होगा और साथ ही थोड़ा धैर्य भी अपनाना होगा।’

सलमान बट ने कहा कि पंत उन्हीं मैदानों पर कामयाब हो सकते हैं, जहां गेंद स्विंग नहीं होती। सलमान बट का कहना है कि ऋषभ पंत को सबसे पहले थोड़ा सब्र से खेलना सीखना होगा।

सलमान बट ने कहा, ‘ऋषभ पंत के पास बहुत से शॉट्स हैं, लेकिन उनका डिफेंस मजबूत नहीं है, जबकि टेस्ट क्रिकेट में कामयाब होने के लिए यह बहुत जरूरी है, खासकर इंग्लैंड जैसी कंडीशंस में। हां, भारत में वह कामयाब हो सकते हैं। ऑस्ट्रेलिया में भी क्योंकि वहां गेंद ज्यादा स्विंग नहीं होती। लेकिन जिस मैदान पर भी गेंद लहराएगी और पिच पर पड़कर थोड़ा सा भी हरकत करेगी, वहां पंत को हमेशा दिक्कतें होंगी।’

उन्होंने कहा, ‘यह साफ है कि वह काफी कन्फ्यूजन के साथ खेल रहे हैं और आधे-अधूरे मन से शॉट लगा रहे हैं। जब गेंद एक एंगल पर जा रही होती है, तो वह अपने शरीर से दूर खेलने की कोशिश कर रहे होते हैं, जबकि वास्तव में उन्हें उसे जाने देना चाहिए था। संभव है कि वह स्लिप में आउट हो गए हों।’

कुछ क्रिकेट विशेषज्ञों का कहना है कि भारत को छठवें नंबर पर एक स्पेशलिस्ट बल्लेबाज को उतारना चाहिए। लीड्स टेस्ट हारने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने भी कहा था कि बल्लेबाजी में गहराई नहीं होने के कारण टीम इंडिया मुकाबले में पिछड़ी।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट