ताज़ा खबर
 

Ind vs Aus: पुरुषों के टेस्ट मैच में महिला ने रचा इतिहास, क्लेयर पोलोसाक 2019 में भी हासिल कर चुकी हैं खास उपलब्धि

तीसरा टेस्ट मैच कई मायनों में खास है। मैदान से खिलाड़ियों, स्टम्प से दर्शक स्टैंड तक सब कुछ पिंक-पिंक है। इन सबसे से इतर यह मैच क्लेयर पोलोसाक के लिए भी याद रखा जाएगा।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: January 7, 2021 2:48 PM
Claire Polosak India vs Australia Female Umpireसिडनी में 7 जनवरी 2021 से शुरू हुआ भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट मैच क्लेयर पोलोसेक के लिए भी याद रखा जाएगा। (सोर्स- सोशल मीडिया/आईसीसी ट्विटर)

टेस्ट क्रिकेट के 144 साल के इतिहास में पहली बार एक महिला पुरुषों के मैच में अंपायर की भूमिका में नजर आईं। ऑस्ट्रेलिया की क्लेयर पोलोसाक पुरुषों के टेस्ट क्रिकेट में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला बन गईं हैं। 32 साल की क्लेयर गुरुवार यानी 7 जनवरी 2021 को शुरू हुए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरे टेस्ट मैच में चौथे अंपायर की भूमिका में हैं। टॉस के दौरान वह दोनों कप्तानों और मैच रेफरी के साथ दिखाईं दीं।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए), इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने भी उन्हें बधाई दी है। पोलोसक इससे पहले पुरुष एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला अंपायर बनने की उपलब्धि भी अपने नाम कर चुकी हैं। उन्होंने अप्रैल 2019 में वर्ल्ड किकेट लीग डिवीजन 2 के फाइनल मैच में भी आफिशियल की भूमिका निभाई थी। वह मुकाबला नामीबिया और ओमान के बीच खेला गया था। दिसंबर 2018 में वह और इलोसे शेरीडन ऑस्ट्रेलिया में होने वाले किसी प्रोफेशनल मैच में मैदान पर उतरने वाली पहली महिलाएं बनी थीं। दोनों ने वुमन्स बिग बैश लीग में मेलबर्न स्टार्स और एडिलेड स्ट्राइकर्स के बीच खेले गए मैच में मैदानी अंपायर की भूमिका निभाई थी।

क्लेयर पोलोसाक ऑस्ट्रेलियाई पुरुषों के डोमेस्टिक मुकाबलों में अंपायरिंग करने वाली भी पहली महिला हैं। उन्होंने 2017 में जेएलटी कप के दौरान यह उपलब्धि हासिल की थी। क्लेयर पोलोसाक साल 2016 में, न्यूजीलैंड की कैथी क्रॉस के साथ टी20 विश्व कप में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला अंपायर बनीं थीं। साल 2016 में महिला टी20 विश्व कप भारत में ही खेला गया था। पोलोसाक न्यू साउथ वेल्स में रहती हैं। वह पिछले साल फरवरी-मार्च में ऑस्ट्रेलिया में हुए महिला टी20 विश्व कप के अंपायरिंग पैनल का भी हिस्सा थीं।

इस मैच में दो पूर्व तेज गेंदबाज पॉल रिफेल और पॉल विल्सन मैदानी अंपायर की भूमिका निभा रहे हैं। ब्रूस ऑक्सेनफोर्ड तीसरे (टेलीविजन) अंपायर हैं। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ओपनर डेविड बून मैच रेफरी हैं। आईसीसी के नियमों के मुताबिक, टेस्ट मैच में मेजबान क्रिकेट बोर्ड चौथे अंपायर को अपने आईसीसी अंपायरों के अंतरराष्ट्रीय पैनल में से नियुक्त कर सकता है।

बता दें कि सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला गया यह मैच कई मायनों में खास है। मैदान से खिलाड़ियों, स्टम्प से दर्शक स्टैंड तक सब कुछ पिंक-पिंक है। मैच के दौरान लोग स्तन कैंसर जागरुकता अभियान में अपना समर्थन जताने के लिए पिंक रंग के कपड़े पहने हुए दिखे। कहना गलत नहीं होगा कि इन सबसे से इतर यह मैच क्लेयर पोलोसाक के लिए भी याद रखा जाएगा।

Next Stories
1 जीवा ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ शेयर की शूटिंग की तस्वीर, 5 साल की उम्र में पिता के साथ किया था पहला विज्ञापन
2 ‘मैं पूरी तरह से ठीक हूं,’ छठवें दिन बाद अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद बोले सौरव गांगुली
3 ‘मेरी बैटिंग सुधारने चले थे ग्रेग चैपल, हो गई थी भिड़ंत, राहुल द्रविड़ ने किया था बीच-बचाव,’ वीरेंद्र सहवाग ने इंटरव्यू में सुनाया था किस्सा
ये पढ़ा क्या?
X