ताज़ा खबर
 

IND Vs AUS: राहुल द्रविड़ ने बांधे इस खिलाड़ी की तारीफों के पुल, बोले-बदल लिया है करियर का गियर

भारत 5 मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त ले चुका है।

भारतीय क्रिकेट टीम।

पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ को लगता है कि युवा अॉल राउंडर हार्दिक पंड्या ने अॉस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा सीरीज में परिस्थितियों की मांग के अनुसार खेलकर अपने करियर का रुख बदल दिया है। द्रविड़ पिछले साल भारत ए के अॉस्ट्रेलिया दौरे पर पंड्या के कोच थे, उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत ए के मौजूदा खिलाड़ी भी पंड्या के बल्लेबाजी के प्रति रवैये का अनुकरण कर सकते हैं। उन्होंने विजयवाड़ा में न्यू जीलैंड ए के खिलाफ भारत ए के अनौपचारिक टेस्ट के दौरान कहा, ‘‘हार्दिक किसी भी परिस्थिति में खेलने को तैयार रहता है और वह ऐसा नैर्सिगक खेल नहीं खेलता है, जिसके बारे में हम अकसर बात करते हैं। श्रेय पूरी तरह से उसे दिया जाना चाहिए। ’’ द्रविड़ ने ईएसपीएनक्रिकइंफो डॉट कॉम से कहा, ‘‘वह ऐसा खिलाड़ी है जिसने अपने करियर का रुख बदल दिया है। ’’ पंड्या छक्के जड़ने की अपनी काबिलियत से सभी के आकर्षण का केंद्र बन गए हैं और उन्होंने अॉस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा पांच वनडे मैचों की सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने अभी तक तीन मुकाबलों में मैच जिताने वाले दो अर्धशतक जड़े हैं। पहले वनडे में उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के साथ मिलकर 83 रन की मैच विजयी पारी खेली जबकि तीसरे वनडे में जब उन्हें चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया तो उन्होंने 78 रन की पारी खेली थी।

द्रविड़ ने कहा, ‘‘अगर वह चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करता है तो वह एक विशेष तरह से बल्लेबाजी करता है। अगर वह छठे नंबर पर खेलता है तो वह दूसरे तरीके से खेलता है। अगर वह चार विकेट पर 80 रन के स्कोर पर बल्लेबाजी के लिए उतरता है तो वह शायद ऐसा ही करेगा जैसा उसने पहले वनडे में धोनी के साथ किया था। इससे परिपक्वता दिखती है और आप यही देखना चाहते हो। ’’

द्रविड़ पिछले दो वर्षों से भारत की अंडर-19 और ए टीमों को कोचिंग दे रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं अकसर नैर्सिगक खेल की बात सुनता हूं, लेकिन इससे मुझे निराशा होती है क्योंकि मेरा मानना है कि नैर्सिगक खेल जैसी कोई चीज नहीं होती। यह सिर्फ परिस्थितियों के अनुसार खेलना होता है। ’’ उन्हें लगता है कि पंड्या बहुत बढ़िया उदाहरण है कि विभिन्न हालात में कैसे अलग अलग तरह से बल्लेबाजी करनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘आपको अलग परिस्थितियों में अलग तरह से बल्लेबाजी करना सीखना चाहिए और अगर आप ऐसा कर सकते हो जैसा हार्दिक इस समय प्रदर्शन कर रहा है तो यह क्रिकेटर के विकास का संकेत है। ’’

Next Stories
1 शाहरुख खान और नीता अंबानी संग आई मिताली राज, सोशल मीडिया पर फिर ट्रेंड हुई महिला कैप्टन
2 भारत-अॉस्ट्रेलिया ODI सीरीज में टूटने की कगार पर हैं ये रिकॉर्ड्स
3 IND vs AUS: चौथे मैच पर संकट, रद्द हो सकता है बेंगलुरू वनडे
आज का राशिफल
X