ताज़ा खबर
 

Ind vs Aus 3rd Test: सीरीज हारने के कगार पर खड़े टिम पेन ने पिच पर फोड़ा ठीकरा, बोले- हमें कमजोर कर दिया

India vs Australia, Ind vs Aus 3rd Test: सिडनी में तीन जनवरी से शुरू हो रहे चौथे और अंतिम टेस्ट की पिच से स्पिनरों को मदद मिल सकती है और ऐसे में ऑस्ट्रेलिया ने लेग स्पिन आलराउंडर मार्नस लाबुशेन को टीम में शामिल किया है।

जीत के बाद दर्शकों का अभिवान स्वीकार करते भारतीय खिलाड़ी। (Photo Courtesy: ICC)

मेलबर्न टेस्ट हारने के बाद ऑस्ट्रेलिया कप्तान ने इसका ठीकरा पिच पर फोड़ा है। उनका मानना है कि मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की पिच ने भारतीय टीम को एडवांटेज दिया है। पेन ने कहा, “भारत ने पिच पर अपनी पहली पारी में लगभग 170 ओवरों तक बल्लेबाजी की, जो पहले दो दिनों के दौरान लगभग बेजान रही। भारत ने अपने स्पिनरों के लिए काफी अनुकूल पिचों को तैयार करने की आदत बना ली है, हालांकि यह पिछले साल उल्टा पड़ गया था, जब ऑस्ट्रेलिया ने पुणे में धूल भरी सतह पर आश्चर्यजनक रूप से टेस्ट में जीत दर्ज की।”

हालांकि सिडनी में तीन जनवरी से शुरू हो रहे चौथे और अंतिम टेस्ट की पिच से स्पिनरों को मदद मिल सकती है और ऐसे में ऑस्ट्रेलिया ने लेग स्पिन आलराउंडर मार्नस लाबुशेन को टीम में शामिल किया है। पेन ने कहा, ‘‘मार्नस को टीम में शामिल किया गया है, वह हमारे साथ सिडनी जाएगा जिसके बाद हम हालात को देखेंगे। सुनने में आ रहा है कि वहां की पिच काफी स्पिन करेगी, इसलिए एक बार स्वयं देखने के बाद हम उस टेस्ट के लिए सर्वश्रेष्ठ संयोजन पर विचार कर सकते हैं।’’

ind vs aus, ind vs aus score, ind vs aus 3rd Test score, india vs australia, ind vs aus score online, ind vs aus Test, ind vs aus Test score, india vs australia Test score, india vs australia Test cricket score, Most runs in a calendar year in overseas Tests, Most Test runs against an opponent for Virat Kohli अर्धशतकीय पारी के दौरान विराट कोहली। (Photo Courtesy: ICC)

इसके साथ ही पेन ने कहा कि प्रतिबंध के कारण स्मिथ और वार्नर तथा कैमरन बेनक्राफ्ट की गैरमौजूदगी से टीम में अनुभवहीनता के कारण ऐसा है। इन तीनों को इस साल दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में भूमिका के कारण निलंबित किया गया है। बेनक्राफ्ट का प्रतिबंध शनिवार को खत्म हो गया जबकि स्मिथ और वार्नर का प्रतिबंध मार्च अंत तक जारी रहेगा।

पेन ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘यह अनुभवहीनता है। यह दबाव है। भारत का गेंदबाजी आक्रमण संभवत: इतना अच्छा है जितने अच्छे गेंदबाजों का सामना हमारे बल्लेबाजों ने अपने करियर में किया है। यह स्पष्ट है कि अगर आप दुनिया के किसी भी बल्लेबाजी क्रम से शीर्ष दो या तीन खिलाड़ियों को हटा दो तो आपको परेशानी का सामना करना होगा और आपके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी रहेगी। हम भी ऐसा ही देख रहे हैं। पर्थ में बेहद मुश्किल विकेट पर हमारे शीर्ष छह बल्लेबाज डटकर खेले और काफी अच्छा प्रदर्शन किया। इसमें कोई संदेह नहीं कि इस मैच में हमने थोड़ा निराश किया। ऐसा होता है। हमें सुनिश्चित करना होगा कि हमारे अंदर सुधार हो तथा हमारे अच्छे और बुरे प्रदर्शन में अधिक अंतर नहीं हो, पिछले दो टेस्ट में जैसा हुआ वैसा नहीं हो। लेकिन मुझे लगता है कि जब विश्व स्तरीय गेंदबाजी के खिलाफ आपके शीर्ष छह में अनुभवहीन खिलाड़ी होते हैं तो ऐसा सामान्य है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App