ताज़ा खबर
 

India vs England 4th Test: भारत के लिए राहत की खबर, इस घायल दिग्‍गज बॉलर ने नेट में की गेंदबाजी

तीसरे टेस्ट मैच के दौरान आर. अश्विन ग्रोइन इंजुरी के कारण चोटिल हो गए थे। जिसके बाद अश्विन ने तीसरे टेस्ट के दौरान ज्यादा गेंदबाजी नहीं की थी। जिसके बाद चौथे टेस्ट मैच अश्विन के खेलने को उहापोह की स्थिति थी।

भारत और इंग्लैंड की टीमों के बीच चौथा टेस्ट मैच गुरुवार से साउथएम्पटन में शुरु होने वाला है। चौथे टेस्ट से पहले भारतीय टीम के लिए एक राहत की खबर आयी है। दरअसल दिग्गज स्पिनर आर. अश्विन ने बुधवार को प्रैक्टिस सेशन के दौरान नेट पर गेंदबाजी की। इंग्लैंड के खिलाफ अहम टेस्ट मैच से पहले आर. अश्विन के फिट होने के संकेत मिलना काफी बड़ी बात है। बता दें कि तीसरे टेस्ट मैच के दौरान आर. अश्विन ग्रोइन इंजुरी के कारण चोटिल हो गए थे। जिसके बाद अश्विन ने तीसरे टेस्ट के दौरान ज्यादा गेंदबाजी नहीं की थी। जिसके बाद चौथे टेस्ट मैच अश्विन के खेलने को उहापोह की स्थिति थी।

टेंट ब्रिज में आर. अश्विन के ग्रोइन इंजुरी से चोटिल होने के बाद चौथे टेस्ट मैच में रविंद्र जडेजा, जिन्होंने इस सीरीज में एक भी मैच नहीं खेला है, के खेलने की उम्मीद जतायी जा रही थी। आज तक की रिपोर्ट की मानें तो अश्विन अपनी चोट से ऊबर गए हैं और नेट पर गेंदबाजी कर रहे हैं। हालांकि अभी तक बीसीसीआई की तरफ से इस तरह की कोई पुष्टि नहीं की गई है। चौथा टेस्ट जीतकर सीरीज बराबरी करने की कोशिशों में जुटी विराट कोहली एंड कंपनी ने आर. अश्विन के फिट होने से यकीनन राहत की सांस ली होगी।

इंग्लैंड दौरे के पहले टेस्ट मैच में अश्विन ने शानदार गेंदबाजी करते हुए पहली पारी में जहां 62 रन देकर 4 विकेट झटके थे। वहीं दूसरी पारी में अश्विन ने 3 विकेट झटके। हालांकि दूसरे टेस्ट मैच में अश्विन को कोई विकेट नहीं मिला और तीसरे टेस्ट में भी अश्विन ने ज्यादा गेंदबाजी नहीं की और उन्हें कोई विकेट भी नहीं मिल पाया। अन्य बदलाव की बात करें तो देखना दिलचस्प रहेगा कि क्या भारतीय टीम प्रबंधन खराब फॉर्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज शिखर धवन या लोकेश राहुल की जगह युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ को मौका देगा या नहीं। हालांकि पिछले टेस्ट मैच में जिस तरह से सलामी जोड़ी ने इंग्लिश गेंदबाजों का सामना करने का जो माद्दा दिखाया उसके बाद माना जा रहा है कि टीम प्रबंधन शिखर धवन और लोकेश राहुल को अभी और मौका दे सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App