‘भारत ने टेस्ट क्रिकेट और सीरीज की इज्जत नहीं की,’ अंग्रेज दिग्गज ने टीम इंडिया पर कोविड-19 गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाने के आरोप लगाए

पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर ने कहा कि भारतीय क्रिकेटर्स मैदान पर नहीं उतरना चाहते थे, क्योंकि वे दुबई में 19 सितंबर को आईपीएल 2021 के दूसरे चरण हिस्सा बनने से चूकने का जोखिम नहीं उठाना चाहते थे।

Team India ICC World Test Championship Points Table India vs England
पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर ने मैनचेस्टर रद्द होने के लिए टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री के पुस्तक विमोचन कार्यक्रम को भी जिम्मेदार ठहराया। (सोर्स- ट्विटर/बीसीसीआई)

इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी पॉल न्यूमैन ने टीम इंडिया पर टेस्ट क्रिकेट की इज्जत नहीं करने का आरोप लगाया है। उन्होंने यह भी दावा किया कि भारतीय दल ने कोविड-19 को लेकर जारी गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाईं। मैनचेस्टर में इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट के रद्द होने की भड़ास उन्होंने भारतीय क्रिकेटर्स, इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) पर निकाली।

सीरीज के आखिरी और निर्णायक टेस्ट की पूर्व संध्या पर भारतीय क्रिकेट टीम के सहायक फिजियो योगेश परमार कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद भारतीय ड्रेसिंग रूम में चिंता की लहर दौड़ गई। भारतीय खेमे में कोविड-19 संक्रमण फैलने की आशंका थी। अंततः मैनचेस्टर टेस्ट रद्द ह गया। हालांकि, न्यूमैन ने कहा कि भारतीय क्रिकेटर्स मैदान पर नहीं उतरना चाहते थे, क्योंकि वे दुबई में 19 सितंबर से आईपीएल 2021 के दूसरे चरण को मिस करने का जोखिम नहीं उठाना चाहते थे।

उन्होंने कहा, ‘यदि भारत के अधिकांश खिलाड़ी क्रिकेट के सबसे धनी टूर्नामेंट का हिस्सा बनने के लिए अगले बुधवार दुबई नहीं जा रहे होते, तो ऐसी कोई बात नहीं होती जिससे इस सीरीज के निर्णायक टेस्ट को पहले दिन की सुबह ही रद्द कर दिया जाता।’ पॉल न्यूमैन ने 135 प्रथम श्रेणी मैच और 177 लिस्ट ए मैच खेले हैं।

उन्होंने डेली मेल के लिए अपने कॉलम में लिखा, ‘आईपीएल अनुबंध वाला कोई भी भारतीय खिलाड़ी इस टेस्ट में खेलने का जोखिम नहीं उठाना चाहता था। दरअसल, उसे डर था कि कोविड-19 पॉजिटिव आने के बाद 10 दिन तक इंग्लैंड में रहने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। इस कारण वह 19 सितंबर से यूएई में टूर्नामेंट के दूसरे चरण में हिस्सा लेने से चूक जाएगा।’

उन्होंने लिखा, ‘योगेश परमार का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आना वह वजह थी, जिस कारण भारतीय खिलाड़ियों को बोरिया-बिस्तर बांधने और इंग्लैंड से जल्द से जल्द बाहर निकलने की जरूरत महसूस हुई। भले ही वे गुरुवार शाम उन सभी के कोविड-19 टेस्ट निगेटिव आए रहे हों।’ न्यूमैन ने लिखा, ‘एक बार जब उनके टेस्ट निगेटिव आ गए थे तब फिर नहीं खेलने का कोई कारण नहीं होना चाहिए था।’

उन्होंने कहा, ‘भारत ने मैनचेस्टर टेस्ट से हटकर इस सीरीज का सम्मन नहीं किया। उन्होंने चौथे टेस्ट से पहले कोविड के दिशानिर्देशों की धज्जियां उड़ाते हुए टेस्ट क्रिकेट का भी सम्मान नहीं किया।’ पूर्व सीमर ने मैनचेस्टर रद्द होने के लिए लंदन में चौथे टेस्ट से पहले भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री के पुस्तक विमोचन कार्यक्रम को भी जिम्मेदार ठहराया।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट