ताज़ा खबर
 

Ind vs Aus: ऋद्धिमान साहा के कारण कट सकता है शतकवीर ऋषभ पंत का पत्ता, चर्चा का विषय बनी डे-नाइट टेस्ट की प्लेइंग इलेवन

साहा ने पहले अभ्यास मैच में 54 रन बना भारत को ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ हार से बचाया था। उन्होंने तब दिग्गज गेंदबाजों का सामना किया था। वहीं, पंत ने जब दूसरे अभ्यास मैच में शतक जमाया, तब उन्हें निक मैडिनसन जैसे कामचलाऊ गेंदबाजों का सामना करना पड़ा था।

Author नई दिल्ली | Updated: December 14, 2020 5:22 PM
Wriddhiman Saha vs Rishabh Pantखबरों की मानें तो 17 दिसंबर से एडिलेड में होने वाले डे-नाइट टेस्ट मैच में टीम इंडिया ऋद्धिमान साहा को ऋषभ पंत पर तरजीह दे सकता है।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डे-नाइट अभ्यास मैच में शतक लगाने वाले ऋषभ पंत के 17 दिसंबर से शुरू होने वाले पिंक बॉल टेस्ट में भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन में शामिल किए जाने की संभावना कम दिख रही है। एडिलेड में होने वाले पिंक-बॉल टेस्ट मैच में ऋद्धिमान साहा के विकेटकीपिंग में बेहतर प्रदर्शन को ऋषभ पंत की आक्रामक बल्लेबाजी पर प्राथमिकता मिल सकती है। पहले टेस्ट मैच के लिए संभावित भारतीय एकादश चर्चा का विषय बनी हुई है।

हालांकि, अभी यह तय नहीं है कि 36 वर्षीय साहा के रूप में बेहतर विकेटकीपर या 23 साल के पंत के रूप में बेहतर बल्लेबाज में से किसे टीम में जगह देनी है। भारतीय टीम प्रबंधन ने अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं। इस संबंध में जब हनुमा विहारी से पूछा गया तो उन्होंने भी कहा था कि ‘स्वस्थ प्रतिस्पर्धा’ टीम के लिए अच्छी है। माना जा रहा है कि साहा की बेहतर विकेटकीपिंग और रक्षात्मक बल्लेबाजी को प्राथमिकता दी जा सकती है। कोच रवि शास्त्री, कप्तान विराट कोहली, सहायक कोच विक्रम राठौड़, भरत अरुण और चयनकर्ता हरविंदर सिंह मैच की परिस्थितियों के आधार पर इन दोनों के प्रदर्शन का आकलन करेंगे।

साहा ने पहले अभ्यास मैच में 54 रन की महत्वपूर्ण पारी खेलकर भारत को ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ हार से बचाया था। उन्होंने तब जेम्स पैटिनसन, माइकल नेसेर और कैमरन ग्रीन जैसे गेंदबाजों का सामना किया था। इसके विपरीत पंत ने जब दूसरे अभ्यास मैच में शतक जमाया, तब भारतीय टीम बेहतर स्थिति में थे। उन्हें लेग स्पिनर मिशेल स्वीपसन और कामचलाऊ गेंदबाज निक मैडिनसन का सामना करना पड़ा था।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान एलन बॉर्डर ने आस्ट्रेलिया ए के इस गेंदबाजी प्रदर्शन को शर्मनाक करार दिया था। साहा ने 37 टेस्ट मैचों में 1238 रन बनाये हैं जिसमें तीन शतक शामिल हैं। उन्होंने 92 कैच और 11 स्टंप आउट किए हैं। वह अगर पहले टेस्ट मैच में जगह बना लेते हैं तो भी पंत की संभावना पूरी तरह से समाप्त नहीं हो जाती। वहीं साहा पर भी दबाव होगा। उन्हें टीम में बने रहने के लिए विकेट के पीछे ही नहीं विकेट के आगे भी अच्छा प्रदर्शन करना होगा।

Next Stories
1 पूर्व भारतीय ओपनर ने रोहित, विराट, बुमराह को दशक की अपनी टी20 टीम में चुना, पर कोहली को नहीं बनाया कप्तान
2 विराट कोहली की गैरमौजूदगी में क्या होगा अजिंक्य रहाणे का ‘गेम प्लान,’ सुनील गावस्कर ने किया ‘खुलासा’
3 कपिल शर्मा का शो देखने के चक्कर में 1 घंटे में 3 लाख रुपए आया था विराट कोहली के फोन का बिल, भाई से चला था पता
आज का राशिफल
X